BREAKING NEWS

महाराष्ट्र में कोरोना की सबसे बड़ी उछाल , 7,074 नए मामलों के साथ संक्रमितों का आंकड़ा 2 लाख के पार ◾विधान परिषद के सभापति के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद सीएम नीतीश ने भी कराया कोविड-19 टेस्ट ◾‘सेवा ही संगठन’ कार्यक्रम में बोले पीएम मोदी : राहत कार्य सबसे बड़ा ‘सेवा यज्ञ’ ◾लॉकडाउन के दौरान UP में हुए सराहनीय सेवा कार्यों के लिए सरकार और संगठन बधाई के पात्र : PM मोदी ◾पीएम मोदी और घायल सैनिकों की मुलाकात वाले हॉस्पिटल को फर्जी बताने के दावे की सेना ने खोली पोल◾दिल्ली में 24 घंटे के दौरान 2505 नए कोरोना पोजिटिव मामले आए सामने और 81 लोगों ने गंवाई जान ◾कुख्यात अपराधी विकास दुबे के नाराज माता - पिता ने कहा 'मार डालो उसे, जहां रहे मार डालो' ◾ममता सरकार ने दिल्ली, मुंबई, चेन्नई व तीन अन्य शहरों से कोलकाता के लिए यात्री उड़ानों पर लगाया बैन◾देश के होनहारों को प्रधानमंत्री ने ‘आत्मनिर्भर भारत ऐप नवप्रवर्तन चुनौती’ में भाग लेने के लिए किया आमंत्रित◾रणदीप सुरजेवाला ने PM पर साधा निशाना, बोले-चीन का नाम लेने से क्यों डरते हैं मोदी◾जम्मू-कश्मीर : कुलगाम में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में एक आतंकवादी को किया ढेर ◾कांग्रेस का प्रधानमंत्री से सवाल, कहा- PM मोदी बताएं कि क्या चीन का भारतीय जमीन पर कब्जा नहीं◾कानपुर मुठभेड़ : विकास दुबे को लेकर UP प्रशासन सख्त, कुख्यात अपराधी का गिराया घर◾नेपाल : कम्युनिस्ट पार्टी की बैठक टली, भारत विरोधी बयान देने वाले PM ओली के भविष्य पर होना था फैसला◾देश में कोरोना वायरस के एक दिन में 23 हजार से अधिक मामले आये सामने,मृतकों की संख्या 18,655 हुई ◾चीनी घुसपैठ पर लद्दाखवासियों की बात को नजरअंदाज न करे सरकार, देश को चुकानी पड़ेगी कीमत : राहुल गांधी◾धर्म चक्र दिवस पर बोले PM मोदी- भगवान बुद्ध के उपदेश ‘विचार और कार्य’ दोनों में देते हैं सरलता की सीख ◾World Corona : दुनियाभर में वैश्विक महामारी का हाहाकार, संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 10 लाख के पार ◾पूर्वी लद्दाख गतिरोध : चीन के साथ तनातनी के बीच भारत को मिला जापान का समर्थन◾ट्रेनों के निजीकरण पर रेलवे का बयान : नौकरियां नहीं जाएंगी, लेकिन काम बदल सकता है ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

महामारी के बीच, BCCI ने कहा- प्रशंसकों की सुरक्षा पहली प्राथमिकता, खाली स्टेडियम में खेलने को तैयार

केंद्रीय खेल मंत्री किरण रिजिजू ने साफ कर दिया है कि मौजूदा स्थिति में देश को खाली स्टेडियमों में बिना दर्शकों के साथ खेल गतिविधियों के लिए तैयार रहना चाहिए। इसे सुनकर सबसे पहले बात आईपीएल की आती है। बीसीसीआई 25 सितंबर से एक नवंबर के बीच आईपीएल के 13वें सीजन को आयोजित करने को लेकर विचार कर रही है। बोर्ड ने कहा है कि जैसा खेल मंत्री ने कहा है कि प्रशंसकों की सुरक्षा सबसे पहले है वही बात बोर्ड मानता है।

बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा है कि जब लाइव स्पोर्ट वापस लौटेगा तो जाहिर सी बात है कि प्रशंसकों की सुरक्षा प्राथमिकता होगी और क्रिकेट इससे अलग नहीं है। उन्होंने कहा कि गेट मनी प्राथमिकता नहीं होगी और ब्रॉडकास्टिंग से आने वाला रेवेन्यू काफी होगा। उन्होंने कहा, ऐसे मुश्किल समय में गेट मनी (प्रवेश शुल्क) को लेकर कोई भी चिंतित नहीं है। प्रशंसकों की सुरक्षा निश्चित तौर पर प्राथमिकता है। जब क्रिकेट होगा, ब्रॉडकास्ट रेवेन्यू बीसीसीआई के लिए पहला रेवेन्यू होगा और फिर राज्य सरकार का पैसा। आईपीएल में भी यही है। उन्होंने कहा, कोई भी गेट मनी को हां नहीं कहेगा। कोई भी प्रशंसकों की सुरक्षा को ताक पर रखकर गेट मनी को प्राथमकिता देने की वकालत नहीं करेगा। जो लोग मैचों का आयोजन करते हैं वह बुनियादी सिद्धांत को समझते हैं। 

वहीं, खेल मंत्री ने बयान दिया है और वह सरकार की नुमाइंदगी करते हैं इसलिए सभी को इस बात का ध्यान रखना चाहिए और स्थिति की गंभीरता को समझना चाहिए। रिजिजू ने साफ कर दिया था कि खेल गतिविधियां धीरे-धीरे शुरू होंगी अभी सिर्फ खिलाड़ियों को ट्रेनिंग करने की इजाजत दी गई है। उन्होंने कहा था कि आईपीएल पर फैसला सरकार द्वारा कोरोना वायरस की स्थिति को परखने के बाद लिया जाएगा। उन्होंने साफ कर दिया था कि खिलाड़ियों को दर्शकों के बिना खेलने के लिए तैयार रहना चाहिए।

रिजिजू ने एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था कि भारत में सरकार को फैसला लेना होता है और सरकार स्थिति को देखकर फैसला लेगी। हम स्वास्थ्य को सिर्फ इसलिए जोखिम में नहीं डाल सकते कि हमें टूर्नामेंट कराने हैं। हमारा ध्यान इस समय कोविड-19 से लड़ने पर है और साथ ही हमें सामान्य स्थिति में पहुंचना है। तारीख की पुष्टि करना अभी मुमकिन नहीं है लेकिन मैं इस बात को लेकर आश्वस्त हूं कि हम इस साल टूर्नामेंट करा पाएंगे। उन्होंने कहा, हमें सलाह दी गई है कि स्वास्थ्य और सुरक्षा हमारी प्राथमिकताएं हैं और इसके अलावा हमें गृह मंत्रालय की गाइडलाइंस और स्थानीय अधिकारियों की भी गाइडलाइंस को मानना है। हम टूर्नामेंट शुरू करना चाहते हैं लेकिन इससे पहले हमें खिलाड़ियों की ट्रेनिंग शुरू करनी होगी। हम तुरंत टूर्नामेंट शुरू नहीं कर सकते।