BREAKING NEWS

उत्तराखंड: दिल्ली में कल होगी BJP की चुनाव समिति की अहम बैठक, उम्मीदवारों के नाम की सूची पर होगा मंथन ◾देवास-एंट्रिक्स डील को लेकर वित्त मंत्री ने कांग्रेस पर साधा निशाना, कहा- यह धोखाधड़ी का सौदा था◾सुल्ली डील्स और बुली बाई के बाद क्लबहाउस ऐप बना रही महिलाओं को निशाना, DCW ने भेजा पुलिस को नोटिस ◾हिन्दुओं के खिलाफ घृणा फैलाने वालों को प्रोत्साहित करने की स्पर्धा है कांग्रेस, SP में: BJP◾अब गोवा चुनाव के लिए CM उम्मीदवार का ऐलान करने की तैयारी में केजरीवाल, कल बताएंगे कौन होगा सीएम का चहेरा◾केजरीवाल मान को नहीं बनाना चाहते थे CM उम्मीदवार, बादल बोले- कोई नहीं करना चाहता AAP का नेतृत्व ◾ कांग्रेस ने गोवा चुनाव के लिए जारी की उम्‍मीदवारों की तीसरी लिस्‍ट, जानें कहां से लड़ंगे BJP छोड़ने वाले माइकल ◾गणतंत्र दिवस की परेड पर मंडराया कोविड का साया, इतने ही लोगों को मिलेगी शामिल होने की अनुमति◾चंद्रशेखर ने अकेले चुनाव लड़ने का किया ऐलान, अखिलेश को बताया 'धोखेबाज', कहा- बात से पलटते हैं तो...◾बेटे के लिए इस्तीफा देने को तैयार हुई भाजपा सांसद रीता बहुगुणा जोशी, जानिए क्या है पूरी खबर◾यूपी: PM मोदी ने भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ किया डिजिटल संवाद, जानिए उनकी बातचीत की अहम बातें◾अखिलेश ने किया चुनावी वादा, बोले- 300 यूनिट मुफ्त बिजली लेने वाले कल से कराएं अपना पंजीकरण◾भगवंत मान होंगे AAP के CM उम्मीदवार, 'जनता चुनेगी अपना सीएम' पोल में दूसरे नंबर पर नवजोत सिंह सिद्धू ◾UP विधानसभा चुनाव: सियासी दलों के बीच छिड़ी सुरों की जंग, जानिए कैसे गीतों के सहारे प्रचार कर रही हैं पार्टियां◾'ज़िंदगी झंड बा-फिर भी घमंड बा', रवि किशन के वायरल Video पर नवाब मलिक का तंज◾सुरक्षा चूक: जांच कमेटी की अध्यक्ष जस्टिस इंदु मल्होत्रा के बाद SC के वकील को फिर मिली धमकी, जानें मामला ◾पंजाब चुनाव से पहले ED का बड़ा एक्शन, चन्नी के भतीजे समेत 10 जगहों पर की छापेमारी, अमरिंदर बोले... ◾5 राज्यों में होने वाले चुनाव को लेकर हुई डिजिटल प्रचार की शुरुआत, पार्टियों में छिड़ी 'थीम सॉन्ग्स' की जंग ◾UP election: ग्रामीण इलाकों में अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए कांग्रेस करेगी 'प्रतिज्ञा चौपाल' का आयोजन ◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की स्पीच में पड़ा खलल, राहुल ने ली चुटकी, बोले- टेलीप्रॉम्प्टर भी नहीं झेल पाया झूठ ◾

Sharad Purnima 2020: आज है शरद पूर्णिमा, जानें क्यों होती है इस दिन लक्ष्मी पूजन और खीर रखने की परंपरा

हिंदू धर्म में पूर्णिमा का महत्व बेहद खास है और हर महीने यह आती है। इस महीने शरद पूर्णिमा 30 अक्टूबर शुक्रवार यानी आज पड़ रही है। शरद पूर्णिमा का स्‍थान इन सभी में सर्वश्रेष्ठ होता है। मान्यताओं के अनुसार,16 कलाओं से परिपूर्ण चंद्रमा शरद पूर्णिमा के दिन हो जाता है साथ ही पृथ्वी पर अपनी किरणों से अमृत की बूंदे गिराते हैं। 

चावल से बनी खीर खुले आसमान के नीचे शरद पूर्णिमा की रात को रखते हैं। इतना ही नहीं देवी लक्ष्मी पृथ्वी पर शरद पूर्णिमा की रात को आती हैं साथ ही कौन रात को जग रहा है हर घर में जाकर देखती हैं। कोजागरी पूर्णिमा के नाम से भी इसे जाना जाता है। कौन-कौन जाग रहा है कोजागरी का अर्थ होता है। 

क्या है शरद पूर्णिमा पर खीर का महत्व?

आश्विन पूर्णिमा भी शरद पूर्णिमा को कहा जाता है। शास्‍त्रों के मुताबिक,पृथ्वी के सबसे नजदीक चंद्रमा शरद पूर्णिमा की तिथि पर होता है और औषधीय गुण की मात्रा चंद्रमा की किरणों में रात को ज्यादा हो जाती है। इससे हर तरह की बीमारियों से मनुष्य को मुक्ति मिलने में मदद मिलती है। 

शरद पूर्णिमा की रात को खीर खुले आसमान के नीचे चंद्रमा की किरणों में  औषधीय गुणों की वजह से रखा जाता है। चंद्रमा की किरणें रात भर खीर पर पड़ती रहती हैं जिससे चंद्रमा की औषधीय गुण खीर में आ जाते हैं। उसके बाद सकारात्मक प्रभाव इस खीर को अगले दिन खाने से होता है। 

शरद पूर्णिमा पर गोपियों के साथ भगवान कृष्‍ण रचाते हैं महारास

मान्यताओं के अनुसार, वृंदावन में सभी गोपियों के साथ शरद पूर्णिमा की तिथि पर महारास भगवान कृष्‍ण रचाया था। शरद पूर्णिमा का विशेष महत्व इस कारण से होता है। मथुरा और वृंदावन के साथ देश के कई कृष्‍ण मंदिरों में शरद पूर्णिमा के दिन विशेष तौर पर आयोजन किया जाता है। 

देवी लक्ष्मी का पृथ्वी पर आगमन शरद पूर्णिमा पर 

मान्यताओं के अनुसार, देवी लक्ष्मी पृथ्वी पर शरद पूर्णिमा की तिथि भ्रमण करने आती है। साथ ही भक्तों को आशीर्वाद घर-घर जाकर देती हैं। माता लक्ष्मी की विशेष पूजा शरद पूर्णिमा पर की जाती है। माता की स्तुति की रात भर जागकर शरद पूर्णिमा पर करते हैं। 

कई तरह के उपाय माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए शरद पूर्णिमा पर करते हैं और देवी लक्ष्मी को उनका प्रिय भोग और वस्तुएं चढ़ाएं। कमल गट्टे की माला से देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए शरद पूर्णिमा पर इस मंत्र का जाप करें। मंत्र-ऊँ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ऊँ महालक्ष्मयै नम:।

मान्यताओं के अनुसार, इसे कोजागर व्रत भी कहते हैं। भक्तों को उनके कर्जों से लक्ष्मी पूजा इस दिन करने से मुक्ति मिलती है। इस वजह से कर्जमुक्ति पूर्णिमा भी इसे कहते हैं। श्रीसूक्त का पाठ,कनकधारा स्तोत्र,विष्‍णु सहस्‍त्र नाम का जाप इस रात्रि को करना चाहिए।