BREAKING NEWS

किसानों ने दिल्ली को चारों तरफ से घेरने की दी चेतावनी, कहा- बुराड़ी कभी नहीं जाएंगे◾दिल्ली में लगातार दूसरे दिन संक्रमण के 4906 नए मामले की पुष्टि, 68 लोगों की मौत◾महबूबा मुफ्ती ने BJP पर साधा निशाना, बोलीं- मुसलमान आतंकवादी और सिख खालिस्तानी तो हिन्दुस्तानी कौन?◾दिल्ली पुलिस की बैरिकेटिंग गिराकर किसानों का जोरदार प्रदर्शन, कहा- सभी बॉर्डर और रोड ऐसे ही रहेंगे ब्लॉक ◾राहुल बोले- 'कृषि कानूनों को सही बताने वाले क्या खाक निकालेंगे हल', केंद्र ने बढ़ाई अदानी-अंबानी की आय◾अमित शाह की हुंकार, कहा- BJP से होगा हैदराबाद का नया मेयर, सत्ता में आए तो गिराएंगे अवैध निर्माण ◾अन्नदाआतों के समर्थन में सामने आए विपक्षी दल, राउत बोले- किसानों के साथ किया गया आतंकियों जैसा बर्ताव◾किसानों ने गृह मंत्री अमित शाह का ठुकराया प्रस्ताव, सत्येंद्र जैन बोले- बिना शर्त बात करे केंद्र ◾बॉर्डर पर हरकतों से बाज नहीं आ रहा पाक, जम्मू में देखा गया ड्रोन, BSF की फायरिंग के बाद लौटा वापस◾'मन की बात' में बोले पीएम मोदी- नए कृषि कानून से किसानों को मिले नए अधिकार और अवसर◾हैदराबाद निगम चुनावों में BJP ने झोंकी पूरी ताकत, 2023 के लिटमस टेस्ट की तरह साबित होंगे निगम चुनाव ◾गजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर पर डटे किसान, राकेश टिकैत का ऐलान- नहीं जाएंगे बुराड़ी ◾बसपा अध्यक्ष मायावती ने कहा- कृषि कानूनों पर फिर से विचार करे केंद्र सरकार◾देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 94 लाख के करीब, 88 लाख से अधिक लोगों ने महामारी को दी मात ◾योगी के 'हैदराबाद को भाग्यनगर बनाने' वाले बयान पर ओवैसी का वार- नाम बदला तो नस्लें होंगी तबाह ◾वैश्विक स्तर पर कोरोना के मामले 6 करोड़ 20 लाख के पार, साढ़े 14 लाख लोगों की मौत ◾सिंधु बॉर्डर पर किसानों का आंदोलन जारी, आगे की रणनीति के लिए आज फिर होगी बैठक ◾छत्तीसगढ़ में बारूदी सुरंग में विस्फोट, CRFP का अधिकारी शहीद, सात जवान घायल ◾'अश्विनी मिन्ना' मेमोरियल अवार्ड में आवेदन करने के लिए क्लिक करें ◾भाजपा नेता अनुराग ठाकुर बोले- J&K के लोग मतपत्र की राजनीति में विश्वास करते हैं, गोली की राजनीति में नहीं◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

Sharad Purnima 2020: आज है शरद पूर्णिमा, जानें क्यों होती है इस दिन लक्ष्मी पूजन और खीर रखने की परंपरा

हिंदू धर्म में पूर्णिमा का महत्व बेहद खास है और हर महीने यह आती है। इस महीने शरद पूर्णिमा 30 अक्टूबर शुक्रवार यानी आज पड़ रही है। शरद पूर्णिमा का स्‍थान इन सभी में सर्वश्रेष्ठ होता है। मान्यताओं के अनुसार,16 कलाओं से परिपूर्ण चंद्रमा शरद पूर्णिमा के दिन हो जाता है साथ ही पृथ्वी पर अपनी किरणों से अमृत की बूंदे गिराते हैं। 

चावल से बनी खीर खुले आसमान के नीचे शरद पूर्णिमा की रात को रखते हैं। इतना ही नहीं देवी लक्ष्मी पृथ्वी पर शरद पूर्णिमा की रात को आती हैं साथ ही कौन रात को जग रहा है हर घर में जाकर देखती हैं। कोजागरी पूर्णिमा के नाम से भी इसे जाना जाता है। कौन-कौन जाग रहा है कोजागरी का अर्थ होता है। 

क्या है शरद पूर्णिमा पर खीर का महत्व?

आश्विन पूर्णिमा भी शरद पूर्णिमा को कहा जाता है। शास्‍त्रों के मुताबिक,पृथ्वी के सबसे नजदीक चंद्रमा शरद पूर्णिमा की तिथि पर होता है और औषधीय गुण की मात्रा चंद्रमा की किरणों में रात को ज्यादा हो जाती है। इससे हर तरह की बीमारियों से मनुष्य को मुक्ति मिलने में मदद मिलती है। 

शरद पूर्णिमा की रात को खीर खुले आसमान के नीचे चंद्रमा की किरणों में  औषधीय गुणों की वजह से रखा जाता है। चंद्रमा की किरणें रात भर खीर पर पड़ती रहती हैं जिससे चंद्रमा की औषधीय गुण खीर में आ जाते हैं। उसके बाद सकारात्मक प्रभाव इस खीर को अगले दिन खाने से होता है। 

शरद पूर्णिमा पर गोपियों के साथ भगवान कृष्‍ण रचाते हैं महारास

मान्यताओं के अनुसार, वृंदावन में सभी गोपियों के साथ शरद पूर्णिमा की तिथि पर महारास भगवान कृष्‍ण रचाया था। शरद पूर्णिमा का विशेष महत्व इस कारण से होता है। मथुरा और वृंदावन के साथ देश के कई कृष्‍ण मंदिरों में शरद पूर्णिमा के दिन विशेष तौर पर आयोजन किया जाता है। 

देवी लक्ष्मी का पृथ्वी पर आगमन शरद पूर्णिमा पर 

मान्यताओं के अनुसार, देवी लक्ष्मी पृथ्वी पर शरद पूर्णिमा की तिथि भ्रमण करने आती है। साथ ही भक्तों को आशीर्वाद घर-घर जाकर देती हैं। माता लक्ष्मी की विशेष पूजा शरद पूर्णिमा पर की जाती है। माता की स्तुति की रात भर जागकर शरद पूर्णिमा पर करते हैं। 

कई तरह के उपाय माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए शरद पूर्णिमा पर करते हैं और देवी लक्ष्मी को उनका प्रिय भोग और वस्तुएं चढ़ाएं। कमल गट्टे की माला से देवी लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए शरद पूर्णिमा पर इस मंत्र का जाप करें। मंत्र-ऊँ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ऊँ महालक्ष्मयै नम:।

मान्यताओं के अनुसार, इसे कोजागर व्रत भी कहते हैं। भक्तों को उनके कर्जों से लक्ष्मी पूजा इस दिन करने से मुक्ति मिलती है। इस वजह से कर्जमुक्ति पूर्णिमा भी इसे कहते हैं। श्रीसूक्त का पाठ,कनकधारा स्तोत्र,विष्‍णु सहस्‍त्र नाम का जाप इस रात्रि को करना चाहिए।