BREAKING NEWS

केजरीवाल आज करेंगे पंजाब में ‘आप’ के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार की घोषणा◾गणतंत्र दिवस झांकी विवाद : ममता के बाद स्टालिन ने PM मोदी का लिखा पत्र ◾भारत वर्तमान ही नहीं बल्कि अगले 25 वर्षों के लक्ष्य को लेकर नीतियां बना रहा है : PM मोदी ◾उद्योग जगत ने WEF में PM मोदी के संबोधन का किया स्वागत ◾ कोरोना से निपटने के योगी सरकार के तरीके को लोग याद रखेंगे और भाजपा के खिलाफ वोट डालेंगे : ओवैसी◾गाजीपुर मंडी में मिले IED प्लांट करने की जिम्मेदारी आतंकी संगठन MGH ने ली◾दिल्ली में कोविड-19 के मामले कम हुए, वीकेंड कर्फ्यू काम कर रहा है: सत्येंद्र जैन◾कोविड-19 से उबरने का एकमात्र रास्ता संयुक्त प्रयास, एक दूसरे को पछाड़ने से प्रयासों में होगी देरी : चीनी राष्ट्रपति ◾ ओवैसी की पार्टी AIMIM ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी सूची, 8 सीटों पर किया ऐलान◾दिल्ली में कोरोना का ग्राफ तेजी से नीचे आया, 24 घंटे में 12527 नए केस के साथ 24 मौतें हुई◾अखिलेश के ‘अन्न संकल्प’ पर स्वतंत्र देव का पलटवार, ‘गन’ से डराने वाले किसान हितैषी बनने का कर रहे ढोंग ◾12-14 आयु वर्ग के बच्चों के लिए फरवरी अंत तक हो सकती है टीकाकरण की शुरुआत :NTAGI प्रमुख ◾ अबू धाबी में एयरपोर्ट के पास ड्रोन से अटैक, यमन के हूती विद्रोहियों ने UAE में हमले की ली जिम्मेदारी ◾कोरोना संकट के बीच देश की पहली एमआरएनए आधारित वैक्सीन, खास तौर पर Omicron के लिए कारगर◾CM चन्नी के भाई को टिकट न देने से सिद्ध होता है कि कांग्रेस ने दलित वोटों के लिए उनका इस्तेमाल किया : राघव चड्ढा◾उत्तराखंड : हरीश रावत बोले-हरक सिंह मांग लें माफी तो कांग्रेस में उनका स्वागत◾इस साल 75वें गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पर 75 एयरक्राफ्ट उड़ान भरेंगे,आसमान से दिखेगी भारत की ताकत◾पंजाब : AAP की ओर से मुख्यमंत्री पद के लिए उम्मीदवार की घोषणा कल करेंगे केजरीवाल◾सम्राट अशोक की तुलना मामले ने बढ़ाई BJP-JDU में तकरार, जायसवाल ने पढ़ाया मर्यादा का पाठ◾पीएम की सुरक्षा में चूक की जांच कर रहीं जस्टिस इंदु मल्होत्रा को मिली खालिस्तानियों की धमकी◾

क्यों बनाती हैं महिलाएं आटा गूंथने के बाद गलियों से निशान

हर घर में रोटी बनाने के लिए आटा गूथा जाता है। लेकिन आटा गूथने के बाद महिलाएं उसमें अपनी उंगलियों से निशान बना देती हैं। निशान बनाने के लिए गुथे आटे में उंगियों को दबा दिया जाता है जिससे निशान बन जाता है। आमतौर पर हम इसे साधारण सी प्रक्रिया मान लेते हैं। लेकिन ऐसा नहीं है इसके पीछे एक विशेष मान्यता है। 

आपने अक्सर देखा होगा खासकर महिलाएं रोटी पकाने से पहले जब आटा गूंथतीं हैं तो अंत में उस पर उंगलियों से कुछ निशान बना देती हैं। और फिर कई महिलाएं अपने हाथ में लगा हुआ आटा, गूथे हुए आटे पर चिपकाती हैं।

हिलाओं के द्वारा गुथे हुए आटे पर उंगलियों के निशान बनाने के पीछे किसी भी तरह का वैज्ञानिक कारण नही हैं बल्कि हमारी एक प्राचीन मान्यता है।

दरअसल इसके पीछे कोई वैज्ञानिक कारण नहीं है बल्कि हमारी एक प्राचीन मान्यता है।हमारे सनातन धर्म में पितरों को देने के लिए आटे को गूथकर एक पिंड बनाया जाता है। पिंड का सम्बंध पितरों से जुड़ा हुआ है। पिंडदान के लिए जब आटे की लोई बनाई जाती है तो वह बिल्कुल गोल होती है। इस आटे की लोई को पिंड कहते हैं। परिजन उसे बडे़ ही श्रद्धाभाव से पिंडदान करते है। हमारे धर्म शास्त्रों में बताया गया है कि पितरों को पिंडदान करने से उनका शुभ आर्शीवाद मिलता है। उंगलियों का निशान गुथे आटे में बनाने के पीछे यही कारण है। कहा जाता है कि अगर यह निशान न बनाया जाय तो उसे अशुभ माना जाता है।

मान्यता है कि अगर किसी भी पदार्थ को गुथकर जब पिंड बना दिया जाता है वह पितरों का हक कहलाता है। गूंथा हुआ आटा पूर्वजों के लिए है। मान्यता है कि इस तरह का आटा देखकर पूर्वज किसी भी रूप में आते हैं और उसे ग्रहण करते हैं।

लेकिन जब हम अपने लिए और जीवित प्राणियों के लिए आटा गूंथते हैं तो उसे गोल ना छोड़ कर, उसमें उंगलियों के निशान बना दिए जाते हैं। उंगलियों के निशान गूंथे हुए आटे पर इस बात का प्रमाण हैं कि यह आटा पूर्वजों के लिए नहीं बल्कि जीवित प्राणियों एवं मनुष्य के लिए । अगर आटे पर उंगलियों के निशान रहते हैं , तो वह पिंड का रूप धारण नही करता । बस यही कारण हैं कि गुथे हुए आटे पर उंगलियों के निशान बना दिये जाते हैं ।

गुथे आटे में उंगलियों का निशान बनाने का मनोवैज्ञानि कारण भी है। कहा जाता है कि हम किसी भी कार्य को करने के बाद उसमें अपनी छाप छोड़ना चाहते हैं। ऐसे में महिलाएं आटा गूथने के बाद उसमें अपनी उंगलियों के निशान बना देती है। चाहे वह बाद में बेलते समय समाप्त ही क्यों न हो जाय।