यूजर जब नया फोन खरीदते हैं तो उसकी स्पीड काफी तेज होती है। हालांकि कुछ महीने बाद वह हैंग होने लगता है। स्मार्टफोन हैंग होने की कई वजहें होती हैं। जैसे फोन में कैशे आइटम बनना। एप का बैकग्राउंड में चलना आदि।

यूजर अपने फोन की सेटिंग में बदलाव कर फोन की परफोरमेंस काफी सुधार सकते हैं। ऐसे ही कुछ टिप्स आज हम आपको बताने जा रहे हैं जिसके बाद आपका फोन आपके नए फोन की तरह चलने लगेगा। कई एप ऐसे होते हैं जो बंद करने के बाद भी बैकग्राउंड में रैम का इस्तेमाल करते हैं। इससे फोन हैंग हो जाता है।

इससे बचने के लिए फोन सेटिंग में जाएं। यहां एप्स के विकल्प पर क्लिक करें। यहां फोन की मेमोरी, एसडी कार्ड में सेव एप अलग-अलग दिखाई देंगे। स्क्रीन को स्वाइप करने पर बैकग्राउंड में चलने वाले एप की जानकारी मिलेगी। फिर गैर जरूरी या ऐसे एप पर टैप करें जिनका इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं लेकिन वे रैम की खपत कर रहे हैं।

इन एप पर टैप करने के बाद फोर्स स्टॉप के विकल्प पर क्लिक कर दें। एप्लीकेशन जितनी इस्तेमाल होती हैं उसके उतने ही कैशे बनते हैं। इन कैशे से स्मार्टफोन में इंटरनेट स्पीड और फोन का प्रोसेसर दोनों ही धीमे हो जाते हैं। फोन की स्पीड बढ़ाने के लिए इन ‘कैशे’ को निरंतर डिलीट करते रहना चाहिए।

डिलीट करने के लिए सेटिंग में ‘स्टोरेज’ के विकल्प को खोलें। इसमें ‘क्लीयर कैशे’ का विकल्प मिलेगा उस पर क्लिक करके कैशे को फोन से हटा दें। इसके अलावा फोन में ‘सेटिंग्स’ के विकल्प पर जाकर एप्लीकेशन मैनेजर पर क्लिक करें। इसके बाद जिस एप में दिक्कत है उस पर क्लिक करके क्लीयर कैशे विकल्प पर क्लिक करें। फोन में पुराना ब्राउजर इंटरनेट की स्पीड धीमा कर सकता है।

कंपनियां अपने अपडेट में छोटी-छोटी कमियों को दूर करती रहती हैं और एप बेहतर होता जाता है। इसलिए अपने फोन के ब्राउजर को हमेशा अपडेट रखें। फोन की स्पीड बढ़ाने के लिए एप के डाटा को ऑटोसिंक नहीं करना चाहिए। दरअसल न्यूज और मौसम की जानकारी देने वाले कई एप रिमोट सर्वर से जुड़े होते हैं और हर 15 मिनट में अपना डाटा ऑटो सिंक करते हैं। इससे फोन काफी धीमा हो जाता है।

यूजर को इन एप की सेटिंग में जाकर डाटा ऑटो सिंक का फीचर बंद कर देना चाहिए। फोन की इंटरनल मेमोरी को फुल न होने दें। इससे फोन और इंटरनेट दोनों की स्पीड प्रभावित होती है।

इससे बचने के लिए यूजर को अपने फोन का डाटा क्लाउड सेवा गूगल ड्राइव या वन ड्राइव में सेव कर लेना चाहिए, ताकि वह फोन की इंटरनल मेमोरी में मौजूद तस्वीरों और विडियो को डिलीट कर सके। इंटरनल मेमोरी खाली होने पर फोन की स्पीड भी बढ़ जाएगी।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।