BREAKING NEWS

महाराष्ट्र : सरकार बनाने की राह में आदित्य को सीएम बनाने की मांग से बाधा ◾आतंक वित्तपोषण : प्रवर्तन निदेशालय ने सलाहुद्दीन, अन्य से जुड़ी सम्पत्तियों को कब्जे में लिया ◾श्रीलंका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति 29 नवम्बर को आयेंगे भारत की यात्रा पर : जयशंकर ◾रजनीकांत, हासन ने तमिलनाडु की भलाई के लिए हाथ मिलाने के दिए संकेत◾जम्मू कश्मीर में जल्द से जल्द राजनीतिक गतिविधियां बहाल होनी चाहिये : राम माधव ◾पाक नापाक हरकतें करता रहता है : राजनाथ ◾पाक नापाक हरकतें करता रहता है : राजनाथ ◾सोनिया ने दिल्ली के वायु प्रदूषण पर चिंता जताई ◾लोकसभा में उठा प्रदूषण का मुद्दा: पराली जलाने के बजाय वाहनों, उद्योगों को ठहराया गया जिम्मेदार . संसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर पहुंचे श्रीलंका , नये राष्ट्रपति से करेंगे मुलाकात◾आप' के साथ दिल्ली के 'वाटर-वार' में कूदे पासवान◾दिल्ली में भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर 5.0 रही तीव्रता◾TOP 20 NEWS 19 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अयोध्या फैसले पर ओवैसी फिर बोले- SC का फैसला किसी भी तरह से ‘पूर्ण न्याय’ नहीं ◾भाजपा के कार्यकर्ताओं ने CM केजरीवाल के गुमशुदगी पोस्टर लगाए, किया प्रदर्शन ◾ममता बनर्जी के 'अल्पसंख्यक अतिवादी' वाले बयान पर ओवैसी ने किया पटलवार ◾JNU विवाद : जीवीएल नरसिम्हा बोले-नर्सरी में एक लाख फीस देने वालों को उच्च शिक्षा के लिए 50 हजार देने में दिक्कत क्यों◾आर्थिक मंदी को लेकर 30 नवंबर को कांग्रेस की होने वाली रैली स्थगित हुई ◾महाराष्ट्र सरकार गठन पर सोनिया के घर हुई बैठक, अहमद, एंटनी और खड़गे भी हुए शामिल◾सांसदों ने आसन के समीप आकर की नारेबाजी, लोकसभा अध्यक्ष ने दी चेतावनी◾

दिलचस्प खबरें

इस अनोखे गांव में घरों में नहीं लगते ताले,शनिदेव स्वयं हैं यहां के 'चौकीदार'

ऐसा माना जाता है कि हिंदु धर्म में शनिदेव न्याय के देवता होते हैं। पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक शनिदेव कर्म को देखकर फल अर्पित करते हैं और न्याय भी करते हैं। वैसे तो हमारे देश में बहुत सारे ऐसे शनि मंदिर हैं जहां शनिदेव की पूजा-अर्चना की जाती है। लेकिन इनमें से एक अनोखा शनि शिंगणापुर है। यह मंदिर महाराष्ट्र के अहमद नगर जिले में स्थित है। इस मंदिर में शनिदेव के इंसाफ  पर लोगों को पूर्ण विश्वास है। इसलिए तो वह लोग अपने घरों के दरवाजों पर ताले तक नहीं लगाते हैं। बता दें कि इस मंदिर इंसाफ  का मंदिर भी कहा जाता है। 

इस शनि मंदिर की सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि यहां पर शनि देवी की प्रतिमा खुले आसमान के नीचे है। इस मंदिर पर कोई भी छत नहीं है। इतना ही नहीं इस गांव के किसी भी घर में कभी ताला नहीं लगाया जाता है। न ही आस-पास की दुकानों पर ताला लगाया जाता है ऐसा कहा जाता है कि यहां पर शनि देव खुद सभी लोगों के घर की रक्षा करते हैं। 

इस गांव में यह परंपरा कई वर्षों से चली आ रही है। यहाँ पर भक्त बताते हैं कि इस गांव में रहने वाला हर एक इंसान अपने आप को  भय से मुक्त समझता है,क्योंकि यहां के कण-कण में शनिदेव बसे हुए हैं। हर एक घर और हर एक व्यक्ति पर शनिदेव की नजर टिकी हुई है। इसलिए जो भी व्यक्ति गलत काम करता है उसे उसके कर्मो का  फल जरूर मिलता है।

 ये भी मान्यता है की जो भी इस गांव में बुरी नीयत से आता है, वो पूरी तरह बर्बाद हो जाता है। यहां पर जो शनिदेव का मंदिर हजारों साल पुराना। कहा जाता है कि जिस भी इंसान की कुंडली में शनि का दोष होता है वो लोग इस मंदिर अपने दोष दूर करने के लिए आते हैं और शनिदेव को तेल चढ़ाते हैं। 

यहां पर शनिवार और अमावस्या के दिन दूर-दूर से भक्त पूजा करने के लिए आते हैं। यहां पर शनिदेव की प्रतिमा की पूजा खुले आसमान के नीचे की जाती है। ऐसा बताया जाता है कि जिसने भी शनिदेव की प्रतिमा के ऊपर छत बनाने की कोशिश की है वह कभी अपने काम में सफल नहीं हो पाया है।