पुराने जमाने की बात की जाए तो बैंकों जैसी कोई व्यवस्था नहीं थी और लोग अपना धन या तो साहूकारों के पास रखते थे या फिर घर में ही। ऐसे में धन लुटने का काफी खतरा होता था। लोग साहूकारों पर भी इतना भरोसा नहीं कर पाते थे की उन्हें वापस अपना धन मिल पायेगा भी या नहीं। ऐसे में लोग अपने घरों में ही खजाना गाड़ दिया करते थे ताकि उसे बचा के रखा जा सके।

रहस्यमयी खजाने

इसी तरह सालों पहले हीरे जवाहरात और सोने से भरे कई जहाज पानी में डूब गए जिनका कभी भी पता नहीं चल सका। आज ऐसे ही अरबो-खरबों का खजाना जमीन और पानी के नीचे दफन है जिन्हें निकाला जाना अभी बाकी है। सदियों से इस तरह के खजाने कई जगह निकलें है पर आज हम आपको कुछ ऐसी खोजों के बारे में बता रहे है जब लोगों ने अनजाने में ही ऐसे खजाने ढूंढ निकाले जिसे देखकर जमाना चौंक गया।

रहस्यमयी खजाने

1.- 1992 में इंग्लैंड के होक्सेन इस छोटे से गांव में एक पीटर पोर्ट नामक किसान का हथोड़ा उनकी ही खेत में कहीं गुम हो गया जो नहीं मिल रहा था इसीलिए पीटर उसे खोजने के लिए अपने एक दोस्त को मेटल डिटेक्टर लेकर अपने खेत में बुलाया पर मेटल डिटेक्टर से खोजबीन करने के बाद उन्हें वह मिला जिसकी उन्हें उम्मीद भी नहीं थी।

रहस्यमयी खजाने

उन्हें जमीन के नीचे कई सालों से दबे खजाना मिला जिस पर चांदी के चम्मच सोने के गहने और सोने के सिक्के भी शामिल थे। ये खजाना रोमन साम्राज्य यानि की पांचवी और चौथी शताब्दी के हुआ करता था जिसकी कीमत 25 करोड़ तक आंकी गई बाद में खजाना ब्रिटिश म्यूजियम में रखा गया है जिसमें उस किसान का हथोड़ा भी शामिल है।

रहस्यमयी खजाने

2.-1985 में पोलैंड के एक गांव जिसका नाम सरोडसलास्का का था वहां मिला यहाँ एक बिल्डिंग को तोड़कर उसे फिर से खड़ा किया जाना था इसीलिए जब जमीन को और गहराई तक खोदा गया तो मजदूरों को उसकी देखी 3000 चांदी के सिक्के सिक्कों से भरा गोदाम विला चौथी शताब्दी का हो सकता है।

रहस्यमयी खजाने

अगले कुछ सालों के बाद जब ऐसा ही एक और काम हो रहा था तो उस जगह और भी ज्यादा मात्रा में सोने और चांदी के सिक्के और बाकी खजाना भी मिला जिसमें हीरे जवाहरात और सोने का 1 क्रौन तक शामिल था इस खजाने का सही सही कीमत किसी को भी नहीं पता पर कहा जाता है कि यहां खजाना कम से कम 14 सौ करोड़ भारतीय रुपयों का हो सकता है।

रहस्यमयी खजाने

3.- 2015 में इजराइल के बंदरगाह के समुद्री तट पर कुछ गोताखोरों ने जानकारी पाने के इरादे से गोता लगा रहे थे उन्हें पानी के अंदर एक सोने का सिक्का मिला इसीलिए उन्होंने वहां कुछ और जगहों के भी खोज बिन की तो उन्हें वहां और भी सिक्के मिले तब उन्हें लगने लगा कि यहां कोई खजाना डूबा हुआ है।

रहस्यमयी खजाने

इसीलिए गोताखोरों इजराइली पुरातत्व विभाग को इसके बारे में जानकारी दे दी पुरातत्व विभाग ने मेटल डिटेक्टर से यहां पर खोजबीन की तो यहां पर 2000 से भी ज्यादा सोने के सिक्के मिले जो अलग-अलग मजहब से और अलग-अलग समय से ताल्लुक रखते थे जो कि दसवीं और बारहवीं सदी के हो सकते हैं।

दुनिया की 5 सबसे आलिशान शादियाँ जिसमे खर्च की गयी बेशुमार दौलत