बीते कुछ सालों में देश में यौन हिंसा के मामलों में बहुत इज़ाफ़ा हुआ है। बहुत से लोगों का मानना है की यौन हिंसा जैसे रेप , अभद्र व्यवहार और छेड़खानी की वारदातें पहले भी उतनी ही थी इतनी अब है पर पहले लोग इन बातों को दबा देते है पर अब इन मामलों में तुरंत रिपोर्ट दर्ज होती है।

यौन हिंसा

रेप जैसे दरिंदगी भरे मामलों में सिर्फ रिपोर्ट दर्ज हों और सजा होना काफी नहीं है ये चिंता का विषय की आखिर महिलाओं के प्रति इतनी यौन हिंसा बढ़ने का कारण क्या है। साल 2012 में दिल्ली में हुए निर्भया काण्ड ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था ,लेकिन इसके बाद भी देश में ऐसी वारदातें थमने का नाम नहीं ले रही है।

यौन हिंसा के पीछे क्या है वजह

यौन हिंसा

रेप जैसी घटनाओं को अंजाम देने के पीछे एक रेपिस्ट के मन में यौन हिंसा करते समय क्या चलता है यही जानने के लिए एक 22 वर्षीय छात्रा ने दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद रेपिस्टों से मुलाकात की। इस लड़की का नाम मधुमिता है जो यूके में रहती थी और वे वहां की एक यूनिवर्सिटी से क्रिमिनलॉजी में पढ़ाई कर रही थी।

यौन हिंसा

दिल्ली में हुए निर्भया काण्ड ने इन्हे बुरी तरह हिला कर रख दिया। इनके मन में हर किसी की तरह बहुत से सवाल थे की दिल्ली जैसे महानगर में कैसे एक लड़की के साथ इतनी बड़ी यौन हिंसा – दरिंदगी होती रही ? आखिर आम लोगों की तरह दिखने ये रेपिस्ट कैसी किसी के साथ इतनी भयावह दरिंदगी कर सकते है ?

यौन हिंसा

इन्ही सवालों का जवाब लेने के लिए ये तिहाड़ जेल पहुंची और यौन हिंसा के आरोपी रेपिस्टों से उनकी मानसिकता जानने की कोशिश की। आरोपियों से मिलने के बाद मधुमिता को मालूम पड़ा कि ये लोग भी हम आम लोगों लोगों की तरह थे। बस इन लोगों की ‘परवरिश’ में बहुत फर्क नज़र आया।

यौन हिंसा

मधुमिता बताती हैं कि ‘जेल में बंद इन यौन हिंसा के कैदियों को ज़रा सा भी अहसास तक नहीं है कि इन लोगों ने रेप जैसी वारदात को अंजाम दिया है।’ उनकी इस रिसर्च के बाद ये जरूर साफ़ हो गया की ऐसों लोगों की मौजूदगी समाज में होने की सबसे बड़ी वजह है यौन शिक्षा का अभाव होना।

यौन हिंसा

देश में महिलाओं के प्रति इज्जत और सम्मान की भावना पैदा करने के लिए यौन शिक्षा का प्रसार होना बेहद आवश्यक है। अगर समाज से महिलाओं को प्रति यौन हिंसा को कम करना है तो सख्त कानून व्यवस्था के साथ-साथ सामाजिक मानसिकता में भी बदलाव लाना होगा।

दुनिया के सबसे खतरनाक देश, जहाँ हर पल मर्डर, रेप और लूटपाट होना आम बात है !