वैसे तो आज के दौर मैं आपने बहुत सी अजीबो-गरीब चीज़ो के बारे में सुना होगा और देखा भी होगा। आज हम आपको एक ऐसे ही जीव के बारे में बताने जा रहे है जिसे देख आप भी रह जायेगे दंग। जी हाँ , वैसे आपने मछली तो बहुत देखी होगी लेकिन आज हम आपको एक ऐसी मछली के बारे में बताने जा रहे है जो इन सब से अलग है।

Blue Parrot Fish

आप तो जानते है कि वैज्ञानिक अक्सर कुछ ना कुछ खोजते ही रखते हैं। ऐसे ही उन्होंने हाल ही उन्होंने पिछलने वाली एक ऐसी मछली खोजी है जिसके बारे में सुनकर आप दंग रह जाएंगे।

अभी हाल में वैज्ञानिकों ने अंजान मछली की 3 प्रकार की प्रजाति पाई है और उनको स्नेललफिश कहा है जो पानी के अंदर 8 KM नीचे पाई जाती हैं।

आपको बता दे कि इन्हें मछलियां को जादू कहा जा रहा है इन मछलियां की खास बात ये है कि ये मछली पानी की सतह पर आते ही पिघलने लगती है। बता दे कि ये मछलियां इसलिए पिघल जाती है क्योंकि ये मछलियां बहुत ही कमजोर होती हैं और जेली की तरह दिखाई देती हैं। इनका रंग भी अजीब होता है और ये आटाकामा गर्त में एक साहसिक यात्रा के दौरान मिली हैं। ये मछलियां प्रशांत महासागर में पाई गई हैं।

वैज्ञानिक ने इन मछलियों को पेरू और चिली के तट से 160 किमी दूर महासागर की तलहटी में खोजा है साथ ही वैज्ञानिक ने करीब साढ़े सात हजार मीटर नीचे जा कर भी इन मछलियों की फोटो खींची है।

भले ही ये मछलियां कमजोर दिखाई देती हों लेकिन ये पानी का दवाब आसानी से सह लेती हैं। इनकी मजबूत हड्डी इनके कानों की दांतों की होती है और इसी के सहारे ये अपना संतुलन बनाए रखती हैं। अगर ठंड की कमी होने लगे तो ये मछलियां पिघल जाती हैं।