BREAKING NEWS

लॉकडाउन के बीच, आज से पटरी पर दौड़ेंगी 200 नॉन एसी ट्रेनें, पहले दिन 1.45 लाख से ज्यादा यात्री करेंगे सफर ◾तनाव के बीच लद्दाख सीमा पर चीन ने भारी सैन्य उपकरण - तोप किये तैनात, भारत ने भी बढ़ाई सेना ◾जासूसी के आरोप में पाक उच्चायोग के दो अफसर गिरफ्तार, 24 घंटे के अंदर देश छोड़ने का आदेश ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कहर जारी, आज सामने आए 2,487 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 67 हजार के पार ◾दिल्ली से नोएडा-गाजियाबाद जाने पर जारी रहेगी पाबंदी, बॉर्डर सील करने के आदेश लागू रहेंगे◾महाराष्ट्र सरकार का ‘मिशन बिगिन अगेन’, जानिये नए लॉकडाउन में कहां मिली राहत और क्या रहेगा बंद ◾Covid-19 : दिल्ली में पिछले 24 घंटे में 1295 मामलों की पुष्टि, संक्रमितों का आंकड़ा 20 हजार के करीब ◾वीडियो कन्फ्रेंसिंग के जरिये मंगलवार को पीएम नरेंद्र मोदी उद्योग जगत को देंगे वृद्धि की राह का मंत्र◾UP अनलॉक-1 : योगी सरकार ने जारी की गाइडलाइन, खुलेंगें सैलून और पार्लर, साप्ताहिक बाजारों को भी अनुमति◾श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में 80 मजदूरों की मौत पर बोलीं प्रियंका-शुरू से की गई उपेक्षा◾कपिल सिब्बल का प्रधानमंत्री पर वार, कहा-PM Cares Fund से प्रवासी मजदूरों को कितने रुपए दिए बताएं◾कोरोना संकट : दिल्ली सरकार ने राजस्व की कमी के कारण केंद्र से मांगी 5000 करोड़ रुपए की मदद ◾मन की बात में PM मोदी ने योग के महत्व का किया जिक्र, बोले- भारत की इस धरोहर को आशा से देख रहा है विश्व◾'मन की बात' में PM मोदी ने देशवासियों की सेवाशक्ति को कोरोना जंग में बताया सबसे बड़ी ताकत◾तमिलनाडु सरकार ने 30 जून तक बढ़ाया लॉकडाउन, सार्वजनिक परिवहन की आंशिक बहाली की दी अनुमति ◾कोविड-19 : देश में संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 82 हजार के पार, महामारी से 5164 लोगों ने गंवाई जान ◾विश्व में कोरोना मरीजों का बढ़ोतरी का सिलसिला जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 60 लाख के पार◾महाराष्ट्र में लॉकडाउन बढ़ाए जाने के बाद शरद पवार ने CM उद्धव ठाकरे से की मुलाकात ◾दिल्ली में कोविड-19 के 1163 नए मामले की पुष्टि, संक्रमितों की संख्या 18 हजार को पार◾देशभर में 30 जून तक बढ़ा लॉकडाउन, 8 जून से रेस्टोरेंट, मॉल और धार्मिक स्थल खोलने की मिली अनुमति ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

45 मिनट खराब खेल के कारण हम टूर्नामेंट से बाहर हो गये : कोहली

मैनचेस्टर : भारतीय कप्तान विराट कोहली ने विश्व कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों हार के लिये शीर्ष क्रम की नाकामी को ही जिम्मेदार ठहराया और कहा कि 45 मिनट के खराब खेल के कारण टूर्नामेंट में शुरू से की गयी कड़ी मेहनत पर पानी फिर गया। 

न्यूजीलैंड ने भारत के सामने 240 रन का लक्ष्य रखा था लेकिन उसका शीर्ष क्रम लड़खड़ा गया। दस ओवर के बाद उसका स्कोर चार विकेट पर 24 रन था तथा आउट होने वाले बल्लेबाजों में रोहित शर्मा और कोहली भी शामिल थे। इसके बाद रविंद्र जडेजा (77) और महेंद्र सिंह धोनी (50) ने उम्मीद जगायी लेकिन भारत 221 रन पर आउट हो गया। कोहली ने मैच के बाद कहा, ‘‘जब आप पूरे टूर्नामेंट में अच्छा खेलते हो और फिर 45 मिनट की खराब क्रिकेट के कारण बाहर हो जाते हो तो बहुत बुरा लगता है। इसे पचा पाना मुश्किल है लेकिन न्यूजीलैंड को श्रेय जाता है। ’’

