BREAKING NEWS

खुले में नमाज पढ़ने के विरोध में उतरी भीड़, लोगों ने भजन-कीर्तन करते हुए दर्ज कराई आपत्ति◾यूपी विधानसभा चुनाव : जयंत चौधरी बोले- सपा के साथ गठबंधन को लेकर बातचीत चल रही है◾अखिलेश का भाजपा पर हमला, बोले- उन्हें सिर्फ 'जीभ चलाना' और 'जीप चढ़ाना' ही आता है ◾अब बिना आधार कार्ड वालों को भी लगेगी कोरोना की वैक्सीन, CM नीतीश ने दिए निर्देश◾ कश्मीर में आतंकियों का खूनी खेल जारी, कायर आतंकियों ने अब गोलगप्पे वाले की ली जान ◾PM मोदी 25 अक्टूबर को सिद्धार्थनगर में सात मेडिकल कालेजों का उद्घाटन करेंगे: CM योगी◾तमाम सियासी अटकलों को खारिज करते हुए तेजस्वी ने कहा- लालू बिहार आने को इच्छुक, लेकिन स्वास्थ्य नहीं दे रहा साथ◾लंबे समय बाद करीब पांच घंटे चली CWC मीटिंग, अगले साल चुना जा सकता है कांग्रेस अध्यक्ष◾लखीमपुर में मगरमच्छी आंसू बहा रहे थे भाई-बहन, क्या छत्तीसगढ़ ले जाएंगे मुंगेरी लाल के हसीन सपनों का रथ : BJP ◾अध्यक्ष बनने की मांग पर राहुल गांधी का जवाब- दबाव बनाया गया तो पुन: बन सकता हूं कांग्रेस प्रमुख ◾कांग्रेस वर्किंग कमेटी कम और 'परिवार बचाओ वर्किंग' कमेटी ज्यादा लगती है CWC की बैठक : BJP◾श्रीनगर के 5 में से 3 आतंकवादियों को हमने 24 घंटे से भी कम समय में ढेर कर दिया है: IGP विजय कुमार◾ अंडमान-निकोबार: अमित शाह ने कहा-यहां की हवाओं में हैं सावरकर और बोस, उनके साथ अन्याय हुआ◾राम वियोग में 'दशरथ' ने मंच पर ही त्याग दिए प्राण, रामलीला मंचन के दौरान हार्ट अटैक से कलाकार की मौत◾पुलवामा मुठभेड़ में ढेर हुआ लश्कर का खूंखार कमांडर उमर मुश्ताक, दो पुलिसकर्मियों की हत्या में था शामिल◾कांग्रेस केंद्रीय नेतृत्व को निशाने पर लेते हुए बोले CM शिवराज- ‘सर्कस’ जैसी हो गई है पार्टी की स्थिति◾कौन है Fletcher Patel? नवाब मलिक ने ट्वीट कर NCB से पूछे कई सवाल◾सिंघु बॉर्डर हत्या मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट के दरबार में, आंदोलनकारी प्रदर्शन की आड़ में कानून की खुलेआम धज्जियां उड़ा रहे ◾UN का दावा- लड़कियों को स्कूलों में पढ़ाई की इजाजत पर जल्द घोषणा करेगा तालिबान◾जशपुर हादसा : मृतक गौरव अग्रवाल के परिजनों को 50 लाख का मुआवजा देगी छत्तीसगढ़ सरकार◾

कप्तान कोहली ने कहा चहल को खिलाने की नहीं थी कोई योजना, कनकशन विकल्प हमारे लिए हुआ कारगर साबित

भारतीय कप्तान विराट कोहली इस बात से खुश थे कि कनकशन विकल्प नियम उनकी टीम के लिये फायदेमंद रहा जबकि युजवेंद्र चहल को खिलाने की कोई योजना नहीं थी जो ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय में रविंद्र जडेजा के विकल्प के तौर पर उतरने के बाद मैच विजेता साबित हुए। चोटिल जडेजा ने बल्ले से अपनी भूमिका निभा दी थी और उनके विकल्प के तौर पर चहल भारत की 11 रन की जीत में अहम साबित हुए।

