BREAKING NEWS

उप्र चुनाव के लिए कांग्रेस ने तीसरी सूची में 89 और उम्मीदवार घोषित किए, महिलाओं को 40 प्रतिशत टिकट◾गृह मंत्री अमित शाह ने की पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जाट नेताओं के साथ बैठक, ये है भाजपा का प्लान ◾उम्मीदवारों के प्रदर्शन पर रेल मंत्री बोले : ‘अपनी संपत्ति’ को नष्ट न करें, शिकायतों का करेंगे समाधान ◾गोवा चुनाव 2022: BJP ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी सूची, जानें किसे कहा से मिला टिकट◾बिहार: गया में नाराज छात्रों ने ट्रेन की बोगी में लगाई आग, श्रमजीवी एक्सप्रेस पर किया पथराव◾गणतंत्र दिवस 2022: अग्रिम मोर्चे के कर्मी, मजदूर और ऑटो ड्राइवर बने स्पेशल गेस्ट, मिला बड़ा सम्मान◾गणतंत्र दिवस परेड: राजपथ पर 75 विमानों का शानदार फ्लाईपास्ट, वायुसेना की शक्ति देख दर्शक हुए दंग ◾गणतंत्र दिवस 2022: परेड में वायुसेना की झांकी का हिस्सा बनीं देश की पहली महिला राफेल विमान पायलट◾गणतंत्र दिवस 2022: परेड में होवित्जर तोप से लेकर वॉरफेयर की दिखी झलक, राजपथ बना शक्तिपथ◾गणतंत्र दिवस समारोह: PM मोदी उत्तराखंड की टोपी और मणिपुरी स्टोल में आए नजर, दिया ये संकेत◾यूपी: रायबरेली में जहरीली शराब पीने से चार की मौत, 6 लोगों की हालत नाजुक◾RPN सिंह के भाजपा में शामिल होने पर शशि थरूर का कटाक्ष, बोले- छोड़कर जा रहे हैं घर अपना, उधर भी सब अपने हैं◾दिल्ली में ठंड का कहर जारी, फिलहाल बारिश होने के आसार नहीं: आईएमडी◾RRB-NTPC Exam: परीक्षार्थियों के विरोध प्रदर्शन के बाद रेलवे ने भर्ती परीक्षा पर लगाई रोक, जांच के लिए बनाई समिति◾विधानसभा चुनाव तक चलेगी हिंदू-मुसलमानको लेकर तीखी बयानबाजी: राकेश टिकैत◾World Corona: दुनियाभर में जारी है कोरोना का कोहराम, संक्रमित मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 35.79 करोड़ के पार◾Corona Update: देश में तीसरी लहर का सितम जारी, संक्रमण के 2 लाख 85 हजार से अधिक नए केस, 665 लोगों की मौत ◾दिल्ली: गणतंत्र दिवस समारोह के मद्देनजर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम, 27,000 से अधिक पुलिसकर्मी तैनात◾गणतंत्र दिवस पर पीएम मोदी समेत कई नेताओं ने दी देशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं◾PM मोदी असली नायकों का सम्मान करने के लिए प्रतिबद्ध : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने पद्म पुरस्कार पर कहा ◾

एकेडमी में ट्रेनिंग के लिए युवा क्रिकेटर शेफाली वर्मा ने 'लड़का' बनकर लिया था दाखिला, खेली 46 रनों की ताबतोड़ पारी

साउथ अफ्रीका के खिलाफ टी20 मैच में भारतीय महिला क्रिकेट टीम की युवा खिलाड़ी शेफाली वर्मा ने 46 रनों की पारी खेलकर सबको प्रभावित कर दिया है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शेफाली वर्मा ने 15 साल की उम्र में डेब्यू करके सबसे महिला युवा खिलाड़ी बन गई हैं। 

साउथ अफ्रीका और भारत के बीच में टी20 सीरीज का दूसरा मैच सूरत में खेला गया और इस मैच में उन्होंने 46 रनों की ताबड़तोड़ पारी खेली। इस सीरीज के दूसरे मैच में शून्य पर शेफाली आउट हो गईं थीं इसके बाद वह निराश नहीं हुई और दूसरे मैच में अपनी जबरदस्त पारी से सबका ध्यान खींच लिया। 

हरियाणा के रोहतक की शेफाली रहने वाली हैं। क्रिकेट का सफर शेफाली के लिए बहुत कठिन था। लड़कियों के लिए रोहतक में कोई क्रिकेट एकेडमी नहीं है जिसकी वजह से शेफाली ने लड़का बनकर क्रिकेट खेलना शुरु किया। 

मिन्नतें करने के बाद भी कोई नहीं माना

एक रिपोर्ट के मुताबिक, संजीव वर्मा शेफाली के पिता जब वह क्रिकेट एकेडमी दाखिला करवाने गए तो वहां मना कर दिया गया कि शेफाली लड़की है इसलिए इसे हम दाखिला नहीं देंगे। 

संजीव वर्मा ने कहा कि एकेडमी में दाखिला करवाने के लिए हमें कई मिन्नतें की थी लेकिन उन्होंने नहीं किया। उसके बाद उन्होंने फैसला किया कि शेफाली को दाखिला करवाना है तो उसे लड़का बनाना पड़ेगा जिसके लिए शेफाली के बाल उन्होंने लड़कों की तरह रखने शुरु कर दिए। उसके बाद क्रिकेट एकेडमी में शेफाली को दाखिला दे दिया गया। 

ज्वैलरी की दुकान है पिता की

रोहतक में एक छोटी सी ज्वैलरी की दुकान शेफाली के पिता की है। शेफाली ने कहा कि लड़कों के साथ क्रिकेट खेलना बिल्कुल भी आसान नहीं था। कई बार तो शेफाली के हेलमेट पर गेंद लग जाती थी। इतना ही नहीं हेलमेट की जाली कई बार टूटी भी है। इन सब परेशानियों के बाद भी शेफाली ने हार नहीं मानी और वह खेलती रहीं। 

सचिन तेंदुलकर हरियाणा के लाहली में साल 2013 में अपना अंतिम रणजी ट्रॉफी मैच खेले गए थे। उस मैच को स्टेडियम देखने शेफाली अपने पिता के साथ गई थीं। सचिन को क्रिकेट खेलते हुए देखकर शेफाली बहुत प्रेरित हुई थी। दिग्गज क्रिकेटर मिताली राज और डेनियल वेट शेफाली के शानदार प्रदर्शन की मुरीद हैं। 

ताने मारते थे पड़ोसी

शेफाली ने घरेलू क्रिकेट में शानदार प्रदर्शन करते हुए 1923 रन बनाए हैं। घरेलू क्रिकेट में शेफाली ने 6 शतक और 3 अर्धशतक जड़े हैं। शेफाली 10वीं कक्षा में हैं। शेफाली की ही तरह क्रिकेट सीख रही है उनकी छोटी बहन। 

शेफाली के पिता ने कहा कि पड़ोसी शुरुआत में ताने मारते थे और कहते थे कि क्रिकेट में कोई भविष्य नहीं है लड़कियों का लेकिन महिला आईपीएल में जब शेफाली ने खेलना शुरु किया ताे सबकी बोलती बंद हो गई।