हाल ही में एक वीडियो में कथित रूप से राज्य द्वारा संचालित नील रतन सरकार मेडिकल कॉलेज ऐंड हॉस्पिटल की दो नर्सों को मंगलवार के दिन पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। नर्सेस और नर्सिंग छात्रों के एक छात्रवास के सामने से प्लास्टिक के थैलों में 16 पिल्लों के अवशेष पाए जाने के मामले में पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार कर लिया था ।

हत्या करने वाली नर्सिंग छात्राओं को मिली जमानत

अब वहीँ कोलकाता के एनआरएस अस्पताल में 16 पिल्लों की पीट-पीटकर हत्या मामले में गिरफ्तार की गई दोनों नर्सिंग छात्राओं को बुधवार को बैंकसाल कोर्ट में पेश किया गया जहां उन्हें जमानत मिल गई है।

 

पुलिस के हाथों गिरफ्तार की गई नर्सिंग की दोनों छात्राओं के साथ उन पांचों छात्राओं को कॉलेज से निकाल दिया गया है। उन्हें जल्द से जल्द हॉस्टल छोडने को कहा गया है। जबकि पिल्लो की पीट-पीटकर हत्या करने वाली दोनों छात्राओं मौतुसी मंडल और सोमा बर्मन को तो सस्पेंड ही किया गया है।

इसके अलावा अन्य तीन छात्राओं को फिलहाल क्लास में आने से प्रतिबंधित कर दिया है साथ में हॉस्टल छोडऩे को कहा गया है। यह उस दौरान वीडियो बना रही थी। अस्पताल के चेयरमैन और डिप्टी सुपर द्विपायन विश्वास ने बुधवार को इस बात की जानकारी दी और बताया कि अस्पताल की ओर से जांच कमेटी का गठन किया गया था जिसमें बुधवार की शाम अपनी रिपोर्ट पेश की इसमें इन पांचो छात्राओं को मेडिकल कॉलेज से निकालने को कहा गया है।

इनमें से एक का नाम मौतूसी मंडल (21साल) और दूसरी का सोमा बर्मन (21 साल) है। मौतूसी बांकुड़ा की रहने वाली है जबकि सोमा काकद्वीप की निवासी हैं। ये दोनों एनआरएस अस्पताल में नर्सिंग की छात्रा हैं। ये सभी छात्राएं नर्स हॉस्टल में रहती हैं। पुलिस पूछताछ के दौरान इन्होंने अपना गुनाह स्वीकार कर लिया है। इन्होंने बताया कि इस पूरी साजिश में 3 लोग शमिल हैं। वहीं मंगलवार की सुबह पुलिस की टीम ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर 5 लोगों से पूछताछ की थी।

सोशल मीडिया पर पशु प्रेमियों में एक बार फिर से गुस्से की लहर फूट पड़ी है।साथ ही लोगों का कहना है कि पुलिस ने जानबूझकर ऐसी धाराओं के तहत मामला दर्ज किया ताकि उन नर्सिंग छात्राओं को जमानत मिल जाए। लोगों ने किए तरह-तरह के कमेंट्स…

1#

2#

3#

4#