जडेजा ने 23 गेंद में नाबाद 44 रन बनाकर भारत को 7 विकेट पर 161 रन बनाने में मदद की लेकिन उनके सिर में लगी चोट के कारण चहल को उतारना पड़ा जिन्होंने 4 ओवर में 25 रन देकर 3 विकेट हासिल किये। कोहली ने मैच के बाद पुरस्कार वितरण समारोह में कहा, ‘‘युजी (चहल) को मैच में खिलाने की कोई योजना नहीं थी। जड्डू (जडेजा) को सिर में एक गेंद लगी और उन्हें चक्कर आ रहा था और अब भी आ रहे हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘कनकशन विकल्प अजीब चीज है, आज यह हमारे लिये कारगर रहा। लेकिन हो सकता है कि अगली बार ऐसा नहीं हो।’’कोहली ने अपने सभी खिलाड़ियों की प्रशंसा की लेकिन जडेजा और चहल के प्रयासों की सबसे ज्यादा तारीफ की। उन्होंने कहा, ‘‘वह (चहल) आया और उसने सचमुच काफी अच्छी गेंदबाजी की। पिच ने भी उसका साथ दिया। युजी ने प्रतिद्वंदियों को रोकने में शानदार जज्बा दिखाया। मुझे लगा कि उन्होंने अच्छी शुरूआत की। बल्लेबाजों ने हमें कुछ विकेट पेश कर दिए। यही टी20 क्रिकेट है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘ऑस्ट्रेलिया में आपको अंत तक मजबूत बने रहना होता है। उसने (जडेजा) पिछले मैच में अच्छी बल्लेबाजी की थी। नटराजन में दिखता है कि वह काफी सुधार कर सकता है। दीपक चाहर ने भी हमारे लिये अच्छी गेंदबाजी की। चहल ने हमें मैच में वापसी करायी। हार्दिक का कैच लपकना भी मैच का रूख बदलने वाला रहा। ’’

ऑस्ट्रेलिया के मुख्य कोच जस्टिन लैंगर मैच रैफरी डेविड बून से इशारों में बात करते नजर आये लेकिन यह पता नहीं चल सका है कि क्या वे चहल को उतारे जाने के बारे में बात कर रहे थे। ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान ऐरोन फिंच ने मैच के बाद कहा, ‘‘उनके डॉक्टर ने जडेजा को कनकशन के कारण बाहर किया। आप एक मेडिकल विशेषज्ञ की राय को चुनौती नहीं दे सकते।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमने अंत में शायद कुछ ज्यादा रन लुटा दिये और फिर बीच के ओवरों में बाउंड्री लगाने में जूझते रहे। ’’फिंच ने बताया कि उन्हें मैच के दौरान चोट लगी थी और इसकी गंभीरता का पता स्कैन कराने के बाद ही लगाया जा सकता है।‘मैन आफ द मैच’ चहल ने कहा कि अंतिम एकादश में जगह नहीं बना पाने के बाद जब वह कनकशन विकल्प के तौर पर उतरे तो उन पर कोई दबाव नहीं था।

उन्होंने कहा, ‘‘जब हम बल्लेबाजी कर रहे थे तो मुझ पर कोई दबाव नहीं था और फिर अचानक से मुझे पता चला कि मैं खेलने वाला हूं। मैंने काफी सारे मैच खेले हैं तो मैं मानसिक रूप से फिट था।’’चहल ने कहा कि वनडे श्रृंखला में उन्होंने प्रतिद्वंदी टीम के लेग स्पिनर एडम जाम्पा से कुछ चीजें सीखीं कि ऑस्ट्रेलियाई विकेट पर किस तरह से अच्छी गेंदबाजी की जाए।

उन्होंने कहा, ‘‘मैंने अपनी वनडे की गलतियों से सीख ली। वनडे में मैंने गेंद को काफी फ्लाइट किया था लेकिन यहां मैंने जाम्पा को गेंदबाजी करते हुए देखा, मैंने भी ऐसा ही करने की कोशिश की।’’चहल ने कहा, ‘‘पहली पारी में रन बनाना थोड़ा मुश्किल था। इस विकेट पर 150-160 रन का स्कोर भी अच्छा है। मैंने अपनी योजना के अनुसार गेंदबाजी की।’’