BREAKING NEWS

CM शिंदे का विपक्ष पर प्रहार, कहा- महाराष्ट्र सरकार के अच्छे काम को हजम नहीं कर पा रहे विरोधी◾सीमा विवाद से जुड़े CM बोम्मई के बयान को लेकर राकांपा ने महाराष्ट्र सरकार, केंद्र और भाजपा को लिया आड़े हाथ ◾दिल्ली की अदालत ने कुख्यात अपराधी लॉरेंस बिश्नोई की NIA हिरासत चार दिन के लिए बढ़ाई◾राजस्थान में कानून व्यवस्था ध्वस्त, भाजपा ने सीकर हत्याकांड को लेकर गहलोत सरकार पर साधा निशाना◾नकवी ने विपक्षी दलों पर कसा तंज, बोले- भाजपा राज में हुए विकास से वोटों के स्वयंभू स्वामी दिवालिया हो चुके ◾भारत जोड़ो यात्रा बना बयानबाजी का प्लेटफॉर्म, राहुल ने ईंधन के दाम को लेकर प्रधानमंत्री पर साधा निशाना ◾Pak नहीं आ रहा अपनी करतूतों से बाज, पंजाब के फाजिल्का में 25 kg हेरोइन, पिस्तौल एवं गोलाबारूद बरामद◾भूकंप के तेज झटकों से कांपा इंडोनेशिया का मुख्य द्वीप, रिक्टर स्केल पर 5.7 रही तीव्रता ◾UP News: सपा विधायक नाहिद हसन को मिली राहत, चित्रकूट जेल से हुए रिहा◾एमसीडी चुनाव में बीजेपी और केजरीवाल की तरफ से किए गए बड़े वादे, क्या जनता करेगी विश्वास?◾मां-बाप की मौत का बदला लेने के लिए बेटी बनी कातिल◾हाई अलर्ट पर राष्ट्रीय राजधानी, MCD चुनाव के लिए कड़े सुरक्षा इंतजाम◾Bharat Jodo Yatra: गहलोत-पायलट विवाद के बीच रविवार को राजस्थान पहुंचेगी राहुल की यात्रा, तैयारियों में जुटे नेता ◾MCD चुनाव में AIMIM की एंट्री से बिगड़ जाएगा समीकरण, ओवैसी के 15 उम्मीदवार दे रहे टक्कर ◾यूनियन कार्बाइड की ‘गलती और लापरवाही’ से भोपाल में ‘अविस्मरणीय’ आपदा हुई : CM शिवराज◾Maharashtra: शिंदे सरकार को झटका, हाई कोर्ट ने फैसले पर लगाई रोक, जानें पूरा मामला ◾कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा- मेरी टिप्पणी का दुरुपयोग कर रही है भाजपा◾मथुरा : शौच के लिए गई दलित नाबालिग की गैंगरेप के बाद हत्या, पुलिस ने गिरफ्तार किए दो आरोपी◾UP News: आजम खान की बढ़ी मुश्किलें, 'भड़काऊ' शब्दों का इस्तेमाल करने के आरोप में एक और केस दर्ज ◾Tamil Nadu: किसानों को मिली राहत, बैंक ऑफ बड़ौदा ने दिए 134 करोड़ रुपये के कृषि कर्ज◾

सचिन को ट्रोल करने की कोशिश नाकाम, फैंस ने दिया साथ

किसान आंदोलन के मुद्दे पर जब विदेशी सेलिब्रिटीज ने बयानबाजी शुरू की तो भारतीय दिग्गजों ने उनसे देश के घरेलू मामले में दखल न देने की अपील की। दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर भी उन भारतीय सितारों में शामिल रहे जिन्होंने कहा कि भारतीय अपने मुद्दे खुद सुलझाने में सक्षम हैं। इस बयान को लेकर शुरुआत में सचिन को ट्रोल करने की कोशिश की गई, लेकिन जल्द ही उनके फैंस बड़ी संख्या में समर्थन में सामने आ गए।सचिन ने लिखा था, 'भारत की संप्रभुता से समझौता नहीं किया जा सकता है। बाहरी ताकतें दर्शक तो बन सकती हैं भागीदार नहीं हो सकती। भारतीय अपने देश को समझते हैं और इसके हित में फैसले कर सकते हैं। देश के तौर पर हमें एकजुट रहना चाहिए।


' टीम इंडिया कप्तान विराट कोहली ने भी इसी तरह का बयान दिया था। इसके बाद सचिन और विराट को ट्रोल करने की जमकर कोशिश की गई और उन्हें किसान आंदोलन के खिलाफ बताया गया। हालांकि, सचिन ने कहीं नहीं लिखा कि वे इस मुद्दे के पक्ष में या विरोध में हैं। उन्होंने बस इतना कहा था कि भारत से जुड़े संवेदनशील मुद्दों पर देश के बाहर के लोगों को बयान देने से बचना चाहिए।

सचिन के फैंस ने ट्रोलर्स को जवाब देने की कोशिश में उनकी बेहतरीन पारियों और सोशल वर्क को शेयर करना शुरू किया। इसी क्रम में #IStandWithSachin और #NationWithSachin जैसे हैशटैग ट्रेंडिंग में आ गए।


सचिन के बयान को राजनीतिक मुद्दा बनाने की कोशिश भी हुई है। केरल में यूथ कांग्रेस के सदस्यों ने सचिन तेंदुलकर के कटआउट पर काला तेल डाला। कांग्रेस कार्यकर्ताओं की इस हरकत की जमकर आलोचना भी हो रही है।दिल्ली की सीमाओं पर चल रहा किसान आंदोलन गत बुधवार को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियों में आ गया था। पॉप स्टार रिहाना, पर्यावरण एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग, पूर्व पॉर्न स्टार मिया खलीफा, अमेरिकी एक्ट्रेस अमांडा कर्नी, अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की भतीजी मीना हैरिस आदि ने आंदोलन के पक्ष में संदेश लिखे थे।