BREAKING NEWS

राकेश टिकैत ने हिंदू-मुस्लिम और जिन्ना को बताया सरकारी मेहमान, बोले-सरकार के प्रवचन में नहीं आना◾भगवा खेमे का अभेद्य किला बनी हुई है 'गोरखपुर सीट', अखिलेश ने शिवप्रताप को दिया खुला ऑफर, जानें रणनीति ◾अखिलेश के बयान पर भाजपा ने घेरा, पाकिस्तान को भारत का असली दुश्मन नहीं मानने का लगाया आरोप ◾अल्पसंख्यक समुदाय के साथ की आस में BJP, RSS की मुस्लिम शाखा ने चलाया अभियान, धर्म संसद पर कहा... ◾UP चुनाव: सियासी मझधार में सपा और सहयोगी दलों का गठबंधन, सीट बंटवारे को लेकर कशमकश की स्थिति ◾BJP गठबंधन वाले दलों को हड़पकर उन्हें खत्म कर देती है : नवाब मलिक◾योगी सरकार पर फिर बरसीं मायावती, कहा- भाजपा के शासन में धर्म संबंधी असुरक्षा लगातार बढ़ रही◾गणतंत्र दिवस: समारोह में एंट्री के लिए अहम निर्देशों का करना होगा पालन, जानें सुरक्षा तैयारियों की जानकारी ◾UP चुनाव : कैराना में अमित शाह ने तोड़े कोरोना नियम, EC के पास शिकायत लेकर पहुंची सपा ◾ओमीक्रॉन के आतंक के बीच हुई नए सब-वेरिएंट BA.2 की एंट्री, भारत में भी मौजूद, जानें कितना खतरनाक? ◾उद्धव के बयान पर बोली BJP-हिंदुत्व की नसीहत देने से पहले बाला साहब ठाकरे के विचारों पर करें मंथन◾उत्तर प्रदेश के स्थापना दिवस पर अमित शाह और जेपी नड्डा ने मांगा जनता का आशीर्वाद, ट्वीट कर दी बधाई◾UP चुनाव : अंतिम 3 चरणों के लिए उम्मीदवारों के नाम को लेकर दिल्ली में BJP का मंथन◾Today's Corona Update : गिरावट के बावजूद देश में 3 लाख से ज्यादा नए केस, 439 मरीजों की मौत◾कोरोना के आतंक के बीच ओमिक्रॉन वैरिएंट से किन लोगों को है मौत का खतरा, WHO ने दी विस्तृत जानकारी ◾World Corona Update: कोरोना के वैश्विक मामलों में इजाफे का सिलसिला जारी, 35.09 करोड़ से ज्यादा लोग संक्रमित ◾यूक्रेन संकट के चलते अमेरिका और रूस में बढ़ी कड़वाहट, लोगों के लिए जारी की गई ट्रैवल एडवाइजरी ◾कड़कड़ाती ठंड का सितम अभी रहेगा जारी, दिल्ली में बारिश ने तोड़ा 122 साल का रिकॉर्ड, पहाड़ों पर भारी बर्फबारी◾नेताजी की प्रतिमा आने वाली पीढ़ियों को साहस, राष्ट्रभक्ति एवं बलिदान के लिए प्रेरित करेगी - अमित शाह ◾PM मोदी ने कांग्रेस पर साधा निशाना - महान व्यक्तित्वों के योगदान को मिटाने का हुआ प्रयास , अब देश गलतियों को कर रहा है ठीक◾

शिवजी की इस विधि से सोम प्रदोष व्रत में पूजा करने से पूरी होती है मनोकामनाएं, जानिए इसका महत्व

आश्विन मास के शुुक्ल पक्ष में सोम प्रदोष व्रत आता है जो इस साल 28 सितंबर सोमवार यानी आज मनाया जा रहा है। यह व्रत सोमवार को आता है इस वजह से सोम प्रदोश व्रत के नाम से भी इसे जाना जाता है। हिंदू धर्म में एकादशी के व्रत का जितना महत्व बताया गया है उतना ही महत्व इस व्रत का भी है। 

भगवान शिव जी और माता पार्वती की पूजा इस दिन करते हैं। मान्यताओं के अनुसार भोलेनाथ का आर्शीवाद उस व्यक्ति को मिलता है जो यह प्रदोष व्रत करता है। चलिए हम आपको सोम प्रदोष व्रत की पूजा की विधि और इसके महत्व के बारे में बताते हैं। 

ये है सोम प्रदोष के व्रत का महत्व

शिवशंकर की कृपा और उन्हें प्रसन्न करने के लिए भक्त सोम प्रदोष व्रत रखते हैं। हमेशा अपने भक्तों पर शिवजी यह व्रत करने से आर्शीवाद बनाए रखते हैं। हिंदू धर्म में शिवजी की पूजा अर्चना का दिन सोमवार बताया गया है। मंदिर में जाकर दूध शिवलिंग पर इस दिन अर्पित करते हैं। 

इतना ही नहीं पूरे विधिपूर्वक शिवजी की पूजा करते हैं। साथ ही माता पार्वती की पूजा भी इस दिन करने का विधान है। भक्तों पर हमेशा शिवजी और माता पार्वती का आर्शीवाद बना रहता है। मान्तयाओं के अनुसार जो व्यक्ति यह व्रत करता है उसके रोग दूर हो जाते हैं। 

ये है पूूजन विधि सोम प्रदोष व्रत की

1. सुबह जल्दी उठकर इस दिन स्नान करके स्वच्छ वस्‍त्र वर्ती को पहनने चाहिए।

2. फिर प्रदोष व्रत का संकल्प अपने हाथ में जल लेकर वर्ती करें। 

3. इस व्रत में व्यक्ति को फलाहार पूरे दिन करना होता है। उसके बाद भगवान शिव जी की पूजा शाम के समय प्रदोष काल के शुभ मुहूर्त में करनी चाहिए।

4. उसके बाद गंगा जल,अक्षत, पुष्प,धतूरा, धूप,फल,चंदन,गाय का दूध,भांग आदि भोलेनाथ को चढ़ाएं।

5. ओम नमः शिवायः के मंत्र का जप इसके बाद वर्ती करें। 

6. फिर व्यक्ति शिव चालीसा का पाठ पढ़ें और आरती करें।

7. उसके बाद भोग को प्रसाद के तौर पर सारे घरवालों में पूजा संपन्न होने के बाद बांट दें।

8. इस दिन जागरण पूरी रात करना चाहिए और फिर महादेव की पूजा स्नान अगले दिन स्नान आदि करके करें। 

9. फिर ब्राह्मण को दान-दक्षिणा अपने सामर्थ्य के अनुसार दें।

10. इसके बाद अपना व्रत पारण को पूरा कर लें।