BREAKING NEWS

नितिन गडकरी बोले- सिर्फ आरक्षण से किसी समुदाय का विकास सुनिश्चित नहीं हो सकता ◾TOP 20 NEWS 16 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर बोले- जल्द ही पूरी दुनिया में उपलब्ध होगा दूरदर्शन इंडिया◾योगी सरकार को इलाहाबाद HC से झटका, 17 OBC जातियों को SC में शामिल करने पर रोक◾शरद पवार का ऐलान- महाराष्ट्र में 125-125 सीटों पर चुनाव लड़ेंगी NCP और कांग्रेस◾हिंदी को लेकर अमित शाह के बयान पर बोले कमल हासन - कोई 'शाह' नहीं तोड़ सकता, 1950 का वादा◾CJI रंजन गोगोई बोले-जरूरत हुई तो मैं खुद जाऊंगा जम्मू-कश्मीर हाई कोर्ट◾गंगवार के बयान पर प्रियंका का वार, कहा-मंत्री जी, 5 साल में कितने उत्तर भारतीयों को दी हैं नौकरियां◾SC ने गुलाम नबी आजाद को कश्मीर जाने की दी अनुमति, कोई राजनीतिक रैली न करने का दिया आदेश◾हिंद महासागर में दिखा चीनी युद्धपोत जियान-32, अलर्ट पर भारतीय नौसेना◾कश्मीर में स्थिति सामान्य करने के लिए हरसंभव प्रयास करें केंद्र : सुप्रीम कोर्ट◾SC ने फारूक अब्दुल्ला को पेश करने संबंधी याचिका पर केंद्र को जारी किया नोटिस ◾जन्मदिन पर चिदंबरम को बेटे कार्ति का पत्र, लिखा-कोई 56 इंच वाला आपको रोक नहीं सकता◾Howdy Modi कार्यक्रम में शामिल होने के ट्रंप के फैसले की PM ने की प्रशंसा, ट्वीट कर कही यह बात◾अयोध्या विवाद में सुन्नी वक्फ बोर्ड और निर्वाणी अखाड़े ने सुप्रीम कोर्ट के मध्यस्थता पैनल को लिखा पत्र◾पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम तिहाड़ जेल में मनाएंगे अपना 74वां जन्मदिन◾‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम में शामिल होंगे ट्रम्प, भारतीय-अमेरिकी लोगों को एक साथ करेंगे संबोधित◾पुंछ: पाकिस्तान ने फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन, तीन जवान घायल◾अखिलेश यादव बोले- तानाशाही से सरकार चलाकर अपना लोकतंत्र चला रही है भाजपा◾शरद पवार ने NCP छोड़ने वाले नेताओं को बताया ‘कायर’◾

दिलचस्प खबरें

निर्जला एकादशी के दिन व्रत के साथ भगवान विष्णु के इस मंत्र का जप करने से होंगी सभी मुरादें पूरी

पूरे साल में कुल 24 बार एकादशी तिथि आती है। एकादशी का व्रत करने से भगवान नारायण का विशेष आशीर्वाद प्राप्त होता है। लेकिन इन सारी एकादशियों में से ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी यानि जिसे निर्जला-एकादशी कहा जाता है इसको सबसे ज्यादा जरूरी एकादशी माना गया है। निर्जला एकादशी के दिन 24 घंटे बिना खाए-पीए निर्जला व्रत रखा जाता है। बता दें कि इस साल निर्जला एकादशी का व्रत 13 जून के दिन यानि गुरुवार को है। 

इस विशेष दिन पर भगवान नारायण की पूजा-अर्चना

निर्जला एकादशी व्रत के कठोर नियमों की वजह से यह व्रत सभी एकादशी व्रतों में सबसे ज्यादा मुश्किल व्रत माना जाता है। जिसे निर्जला एकादशी व्रत कहते हैं। क्योंकि इस व्रत में भोजन ही नहीं बल्कि आप एक बूंद पानी की भी नहीं पी सकते हैं। जो लोग इस व्रत को सच्चे मन से करते हैं और अपनी मनोकामनाओं को पूरा करने के लिए भगवान नारायण के विशेष मंत्रों का जप, श्री विष्णुसहस्त्रनाम का पाठ, श्री सत्यनारायण कथा एवं एकदशी कथा का पाठ करते हैं।

इस मंत्र का करें जप

इस व्रत को विष्णु भगवान का सबसे प्रिय वृत बताया गया है, निर्जला एकादशी को पूरे दिन- ॐ नमो भगवते वासुदेवाय इस मंत्र कम से कम 1100 बार का जप करना चाहिए।

निर्जला एकादशी व्रत के लाभ

जो भी भक्त पूरे साल में पडऩे वाली पूरी 24 एकादशियों के व्रत नहीं रख पाते हैं यदि वो सिर्फ एक निर्जला एकादशी का व्रत ही कर लें तो उन्हें दूसरी सभी एकादशियों का लाभ मिल जाता है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन उपवास करने से कई जन्मों के पापों का नाश भी हो जाता है। 

निर्जला एकादर्शी उपवास के कुछ नियम

-निर्जला एकादशी व्रत की शुरूआत दिन सूर्योदय से करीब 2 घंटे पहले हो जाता है। इसलिए इस दिन सूर्योदय से पहले ही सुबह के समय उठकर स्नान आदि करने के बाद संकल्प लेकर व्रत शुरू कर देना चाहिए। 

-इस दिन खासतौर पर भगवान विष्णु की आराधना करनी चाहिए। 

-निर्जला एकादशी के दिन आलस,ईष्र्या,झूठ और बुराई जैसे पाप करने से हमेशा बचना चाहिए।

-इस दिन किसी को भी ठेस नहीं पहुंचनी चाहिए।

-इस दिन माता-पिता और गुरू के चरण छूकर उनका आर्शीवाद लेना चाहिए।

-इस दिन श्री विष्णुसहस्त्रनाम का पाठ जरूर करना चाहिए। 

-ये व्रत पूरे दिन भूखे-प्यासे रहकर करना चाहिए।