BREAKING NEWS

PNB धोखाधड़ी मामला: इंटरपोल ने नीरव मोदी के भाई के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस फिर से किया सार्वजनिक ◾कोरोना संकट के बीच, देश में दो महीने बाद फिर से शुरू हुई घरेलू उड़ानें, पहले ही दिन 630 उड़ानें कैंसिल◾देशभर में लॉकडाउन के दौरान सादगी से मनाई गयी ईद, लोगों ने घरों में ही अदा की नमाज ◾उत्तर भारत के कई हिस्सों में 28 मई के बाद लू से मिल सकती है राहत, 29-30 मई को आंधी-बारिश की संभावना ◾महाराष्ट्र पुलिस पर वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, अब तक 18 की मौत, संक्रमितों की संख्या 1800 के पार ◾दिल्ली-गाजियाबाद बॉर्डर किया गया सील, सिर्फ पास वालों को ही मिलेगी प्रवेश की अनुमति◾दिल्ली में कोविड-19 से अब तक 276 लोगों की मौत, संक्रमित मामले 14 हजार के पार◾3000 की बजाए 15000 एग्जाम सेंटर में एग्जाम देंगे 10वीं और 12वीं के छात्र : रमेश पोखरियाल ◾राज ठाकरे का CM योगी पर पलटवार, कहा- राज्य सरकार की अनुमति के बगैर प्रवासियों को नहीं देंगे महाराष्ट्र में प्रवेश◾राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने हॉकी लीजेंड पद्मश्री बलबीर सिंह सीनियर के निधन पर शोक व्यक्त किया ◾CM केजरीवाल बोले- दिल्ली में लॉकडाउन में ढील के बाद बढ़े कोरोना के मामले, लेकिन चिंता की बात नहीं ◾अखबार के पहले पन्ने पर छापे गए 1,000 कोरोना मृतकों के नाम, खबर वायरल होते ही मचा हड़कंप ◾महाराष्ट्र : ठाकरे सरकार के एक और वरिष्ठ मंत्री का कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव◾10 दिनों बाद एयर इंडिया की फ्लाइट में नहीं होगी मिडिल सीट की बुकिंग : सुप्रीम कोर्ट◾2 महीने बाद देश में दोबारा शुरू हुई घरेलू उड़ानें, कई फ्लाइट कैंसल होने से परेशान हुए यात्री◾हॉकी लीजेंड और पद्मश्री से सम्मानित बलबीर सिंह सीनियर का 96 साल की उम्र में निधन◾Covid-19 : दुनियाभर में संक्रमितों का आंकड़ा 54 लाख के पार, अब तक 3 लाख 45 हजार लोगों ने गंवाई जान ◾देश में कोरोना से अब तक 4000 से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 39 हजार के करीब ◾पीएम मोदी ने सभी को दी ईद उल फितर की बधाई, सभी के स्वस्थ और समृद्ध रहने की कामना की ◾केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- निजामुद्दीन मरकज की घटना से संक्रमण के मामलों में हुई वृद्धि, देश को लगा बड़ा झटका ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

World Cup 2019 :पत्नी हसीन जहां ने मोहम्मद शमी की हैट ट्रिक पर दिया ये बयान

इंग्लैंड और वेल्स में खेले जा रहे आईसीसी क्रिकेट वल्र्ड कप 2019 में भारतीय टीम ने अपना बेहद शानदार प्रदर्शन किया है। पहले पाकिस्तान को धोया और फिर अफगानिस्तान को हराकर अपने नाम जीत दर्ज की है।  अब भारत का अगला मुकाबला वेस्टइंडीज से होने वाला है जिसके लिए खिलाडिय़ों ने अभी से ही मेहनत करनी शुरू कर दी है। 

हाल ही में अफगानिस्तान की टीम के साथ खेले गए मैच में भारतीय गेंदबाज भी पूरे जोश में दिखाई दिए। वैसे देखा जाए तो इस मैच में सबसे ज्यादा अपने जलवा किसी ने बिखेरा तो वो कोई और नहीं बल्कि तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी हैं। शमी ने अंतिम ओवर में हैट ट्रिक लेकर भारत को शानदाज जीत दिलाई। लेकिन इसी बीच शमी के शानदार प्रदर्शन पर उनकी पत्नी हसीन जहां का बयान सामने आया है। 

आखिर क्या कहा हसीन जहां ने?

भारतीय टीम अफगानिस्तान के साथ खेले गए मैच में सिर्फ 224 रनों का ही स्कोर खड़ा कर पाई। मैच में एक समय पर ऐसा लगा कि अफगानिस्तान की टीम इस लक्ष्य को बड़ी आसानी से हासिल कर लेगी। लेकिन उसी समय मोहम्मद शमी ने अपना जादू दिखाया और अंतिम ओवर में हैट ट्रिक करके पूरे मैच को ही चेंज कर डाला। 

शमी के इस प्रदर्र्श पर उनकी पत्नी हसीन जहां ने मीडिया से बात करते हुए बोला है कि भारतीय टीम को अगर वल्र्ड कप जीतना है तो इसी तरह से बढिय़ा प्रदर्शन जारी रखना होगा। क्योंकि अपने देश के लिए खेलना हर क्रिकेटर के लिए बड़ी गर्व की बात है और यदि आप अपनी टीम को जिताते हैं तो इससे अच्छी कोई और बात हो ही नहीं सकती। मेरी दिल से ख्वाहिश है कि भारतीय टीम विश्व कप लेकर आए। 

बता दें कि अफगानिस्तान के खिलाफ मोहम्मद शमी ने अपनी आतिशी गेंदबाजी से करोड़ों भारतीय फैंस का दिल जीत लिया,लेकिन शमी की जिंदगी में एक वक्त ऐसा भी आया जब उन्हें पूरे देश के सामने सिर झुकाना पड़ा था। दरअसल शमी की पत्नी हसीन जहां ने मोहम्मद शमी और उनके परिवार के ऊपर जान से मारने का आरोप लगाया था।

इसके साथ ही शमी की पत्नी हसीन जहां ने ये भी आरोप लगाया कि शमी का दूसरी महिलाओं के साथ अवैध संबंध है। और इसी वजह से उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई। हसीन जहां ने बताया कि शमी के घरवाले उन्हें जगहर देकर मारने की कोशिश कर रहे थे।

लेकिन शमी के लिए सबसे अच्छी बात ये हुई कि उनके ऊपर इतने सारे आरोप होने के बावजूद बीसीसीआई ने उनका साथ नहीं छोड़ा। शमी बेशक कुछ दिनों के लिए मैदान से बाहर रहे,लेकिन उनके प्रति बोर्ड का विश्वास कभी भी कम नहीं हुआ। राजनीतिक दवाब होने के बाद भी शमी लगातार मैच खेलते रहे इतना ही नहीं उन्होंने अपने ऊपर किसी प्रकार का कोई दबाव नहीं आने दिया।