BREAKING NEWS

उत्तर - मध्य भारत में भयंकर गर्मी का प्रकोप , लगातार दूसरे दिन दिल्ली में पारा 47 डिग्री के पार◾नक्शा विवाद में नेपाल ने अपने कदम पीछे खींचे, भारत के हिस्सों को नक्शे में दिखाने का प्रस्ताव वापस◾भारत-चीन के बीच सीमा विवाद पर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने की मध्यस्थता की पेशकश◾चीन के साथ तनातनी पर रविशंकर प्रसाद बोले - नरेंद्र मोदी के भारत को कोई भी आंख नहीं दिखा सकता◾LAC पर भारत के साथ तनातनी के बीच चीन का बड़ा बयान , कहा - हालात ‘‘पूरी तरह स्थिर और नियंत्रण-योग्य’’ ◾बीते 24 घंटों में दिल्ली में कोरोना के 792 नए मामले आए सामने, अब तक कुल 303 लोगों की मौत ◾प्रियंका ने CM योगी से किया सवाल, क्या मजदूरों को बंधुआ बनाना चाहती है सरकार?◾राहुल के 'लॉकडाउन' को विफल बताने वाले आरोपों को केंद्रीय मंत्री रविशंकर ने बताया झूठ◾वायुसेना में शामिल हुई लड़ाकू विमान तेजस की दूसरी स्क्वाड्रन, इजरायल की मिसाइल से है लैस◾केन्द्र और महाराष्ट्र सरकार के विवाद में पिस रहे लाखों प्रवासी श्रमिक : मायावती ◾कोरोना संकट के बीच CM उद्धव ठाकरे ने बुलाई सहयोगी दलों की बैठक◾राहुल गांधी से बोले एक्सपर्ट- 2021 तक रहेगा कोरोना, आर्थिक गतिविधियों पर लोगों में विश्वास पैदा करने की जरूरत◾देश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा डेढ़ लाख के पार, अब तक 4 हजार से अधिक लोगों ने गंवाई जान◾राजस्थान में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 7600 के पार, अब तक 172 लोगों की मौत हुई ◾Covid-19 : राहुल गांधी आज सुबह प्रसिद्ध स्वास्थ्य पेशेवरों के साथ करेंगे चर्चा ◾कोरोना संकट के बीच असम-मेघालय में बाढ़ का कहर जारी, करीब 2 लाख लोग हुए प्रभावित◾दिल्ली में कोरोना के 412 नये मामले आए सामने, मृतक संख्या 288 हुई ◾LAC पर चीन से बिगड़ते हालात को लेकर PM मोदी ने की हाईलेवल मीटिंग, NSA, CDS और तीनों सेना प्रमुख हुए शामिल◾महाराष्ट्र : उद्धव सरकार पर भड़के रेल मंत्री पीयूष गोयल, कहा- राज्य में सरकार नाम की कोई चीज नहीं◾महाराष्ट्र : फडणवीस की CM ठाकरे को नसीहत, कहा- कोरोना से निपटने में मजबूत नेतृत्व का करें प्रदर्शन ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

रोजाना मंदिर जाने से दूर होंगे संकट, छुपे हैं ये चमत्कारी रहस्य

अधिकतर लोग रोजाना जल्दी सुबह उठकर मंदिर पूजा-पाठ करने जाते हैं। कुछ लोगों का तो नियमित रूप से मंदिर सुबह-शाम का जाने का रूटीन होता है। कुछ लोग मंदिर मन को शांत करने के लिए जाते हैं तो भगवान की पूजा करने के लिए कुछ लोग वहां जाते हैं। मंदिर का अर्थ होता है कि मन से दूर कोई स्‍थान। ऐसे में आप आंख बंद करके मौन रहकर बैठना सबसे लाभदायक होता है। मंदिर के पीछे छिपे विज्ञान और आध्यात्म को लोगों की समझ में नहीं आता है। कई लाभ मंदिर सुबह-सुबह जाने से होते हैं। 

