BREAKING NEWS

Asia Cup 2022: रोमांचक मुकाबले में टीम इंडिया का शानदार प्रदर्शन, जापान को 2-1 से दी मात ◾ नैनो यूरिया संयंत्र का उद्घाटन कर पीएम मोदी, बोले- आत्मनिर्भरता में भारत की अनेक मुश्किलों का हल ◾ Gujarat News: देश में गुजरात का सहकारी आंदोलन एक सफल मॉडल, गांधीनगर में बोले अमित शाह ◾ पंजाब में AAP ने राज्यसभा की सीटों पर होने वाले चुनाव के लिए इन 2 नामों पर लगाई मुहर◾ हिजाब पहनकर कॉलेज आई छात्राओं को भेजा गया वापस, CM बोम्मई बोले- हर कोई करें कोर्ट के निर्देश का पालन ◾DGCA ने इंडिगो पर लगाया पांच लाख का जुर्माना, दिव्यांग बच्चे को नहीं दी थी विमान में सवार होने की अनुमति ◾J&K : सुरक्षाबलों ने आतंकवादी मॉड्यूल का किया भंडाफोड़, एक महिला सहित 3 गिरफ्तार, IED बरामद ◾ नवनीत राणा और रवि राणा का आज नागपुर में हनुमान चालीसा पाठ, क्या राज्य में फिर हो सकता है बवाल◾एलन मस्क ने दिया बयान- भारत में मिले बिक्री की मंजूरी, फिर टेस्ला का संयत्र लगाने का लेंगे फैसला◾ कथावाचक देवकी नंदन ने प्लेसेस ऑफ वर्शिप एक्ट के खिलाफ SC में दायर की याचिका, अब तक कुल 7 अर्जी दाखिल◾ WEATHER UPDATE: दिल्ली समेत देश के इन इलाकों में बारिश के आसार, यहां जानें मौसम का मिजाज◾ जमीयत की बैठक में भावुक हुए मुस्लिम धर्मगुरू मदनी, बोले- जुल्म सह लेंगे लेकिन वतन पर आंच नहीं आने देंगे...◾श्रीलंका में 50वें दिन भी जारी है प्रदर्शन, राष्ट्रपति के इस्तीफे की मांग को लेकर सड़कों पर बैठे हैं लोग ◾ऐसा काम नहीं किया जिससे लोगों का सिर शर्म से झुक जाए, देश सेवा में नहीं छोड़ी कोई कसर : PM मोदी ◾म्यांमार की मौजूदा स्थिति को लेकर हुई बैठक, रूस और चीन ने जारी नहीं होने दिया UN का बयान ◾BSF ने पाकिस्तानी तस्करों की साजिश को किया नाकाम, ड्रोन पर की गोलीबारी, भागने पर हुआ मजबूर ◾पंजाब : CM मान ने वापस ली 424 वीआईपी लोगों की सुरक्षा, जानिए क्यों लिया यह फैसला ◾कर्नाटक : शिक्षा मंत्री बी.सी. नागेश ने हिजाब विवाद पर दिया बयान, केवल यूनिफॉर्म की है अनुमति◾उत्तराखंड : CM धामी के लिए आज चुनाव प्रचार करेंगे मुख्यमंत्री योगी, टनकपुर में जनता से मांगेगे वोट ◾India Covid Update : पिछले 24 घंटे में आए 2,685 नए केस, 33 मरीजों की हुई मौत◾

सौभाग्य और पुण्य की प्राप्ति के लिए घर पर करें तुलसी विवाह

देवउठनी एकादशी को तुलसी एकादश भी कहा जाता है। तुलसी को साक्षात लक्ष्मी का निवास माना जाता है इसलिए कहा जाता है कि जो भी इस मास में तुलसी के समक्ष दीप जलाता है उसे अत्यन्त लाभ होता है।

हिंदू धर्म में तुलसी विवाह हर साल कार्तिक महीने की देवउठनी एकादशी पर मनाई जाती है। देवउठनी एकादशी पर भगवान विष्णु चार महीने की निद्रा के बाद जागते हैं। इसके बाद सभी तरह के शुभ कार्य आरंभ हो जाते हैं।

इस दिन तुलसी विवाह का भी आयोजन किया जाता है। तुलसी जी का विवाह शालिग्राम से कराया जाता है। मान्यता है कि इस प्रकार के आयोजन से सौभाग्य की प्राप्ति होती है। तुलसी शालिग्राम का विवाह करने से वही पुण्य प्राप्त होता है जो माता−पिता अपनी पुत्री का कन्यादान करके पाते हैं। 

तुलसी विवाह की पूजन विधि

जिस गमले में तुलसी का पौधा लगा है उसे गेरु आदि से सजाकर उसके चारों ओर मंडप बनाकर उसके ऊपर सुहाग की प्रतीक चुनरी को ओढ़ा दें। इसके अलावा गमले को भी साड़ी में लपेट दें और उसका श्रृंगार करें। इसके बाद सिद्धिविनायक श्रीगणेश सहित सभी देवी−देवताओं और श्री शालिग्रामजी का विधिवत पूजन करें। एक नारियल दक्षिणा के साथ टीका के रूप में रखें और भगवान शालिग्राम की मूर्ति का सिंहासन हाथ में लेकर तुलसीजी की सात परिक्रमा कराएं। इसके बाद आरती करें।

आरती के बाद विवाह में गाए जाने वाले मंगलगीत के साथ विवाहोत्सव पूर्ण किया जाता है।

ऐसी मान्यता है कि तुलसी विवाह करवाने से भक्तों को भगवान विष्णु का आशीर्वाद मिलता है। कहा जाता है कि तुलसी विवाह करवाने से भगवान विष्णु प्रसन्न होते हैं।