BREAKING NEWS

संसद में पेगासस व किसानों के मुद्दे पर चर्चा करवाने के लिए विपक्षी दलों ने किया राष्ट्रपति से दखल देने का आग्रह◾मोदी कैबिनेट से हटाए जाने के बाद बाबुल सुप्रियो ने राजनीति से संन्यास का किया ऐलान, बोले- समाज सेवा के लिए आया था◾राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह बने जेडीयू के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष, जानिए नीतीश के करीबी का राजनीतिक संघर्ष◾UP बोर्ड एग्जाम का रिजल्ट जारी, 10वीं में 99.53% और 12वीं में 97.88% स्टूडेंट्स पास ◾टोक्यो ओलंपिक 2020 : पीवी सिंधु फाइनल की रेस से हुई बाहर, मेडल की उम्मीद अब भी बरकरार◾मिजोरम पुलिस की FIR पर CM सरमा का ट्वीट, 'किसी भी जांच में शामिल होने पर होगी खुशी'◾ओलंपिक मुक्केबाजी : क्वार्टर फाइनल में हारीं पूजा रानी, पहले ही मुकाबले में हारकर बाहर हुए अमित पंघाल ◾चुनावों से पहले BJP खेल रही आरक्षण का कार्ड, जानिए UP समेत किन 5 राज्यों में गूंजेगा OBC रिजर्वेशन का मुद्दा ◾आतंकी सरगना मसूद अजहर का भतीजा 'लंबू' मुठभेड़ में ढेर, पुलवामा हमले की साजिश में था शामिल ◾असम और मिजोरम के बीच हुई हिंसा पर बोले राहुल- देश में दंगों को बीज की तरह बोया जा रहा है◾अखिलेश यादव ने भाजपा के कार्यकर्ताओं को बताया ई-रावण, सोशल मीडिया पर नफरत फैलाने का लगाया आरोप ◾'UPA सरकार ने कभी पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा नहीं दिया', BJP का कांग्रेस पर पलटवार◾भारत और चीन के बीच 12वें दौर की सैन्य वार्ता, हॉट स्प्रिंग और गोगरा इलाकों से गतिरोध खत्म करने पर जोर ◾पहले ओलंपिक की घबराहट और अवसाद के बावजूद तोक्यो में कमलप्रीत ने बिखेरी हौसले की चमक ◾ओलंपिक: वंदना की हैट्रिक से भारतीय महिला हॉकी टीम की रोमांचक जीत, क्वार्टर फाइनल की उम्मीदें बरकरार ◾IPS प्रोबेशनर्स से संवाद करते हुए बोले PM मोदी-पुलिस की नकारात्मक छवि खत्म होनी चाहिए◾अगस्त में सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता संभालने के लिए पूरी तरह तैयार है भारत, आतंकवाद पर तेज होगा प्रहार◾अफगानिस्तान में UN पर तालिबान के हमले की गुटेरेस ने की निंदा, कहा- अंतर्राष्ट्रीय कानून के तहत यह प्रतिबंधित हैं◾जम्मू-कश्मीर : आतंकियों के निशाने पर घाटी, राजौरी में डिफ्यूज किया गया IED◾कौन होगा JDU का नया अध्यक्ष? दिल्ली में आज की बैठक में नीतीश कुमार ले सकते हैं बड़ा फैसला◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

Sharad Purnima 2020: आज है शरद पूर्णिमा, जानें क्यों होती है इस दिन लक्ष्मी पूजन और खीर रखने की परंपरा

हिंदू धर्म में पूर्णिमा का महत्व बेहद खास है और हर महीने यह आती है। इस महीने शरद पूर्णिमा 30 अक्टूबर शुक्रवार यानी आज पड़ रही है। शरद पूर्णिमा का स्‍थान इन सभी में सर्वश्रेष्ठ होता है। मान्यताओं के अनुसार,16 कलाओं से परिपूर्ण चंद्रमा शरद पूर्णिमा के दिन हो जाता है साथ ही पृथ्वी पर अपनी किरणों से अमृत की बूंदे गिराते हैं। 

चावल से बनी खीर खुले आसमान के नीचे शरद पूर्णिमा की रात को रखते हैं। इतना ही नहीं देवी लक्ष्मी पृथ्वी पर शरद पूर्णिमा की रात को आती हैं साथ ही कौन रात को जग रहा है हर घर में जाकर देखती हैं। कोजागरी पूर्णिमा के नाम से भी इसे जाना जाता है। कौन-कौन जाग रहा है कोजागरी का अर्थ होता है। 

क्या है शरद पूर्णिमा पर खीर का महत्व?

आश्विन पूर्णिमा भी शरद पूर्णिमा को कहा जाता है। शास्‍त्रों के मुताबिक,पृथ्वी के सबसे नजदीक चंद्रमा शरद पूर्णिमा की तिथि पर होता है और औषधीय गुण की मात्रा चंद्रमा की किरणों में रात को ज्यादा हो जाती है। इससे हर तरह की बीमारियों से मनुष्य को मुक्ति मिलने में मदद मिलती है। 

शरद पूर्णिमा की रात को खीर खुले आसमान के नीचे चंद्रमा की किरणों में  औषधीय गुणों की वजह से रखा जाता है। चंद्रमा की किरणें रात भर खीर पर पड़ती रहती हैं जिससे चंद्रमा की औषधीय गुण खीर में आ जाते हैं। उसके बाद सकारात्मक प्रभाव इस खीर को अगले दिन खाने से होता है। 

शरद पूर्णिमा पर गोपियों के साथ भगवान कृष्‍ण रचाते हैं महारास

मान्यताओं के अनुसार, वृंदावन में सभी गोपियों के साथ शरद पूर्णिमा की तिथि पर महारास भगवान कृष्‍ण रचाया था। शरद पूर्णिमा का विशेष महत्व इस कारण से होता है। मथुरा और वृंदावन के साथ देश के कई कृष्‍ण मंदिरों में शरद पूर्णिमा के दिन विशेष तौर पर आयोजन किया जाता है। 

देवी लक्ष्मी का पृथ्वी पर आगमन शरद पूर्णिमा पर 

मान्यताओं के अनुसार, देवी लक्ष्मी पृथ्वी पर शरद पूर्णिमा की तिथि भ्रमण करने आती है। साथ ही भक्तों को आशीर्वाद घर-घर जाकर देती हैं। माता लक्ष्मी की विशेष पूजा शरद पूर्णिमा पर की जाती है। माता की स्तुति की रात भर जागकर शरद पूर्णिमा पर करते हैं। 

कई तरह के उपाय माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए शरद पूर्णिमा पर करते हैं और देवी लक्ष्मी को उनका प्रिय भोग और वस्तुएं चढ़ाएं। कमल गट्टे की माला से देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए शरद पूर्णिमा पर इस मंत्र का जाप करें। मंत्र-ऊँ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ऊँ महालक्ष्मयै नम:।

मान्यताओं के अनुसार, इसे कोजागर व्रत भी कहते हैं। भक्तों को उनके कर्जों से लक्ष्मी पूजा इस दिन करने से मुक्ति मिलती है। इस वजह से कर्जमुक्ति पूर्णिमा भी इसे कहते हैं। श्रीसूक्त का पाठ,कनकधारा स्तोत्र,विष्‍णु सहस्‍त्र नाम का जाप इस रात्रि को करना चाहिए।