अगरतला: भारत और बंगलादेश सरकार के संयुक्त दल ने त्रिपुरा के धलाई जिले में सीमावर्ती बाजार लगाने के एक स्थान को चयनित किया है। धलाई के अतिरिक्त जिलाधिकारी डी.के. चकमा ने कहा, ”भारत-बंगलादेश का संयुक्त दल मौका मुआयना करने के बाद कमालपुर (कुर्माघाट) में सीमावर्ती बाजार स्थापित करने पर सहमत हो गया है।” उन्होंने बताया कि स्थान के चयन के अलावा, इस प्रस्तावित सीमावर्ती बाजार में बेची जाने वाली वस्तुओं को अंतिम मंजूरी दे दी है।

चकमा ने बताया, ”सीमावर्ती प्रबंधन समिति की यह पहली बैठक थी और यह बहुत सफल रही। हम सीमावर्ती बाजार को जल्द से जल्द स्थापित करने के लिये नियमित रूप से बैठक करेंगे।” हालांकि कमालपुर-कुर्माघाट में बाजार स्थापित करने में एक समस्या यह है कि यदि इसे अंतर्राष्ट्रीय सीमा के जीरो लाइन के पास बनाया जाता है, तो इसके बीच में एक नहर आ जाएगी। जबकि दिशा-निर्देशों के मुताबिक सीमावर्ती बाजार को भारत-बंगलादेश की जीरो लाइन सीमा के पास स्थापित किया जाना चाहिये। चकमा ने बताया कि औद्योगिक और वाणिज्यिक विभाग इस समस्या का हल तलाशने के लिये विशेषज्ञों का एक दल भेजेगा।