मुरैना : शहर में ऑफीसर कॉलोनी क्षेत्र स्थित अग्रवाल नर्सिंग होम मे एक प्रसूता की इलाज के दौरान मौत होने के बाद परिजनों ने हंगामा कर दिया। परिजनों का कहना है कि प्रसूता की मौत अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही के कारण हुई है। घटना की खबर मिलते ही पुलिस थाना सिटी कोतवाली से सब इंस्पेक्टर नागर एवं सीएसपी सुरेन्द्र सिंह तोमर मौके पर पहुंच गए। परिजनों ने पुलिस को भी अपनी आप बीती सुनाई।

पुलिस ने घटना की जांच प्रारंभ कर दी है। जानकारी के अुनसार अग्रवाल नर्सिंग होम पर कल रात शांताबाग निवासी प्रसूता पूजा तोमर पत्नी गौरव तोमर को डिलेवरी के लिए भर्ती कराया गया था, जहां पूजा ने एक बच्ची को जन्म दिया था, जो नोरमल डिलेवरी से हुई, डिलेवरी होने के बाद पूजा के पेट में दर्द होने लगा था, तो परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन को सूचना दी।

इस दौरान पूजा को एक इजेक्शन लगाया गया, इसके बाद उसे होश नहीं आया। परिजनों ने चिकित्सक को खबर की और वह देखने भी आए, लेकिन प्रसूता को फिर भी होश नहीं आया, काफी प्रयास के बाद उसे मृत घोषित कर दिया गया। परिजनों का कहना था कि इंजेक्शन देख भालकर नहीं लगाया गया, इसके कारण पूजा की मौत हो गई, जबकि अस्पताल प्रबंधन इस बात को सिरे से नकार रहा है।

प्रसूता की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा खडा कर अस्पताल प्रबंधन के विरूद्ध कार्यवाही की मांग करने लगे। पुलिस उन्हें समझा पाती उससे पहले परिजनों और परिजनों के रिश्तेदार आवेश में आ गये और उन्होंने अस्पताल के बाहर हंगामा खडा कर दिया।

इस बीच एक वरिष्ठ पत्रकार के साथ परिजनों ने काफी झूमा झपटी कर दी, लेकिन पुलिस की दखल के कारण मामला टल गया। पुलिस ने इस मामले को गंभीर से लेते हुए मृतिका पोस्ट मार्टम कराया और शव परिजनों को सौंप दिया तथा पुलिस ने इस प्रकरण में मर्ग कायम कर विवेचना प्रारंभ कर दी है।

अधिक लेटेस्ट खबरों के लिए यहां क्लिक  करें।