भारत के पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी सबसे चहेते नेताओ में से एक थे। पक्ष के साथ साथ विपक्ष भी इनकी काफी इज़्ज़त करता था। वाजपेयी जी के जीवन में बहुत से किस्से ऐसे हैं जिसके बारे में आप बेखबर होंगे।

अटल बिहारी

अटल बिहारी वाजपेयी जी के शब्दों में इतनी गहराई थी के जब वह असेंबली में बोलते थे तो विपक्षी नेता इनकी बातों को ध्यान से सुना करते थे। पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों को लेकर भाजपा सरकार पर कई तरह के आरोप लगाए जाते हैं।

अटल बिहारी बाजपेयी के विरोध का अनोखा तरीका

अटल जी

लेकिन आपको बता दें की एक समय ऐसा भी था की जब कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई थी। उस समय अटल बिहारी जी ने इंदिरा गाँधी सरकार का बहुत ही अच्छे तरीके से विरोध किया था।

अटल बिहारी

ये बात आज से 45 साल पहले की है। अटल जी ने उस समय कुछ ऐसा किया था जिसे लोग आज तक याद करते हैं। जानकारी के अनुसार पेट्रोल और डीजल की बढ़ती कीमतों का विरोध करने के लिए अटल बिहारी वाजपेयी जी बैलगाड़ी पर संसद पहुंचे थे।

अटल बिहारी

विदेशी अख़बार न्यूयॉर्क टाइम्स की 12 नवंबर 1973 की रिपोर्ट के अनुसार तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी ने संसद में विरोधी दलों के गुस्से का सामना किया था।

अटल जी

बीबीसी की एक रिपोर्ट के मुताबिक संसद में इस दिन छह सप्ताह तक चलने वाले शीतकालीन सत्र की शुरुआत हुई थी।

अटल बिहारी

पेट्रोल और डीज़ल के बढ़ते दामों को लेकर इंदिरा गाँधी को विपक्षी दलों के सामने काफी मुसीबत का सामना करना पड़ा और इसी कारण अन्य दलों ने इंदिरा गाँधी से इस्तीफे की मांग की थी।

अटल जी

उस समय भाजपा जनसंघ के नाम से जाना जाता था तभी जनसंघ के नेता अटल बिहारी वाजपेयी और उनके साथ और 2 सदस्य बैलगाड़ी से संसद पहुंचे थे। इतना ही नहीं और भी कई लोग पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी का विरोध करने के लिए साइकिल से संसद पहुंचे थे ।

अटल जी की 5 ऐसी खूबियाँ जिनकी वजह से वो हमेशा राजनीति के पटल पर अमर रहेंगे