कोहली ने की रोनाल्डो की बराबरी, इंस्टाग्राम के एक पोस्ट पर कमाते है इतना की होश उड़ जायेकानखजूरे के बारे में तो आपने सुना होगा जिसके बारें में अक्सर माँ बाप अपने बच्चों को बताते है की जमीन पर न सोएं वर्ना कान में ये खतरनाक कीड़ा घुस जायेगा। अक्सर गाँव देहात के लोगों के साथ ऐसा हो भी जाता है की नीचे लेटते या सोते वक्त कानखजूरा कान में घुस जाता है और फिर कान से होते हुए दिमाग में घुस जाता है।

kaanakhajooraअगर ऐसा हुआ तो ये जानलेवा हो सकता है। आज हम आपको इसे कीड़े के बारे में ऐसी कहानी बताने जा रहे है जिसपर शायद आप यकीन न करें पर हकीकत है। इस कीड़ें कुछ ऐसा किया की देखते देखते ये पूरे सांप को निगल गया। आईये जानते है पूरा मामला क्या है।

kaanakhajooraदरअसल वैज्ञानिकों की एक टीम स्कोलोपेंड्रा डाविडोफि नाम की प्रजाति के कानखजूरे के ऊपर शोध कर रही थी। आपको बता दें की ये कानखजूरा अपनी बाकी प्रजातियों की तुलना में बड़ा होता है। वैज्ञानिक इसकी हर गतिविधि पर नज़र रख रहे थे।

kaanakhajooraखुले में घूमते इस कानखजूरे को अचानक एक मादा सांप दिखाई दी जो अंडे दे रही थी तभी इस कीड़े ने ऐसा कारनामा किया की वैज्ञानिक देखते रह गए।

kaanakhajooraशोध करने वाली टीम ने बताया है, कनखजुरे की होशियारी तो जरा देखिए? जब सांप तीन अंडे दे चुका था और दो और देने वाला था, तभी कनखजुरे ने उसे पूरी तरह से जकड़ लिया।

kaanakhajooraउसे ऐसे जकड़े रखा कि अंडा बाहर न निकल पाये। इससे सांप अपने शरीर को हिला भी नहीं पा रहा था। वैज्ञानिकों ने उसे डिस्टर्ब किये बिना उसके कई फोटो खींच लिए। उन्होंने अंदाज लगाया कि कनखजुरे की इस प्रजाति को स्कोलोपेंड्रा डाविडोफि कहते हैं। यह विशाल आकार का होता है। हिंसक होता है।

kaanakhajooraयह दक्षिणी एशिया में प्रायः देखा जाता है। आमतौर पर देखा गया है कि कनखजुरे चूहों के बच्चों, छिपकली, चमगादड़, मकड़े आदि को अपना निशाना बनाते हैं। उन्हें वे चट कर जाते हैं। कई बार कुछ पक्षी भी उनका आहार बन जाते हैं।

kaanakhajooraकनखजुरे प्रायः दस सेमी के आकार के होते हैं। थाईलैंड में जब पर्यावरण पर शोध कर रहे वैज्ञानिकों ने इस दृश्य को देखा, तो एक तरह से उनके हाथ कोई जैकपाॅट ही लग गया, क्योंकि ऐसे नजारे तो विरले ही देखने को मिलते हैं।