BREAKING NEWS

भारत को गुजरात में बदलने के प्रयास : तृणमूल कांग्रेस सांसद ◾विदेश मंत्री एस जयशंकर ने अपने डच समकक्ष के साथ विभिन्न विषयों पर चर्चा की ◾महाराष्ट्र गतिरोध : राकांपा नेता अजित पवार राज्यपाल से मिलेंगे ◾महाराष्ट्र : शिवसेना का समर्थन करना है या नहीं, इस पर राकांपा से और बात करेगी कांग्रेस ◾महाराष्ट्र : राज्यपाल ने दिया शिवसेना को झटका, और वक्त देने से किया इनकार◾CM गहलोत, CM बघेल ने रिसॉर्ट पहुंचकर महाराष्ट्र के नवनिर्वाचित विधायकों से मुलाकात की ◾दोडामार्ग जमीन सौदे को लेकर आरोपों पर स्थिति स्पष्ट करें गोवा CM : दिग्विजय सिंह ◾सरकार गठन फैसले से पहले शिवसेना सांसद संजय राउत की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती◾महाराष्ट्र: सरकार गठन में उद्धव ठाकरे को सबसे बड़ी परीक्षा का करना पड़ेगा सामना !◾महाराष्ट्र गतिरोध: उद्धव ठाकरे ने शरद पवार से की मुलाकात, सरकार गठन के लिए NCP का मांगा समर्थन ◾अरविंद सावंत ने दिया इस्तीफा, बोले- महाराष्ट्र में नई सरकार और नया गठबंधन बनेगा◾महाराष्ट्र में सरकार गठन पर बोले नवाब मलिक- कांग्रेस के साथ सहमति बना कर ही NCP लेगी फैसला◾CWC की बैठक खत्म, महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर शाम 4 बजे होगा फैसला◾कांग्रेस का महाराष्ट्र पर मंथन, संजय निरुपम ने जल्द चुनाव की जताई आशंका◾महाराष्ट्र में शिवसेना को समर्थन देने पर कांग्रेस-NCP ने नहीं खोले पत्ते, प्रफुल्ल पटेल ने दिया ये बयान◾BJP अगर वादा पूरा करने को तैयार नहीं, तो गठबंधन में बने रहने का कोई मतलब नहीं : संजय राउत◾महाराष्ट्र सरकार गठन: NCP ने बुलाई कोर कमेटी की बैठक, शरद पवार ने अरविंद के इस्तीफे पर दिया ये बयान ◾संजय राउत का ट्वीट- रास्ते की परवाह करूँगा तो मंजिल बुरा मान जाएगी◾शिवसेना सांसद अरविंद सावंत ने मंत्री पद से इस्तीफे की घोषणा की◾BJP द्वारा सरकार बनाने से इंकार किए जाने के बाद महाराष्ट्र की राजनीति में उभर रहे नए राजनीतिक समीकरण◾

खेल

वेस्टइंडीज पर दबदबा बरकरार रखने उतरेगा इंग्लैंड

साउथम्पटन : पिछले कुछ वर्षों में इंग्लैंड के लिये वेस्टइंडीज सबसे आसान प्रतिद्वंद्वी रहा है लेकिन शुक्रवार को विश्व कप मैच में जब ये दोनों टीमें आमने-सामने होंगी तो इयोन मोर्गन की अगुवाई वाली टीम किसी भी तरह की ढिलाई से बचना चाहेगी क्योंकि कैरेबियाई दल कुछ पल में मैच का पासा पलटने में सक्षम है। इंग्लैंड को पाकिस्तान से हार के बाद खुद के अंदर झांकने का मौका मिला और उसने बांग्लादेश के खिलाफ हर विभाग में अच्छा प्रदर्शन करके बड़ी जीत दर्ज की। 

दूसरी तरफ से वेस्टइंडीज ने पाकिस्तान को आसानी से शिकस्त दी लेकिन आस्ट्रेलिया के खिलाफ बेहतर स्थिति में होने के बावजूद उसे हार मिली। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ उसका मैच बारिश की भेंट चढ़ गया था। वेस्टइंडीज का सामना अब उस इंग्लैंड से है जिससे वह पिछले कुछ वर्षों से अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाया है। इन दोनों टीमों के बीच जो 101 वनडे खेले गये हैं उनमें 51 में इंग्लैंड और 44 में वेस्टइंडीज ने जीत दर्ज की है लेकिन पिछले दस वर्षों में खेले गये 19 मैचों में कैरेबियाई टीम केवल तीन में जीत हासिल कर पायी है। 

इंग्लैंड ने इनमें से 14 मैच में जीत दर्ज की है और वह अपना यह दबदबा बरकरार रखने की कोशिश करेगा। इंग्लैंड का मजबूत पक्ष उसकी बल्लेबाजी है। उसके शीर्ष सात बल्लेबाज अकेले दम पर मैच का पासा पलटने का माद्दा रखते हैं। जैसन रॉय ने पिछले मैच में 153 रन बनाकर अपनी फार्म जाहिर की। जॉनी बेयरस्टॉ और जोस बटलर ने अर्धशतक जमाये। बेन स्टोक्स और जोफ्रा आर्चर ने गेंदबाजी में कमाल दिखाया। वेस्टइंडीज के पास बायें हाथ के बल्लेबाजों की अधिकता को देखते हुए तेज गेंदबाज लियाम प्लंकेट की जगह मोईन अली की अंतिम एकादश में वापसी हो सकती है। 

आर्चर के लिये यह मैच महत्वपूर्ण होगा क्योंकि वह मूल रूप से वेस्टइंडीज से जुड़े हैं और उन्होंने इसी साल इंग्लैंड की तरफ से खेलने का हक पाया था। क्रिस गेल और आर्चर के बीच रोचक जंग देखने को मिल सकती है। यह देखना दिलचस्प होगा कि आर्चर बायें हाथ के इस बल्लेबाज या बेहतरीन फार्म में चल रहे शाई होप और विस्फोटक आंद्रे रसेल पर कैसे अंकुश लगाते हैं। वेस्टइंडीज की चिंता बल्लेबाजों को लेकर है। आस्ट्रेलिया के खिलाफ उसके गेंदबाजों ने अच्छा प्रदर्शन किया लेकिन बल्लेबाज अपेक्षित खेल नहीं दिखा पाये। 

होप के अलावा कप्तान जैसन होल्डर ने भी अर्धशतक जमाया लेकिन फिर टीम 15 रन से हार गयी। वेस्टइंडीज को अगर इंग्लैंड को चुनौती देनी है तो गेल, शिमरॉन हेटमेयर और निकोलस पूरन जैसे बल्लेबाजों को भी अच्छा प्रदर्शन करना होगा। कैरेबियाई गेंदबाज हालांकि इंग्लैंड के मजबूत बल्लेबाजी क्रम की परीक्षा लेने के लिये तैयार दिखते हैं। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भी उन्होंने जल्द ही दो विकेट निकाल दिये थे लेकिन बारिश के कारण यह मैच 7.3 ओवर तक ही चल पाया था। 

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वेस्टइंडीज को अंक बांटने पड़े थे। इस मैच को भी मौसम प्रभावित कर सकता है और ओवरों की संख्या कम हो सकती है। शुरू में बादल छाये रहने की संभावना है जिससे तेज गेंदबाजों को मदद मिलेगी। ऐसे में कोई भी टीम पहले क्षेत्ररक्षण करना पसंद करेगी।