 

उन्होंने कहा, ‘‘हमने बहुत अच्छी गेंदबाजी की। हमारे सामने जो लक्ष्य था उसे हासिल किया जा सकता था लेकिन पहले आधे घंटे में उन्होंने जिस तरह से गेंदबाजी की उससे अंतर पैदा किया। न्यूजीलैंड के गेंदबाजों को श्रेय जाता है। उन्होंने वास्तव में नयी गेंद से बेहतरीन गेंदबाजी की। ’’ बारिश से प्रभावित यह मैच दो दिन तक चला। भारत ने मंगलवार को न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों को खुलकर नहीं खेलने दिया। कोहली ने भारतीय गेंदबाजों तथा जडेजा और धोनी की भी तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘‘हम जानते थे कि कल का दिन हमारे लिये अच्छा था और हमें उस पर गर्व है। जडेजा ने पिछले दो मैचों में शानदार प्रदर्शन किया। वह बेहद स्पष्ट रवैये के साथ क्रीज पर उतरा था। धोनी के साथ उसने अच्छी साझेदारी निभायी। यह छोटे छोटे अंतर वाला मैच रहा। ’’

कोहली ने कहा, ‘‘शाट का हमारा चयन बेहतर हो सकता था लेकिन हमने पूरे टूर्नामेंट में अच्छी क्रिकेट खेली। न्यूजीलैंड ने महत्वपूर्ण क्षणों में साहसिक खेल दिखाया और वे जीत के हकदार थे। ’’ न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने कहा कि यह बेहतरीन मैच था जिसमें उनकी टीम की भारत को दबाव में रखने की रणनीति में सफल रही। विलियमसन ने कहा, ‘‘एक बेहतरीन सेमीफाइनल जो दो दिन तक चला और हम बहुत खुश हैं कि परिणाम हमारे अनुकूल रहा। यह वास्तव में कड़ा मैच था। दोनों टीमों को बड़े स्कोर वाले मैच की उम्मीद थी। हम केवल 240 ही बना सके लेकिन भारत को दबाव में रखा। हर किसी ने काफी योगदान दिया।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘ हम भारत पर दबाव बनाने के लिये सही क्षेत्र में गेंद करना चाहते थे। हम शुरू में कुछ विकेट हासिल करना चाहते हैं और गेंदबाजों ने शानदार शुरुआत दिलायी। हमें अधिक से अधिक समय तक खेल में बने रहने की जरूरत थी। ’’ 

विलियमसन ने स्वीकार किया कि जडेजा और धोनी ने एक बार उनकी टीम को चिंता में डाल दिया था। उन्होंने कहा, ‘‘जिस तरह से जडेजा और धोनी गेंद को हिट कर रहे थे वे जीत भी सकते थे लेकिन हमारा क्षेत्ररक्षण शानदार रहा। हम सेमीफाइनल में अंडरडॉग के रूप में आये थे और यहां कुछ भी हो सकता था। अच्छा लगा कि लड़कों ने दो दिन तक जुझारूपन बनाये रखा।’’ 

मैट हेनरी ने भारतीय शीर्ष क्रम लड़खड़ाया और 37 रन देकर तीन विकेट लिये। उन्हें मैन आफ द मैच चुना गया। 

हेनरी ने कहा, ‘‘हमने इस पर बात की कि हमें अपनी तरफ से जितना सर्वश्रष्ठ प्रदर्शन कर सकते हैं, हमें वह करना चाहिए। हमें खुद पर विश्वास था। हम जानते थे कि हमें अच्छी गेंदबाजी करनी ही होगी। उनके पास विश्वस्तरीय बल्लेबाज थे और हम जानते थे कि जीत दर्ज करने के लिये हमें उन्हें आउट करना होगा। ’’