BREAKING NEWS

महाराष्ट्र कैबिनेट में कांग्रेस के पूर्व नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल ने राजयमंत्री के तौर पर ली शपथ◾अयोध्या पहुंचे उद्धव ठाकरे ने पार्टी सांसदों के साथ किए रामलला के दर्शन◾बिहार में लू लगने से 12 लोगों की मौत, स्वास्थ्य मंत्री ने दी घर से बाहर न निकलने की सलाह ◾दिल्ली में मौसम ने ली करवट, हल्की बारिश की संभावना◾मुजफ्फरपुर में चमकी बुखार से 83 बच्चों की मौत, CM नीतीश ने किया मुआवजे का ऐलान ◾अमरिंदर सिंह ने जल वितरण व्यवस्था में सुधार के लिए PM मोदी का मांगा सहयोग ◾अयोध्या पहुंचे शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, 18 सांसदों के साथ करेंगे रामलला के दर्शन◾आज फिर घटे डीजल और पेट्रोल के दाम, जाने अपने राज्य का भाव !◾ICC World Cup 2019 : भारत-पाक मैच को लेकर सट्टा बाजार 100 करोड़ के पार ◾नीति आयोग की बैठक में केजरीवाल ने उठाया दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा देने का मुद्दा ◾ममता की अपील के बावजूद डॉक्टरों की हड़ताल जारी◾अखाड़ा परिषद ने अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाने की फिर से की मांग◾राज्यसभा की 6 सीटों के लिये 5 जुलाई को होगा उपचुनाव ◾Modi सरकार कृषि क्षेत्र में ढांचागत सुधार के लिए गठित करेगी उच्च स्तरीय कार्यबल◾सिख श्रद्धालुओं का पाक दौरा : रेलवे ने कहा, अटारी में पाकिस्तानी ट्रेन के लिये इजाजत नहीं ◾ममता ने फिर की बंगाल के डॉक्टरों से हड़ताल समाप्त करने की अपील ◾भाजपा ने अखिलेश पर साधा निशाना, कहा- योगी से शासन की सीख लें◾TOP 20 News -15 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें ◾एक्यूट इंसेफलाइटिस सिंड्रोम से अब तक 83 बच्चें की मौत ◾ममता, चंद्रशेखर राव और अमरिंदर सिंह नहीं लेंगे नीति आयोग की बैठक में हिस्सा ◾

दिलचस्प खबरें

हिन्दुस्तान के इस अनोखे मंदिर में नहीं की जाती भगवान की पूजा

अपने शायद ही कभी सुना हो कि देश में कोई ऐसा मंदिर हो जहां भगवान की पूजा नहीं होती हो। क्योंकि हर एक मंदिर में भगवान की पूजा जरूर की जाती है। लेकिन आज हम आपको बताने वाले हैं एक ऐसे मंदिर के बारे में जिस जगह भगवान की पूजा नहीं होती है यहां पर केवल दर्शन करने दिए जाते हैं।

आप ये बात जानकर चौंक जाएंगे कि उड़ीसा के पुरी में स्थित भगवान जगन्नाथ की पूजा नहीं करी जाती है। यहां पर भक्त केवल उनके दर्शन करने के लिए आते हैं।

कुछ पौराणिक कथाओं के मुताबिक भगवान विष्णु जब चारों धाम की यात्रा के लिए गए थे,तब उन्होंने हिमालय की ऊंची चोटियों पर बने अपने बद्रीनाथ धाम के स्नान किया था।

इसके बाद वहां से वे द्वारका में वस्त्र धारण किए थे। बताया जाता है कि वे पुरी में रहने लगे थे। माना जाता है कि यहां वे जग के नाथ भी बन गए थे। यही वजह है कि आज भी उन्हें जगन्नाथ के रूप में माना जाता है। बता दें कि चार धामों में से एक है जगन्नाथ धाम। इस जगह पर जगन्नाथ के साथ-साथ बलभद्र और सुभद्रा की मूर्तियां काष्ठ की हैं।

इस जगह के लिए ऐसा कहा जाता है कि मूर्ति को 12 साल में सिर्फ एक बार नया कलेवर दिया जाता है और इन मूर्तियों का निर्माण कराया जाता है। बताया जाता है कि इन प्रतिमा का आकार और रूप वैसा ही रहता है। क्योंकि इन मूर्तियों की पूजा नहीं होती है। केवल उन्हें दर्शन करने के लिए ही रखा गया है।

इस साल बाबा बर्फानी 22 फुट के बने,आई पहली तस्वीर सामने