लोग मंदिर अपनी बिजी जीवनशैली की वजह से नहीं जाते हैं। एेसे में अपने घरों में लोगों ने एक छोटा-सा मंदिर बना लिया है जिसमें वह सुबह-शाम पूजा करते हैं। इतना ही नहीं लोग भगवान को याद करने के साथ-साथ अपने छोटे से मंदिर में पूजा-पाठ भी करते हैं। ऐसा कहा जाता है कि घरों में मंदिर होने से सकारात्मक ऊर्जा घर में रहती है साथ ही सदस्य भी इस ऊर्जा से भरे रहते हैं। 

आध्यात्मिक लाभ के साथ-साथ स्वास्‍थ्य लाभ भी मंदिर से मिलते हैं। मंदिर से इन स्वास्‍थ्य लाभ के बारे में कुछ ज्यादा लोगों को नहीं पता है। बता दें कि एक नहीं बल्कि अनेक फायदे मंदिर जाने से होते हैं। 

एकाग्रता मंदिर जाने से बढ़ती है


कई लोग माथे पर चंदन का तिलक मंदिर जाकर लगाते हैं। दरअसल शीलता चंदन में होती है। चंदन का तिलक लगाकर अगर आप मौन बैठते हैं तो मन तो शांत होता है साथ में एकाग्रता की शक्ति भी बढ़ती है। 

ऊर्जा का स्तर बॉडी में ऊंचा होता है


कई चमत्कारी गुण मंदिर में मौजूद होते हैं। आज की भागदौड़ भरी जिंदगी की वजह से अधिकतर लोग तनाव से ग्रसित हो चुके हैं। ऐसे में तनाव को बहुत ही आसानी से मंदिर दूर करता है। हमें शांति और सुकून मानसिक तौर पर मंदिर का शांत माहौल और शंख की आवाज पहुंचाता है। रिसर्च में पाया गया है कि कई चमत्कारी गुण मंदिर के शंख से लेकर घंटा तक छिपे होते हैं। बॉडी एक्टिव और एनर्जी लेवल इनकी आवाज से बन जाता है। 

मंदिर बेहद पवित्र स्‍थान है


अक्सर आपने देखा होगा कि हमारे मन के अंदर मंदिर जाने के बाद एक नई ऊर्जा उत्पन्न होती है। ऐसा इसलिए होता है दरअसल हमें प्रभावित मंदिर की पवित्रता करती है। लोगों को प्ररेणा मंदिर अपने अंदर और बाहर की शुद्धता से मिलती है। इतना ही नहीं मंदिर का वातावरण भी शंख, घंटी से बजने से शुद्ध हो जाता है। मान्यता है कि आसपास मौजूद कीटाणु खत्म उनके आवाजों की तरंगों से हो जाती है। 

बेहतर नींद आएगी

मान्यता है कि भगवान से बात करने का जरिया मंदिर है। मंदिर में भगवान से लोग घंटों बैठाकर बाते करते हैं। ऐसा कहा जाता है कि किसी से भी अगर लोग अपने मन की बात कहते हैं तो उनका मन हल्का हो जाता है साथ ही वह पूरे दिन रिलैक्स महसूस करते हैं। ऐसे में तरह-तरह के विचार उनके मन में नहीं आते और उनका मन शांत रहता है जिससे नींद अच्छी आती है। 

राहत मिलती है अकेलेपन से


अक्सर देखा गया है कि लोग इस कदर अपने जीवन की परेशानियों से दुखी हो जाते हैं जिसके बाद वह अकेले रहना पसंद करते हैं। वह सोचते हैं कि उन्हें अब कोई नहीं देख रहा। ऐसे में मंदिर वही साधन है जहां पर लोगों को विश्वास होता है कि उन्हें भगवान देख रहा है और उनकी बात सुन रहा है। ऐस में आप अपने आपको कभी अकेला महसूस नहीं कर पाएंगे।