दुनिया में अगर ऊँची इमारतों की बात की जाए तो सबसे पहले दुबई स्थित बुर्ज खलीफा की तस्वीरें सामने आने लगती है पर दुनिया में तेजी से हो रही ऊँचे भवन निर्माण धीरे धीरे अब बुर्ज को चुनौती देने लगे है। आईये नजर डालते है दुनिया की इन खास इमारतों में जो अपनी गगन चुम्बी उंचाई के लिए दुनियाभर में जानी जाती है।

दुनिया के 6 सबसे ऊँची इमारत

6. गोल्डिन फाइनेंस 117 (टियांजिन, चीन):

सबसे ऊँची इमारतयह भवन निर्माण 2009 में शुरू हुआ था और यह 2015 तक पूरा होने की उम्मीद है और 2016 तक सबसे ऊंची इमारतों की सूची में होगा। इस इमारत में जमीन के ऊपर 128 मंजिल हैं और जमीन के स्तर से नीचे 4 मंजिल हैं। इसकी ऊंचाई 57 9 मीटर या 1 9 5 9 फुट लंबा है

5. पिंग वन अंतर्राष्ट्रीय वित्त टॉवर केंद्र 1 (शेन्ज़ेन, चीन):

सबसे ऊँची इमारतये भवन चीन में स्थित है इसका निर्माण 2010 में शुरू किया गया था और 2016 तक पूरा होने की उम्मीद है और 2016 तक इसकी सबसे ऊंची इमारतों में से एक का दर्जा दिया जाएगा। इसकी ऊंचाई 660 मीटर या 2165 फुट लंबा है। इसमें भूगर्भ स्तर से ऊपर 115 मंजिल हैं और जमीन के स्तर से नीचे 5 मंजिल हैं।

4. मक्का रॉयल क्लॉक टॉवर होटल (मक्का, सऊदी अरब):

सबसे ऊँची इमारत इसका निर्माण 2004 में शुरू किया गया था और यह वर्ष 2010 में पूरा हुआ था। इसकी ऊंचाई 601 मीटर या 1 9 72 फीट लंबा है। इसकी जमीनी स्तर से ऊपर 12 मंजिल हैं और जमीनी स्तर के नीचे 3 मंजिल हैं। इमारत के मालिक सऊदी बिन लादेन समूह हैं यह 2016 तक सबसे ऊंची इमारत में से एक होगा।

3. शंघाई टॉवर (शंघाई, चीन):

सबसे ऊँची इमारतये इमारत चीन में स्थित है। इसका निर्माण नवंबर 2008 में शुरू किया गया था और यह 2015 तक पूरा होने की उम्मीद है। इसकी कुल ऊंचाई 632 मीटर या 2073 फीट लंबा है। इसकी जमीनी स्तर से ऊपर 128 मंजिलें हैं और जमीनी स्तर से नीचे 5 मंजिल हैं। यह होटल या कार्यालय के उद्देश्य के लिए है

2. इंडिया टॉवर (मुंबई, भारत):

सबसे ऊँची इमारतइसका निर्माण 2010 में शुरू किया गया था और इसे वर्ष 2011 में फिर से रखा गया था। यह भारत का एक सुपर लम्बी भवन है और इसकी ऊंचाई 718 मीटर या 2362 फुट लंबा है। इसमें 126 मंजिल हैं यह निश्चित रूप से 2016 तक दुनिया की सबसे ऊंची इमारतों में जगह बनाने जा रहा है।

1. बुर्ज खलीफा (दुबई, संयुक्त अरब अमीरात):

सबसे ऊँची इमारतबुर्ज खलीफा दुबई, संयुक्त अरब अमीरात में स्थित है। इसका निर्माण वर्ष 2004, सितंबर में शुरू हुआ था और वर्ष 2009 अक्टूबर में पूरा हुआ था। लेकिन यह इमारत आधिकारिक तौर पर वर्ष 2010 में खोला गया था। इसे दुनिया की सबसे ऊंची मानव निर्मित भवनों के रूप में जाना जाता है। इसकी ऊंचाई 828 मीटर या 2717 फुट लंबा है। इसमें जमीनी स्तर से ऊपर 163 मंजिल हैं और जमीनी स्तर से 1 मंजिल नीचे है।