BREAKING NEWS

सर्वदलीय बैठक में बोले PM मोदी- सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए हैं तैयार ◾गोताबेया राजपक्षे ने जीता श्रीलंका के राष्ट्रपति का चुनाव, PM मोदी ने दी बधाई◾उन्नाव में किसानों का प्रदर्शन, UPSIDC के अधिकारियों और वाहनों पर किया हमला ◾संसद के शीतकालीन सत्र से पहले प्रहलाद जोशी ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, कई नेता हुए शामिल◾राउत और उद्धव ने बाला साहेब को दी श्रद्धांजलि, फडणवीस ने ट्वीट कर लिखा-स्वाभिमान की मिली सीख◾बैंकॉक में अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और राजनाथ सिंह के बीच हुई द्विपक्षीय बैठक◾दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में हुआ सुधार, नोएडा और गुरुग्राम में स्थिति फिलहाल गंभीर◾दिल्ली : ITO में लगे BJP सांसद गौतम गंभीर के लापता होने के पोस्टर◾वसीम रिजवी बोले- बगदादी और ओवैसी में कोई अंतर नहीं◾अयोध्या पर AIMPLB की बैठक आज, इकबाल अंसारी करेंगे बहिष्कार◾झारखंड विधानसभा चुनाव: कांग्रेस ने रांची में भाजपा से मुकाबला करने के लिए झामुमो को किया आगे◾महा गतिरोध : सोनिया-पवार की मुलाकात अब सोमवार को होगी ◾शीतकालीन सत्र के बेहतर परिणामों वाला होने की उम्मीद : मोदी◾मुसलमानों को बाबरी मस्जिद के बदले कोई जमीन नहीं लेनी चाहिये - मुस्लिम पक्षकार◾GST रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया को सरल बनाने को लेकर वित्त मंत्री ने की बैठकें ◾भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾विपक्ष में बैठेंगे शिवसेना के सांसद ◾आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने बैंकाक पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ◾किसानों की आवाज को कुचलना चाहती है भाजपा सरकार : अखिलेश◾उत्तरी कश्मीर में पांच संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार ◾

खेल

मेसी पर तीन महीने का प्रतिबंध लगा

बार्सिलोना : अर्जेंटीना के स्टार फुटबालर लियोनल मेसी को दक्षिण अमेरिकी फुटबाल संघ पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाना भारी पड़ा है और कॉनमीबॉल ने उन्हें राष्ट्रीय टीम में अगले तीन महीने के लिये खेलने से प्रतिबंधित करने और 50 हजार डॉलर का जुर्माने की सजा सुनाई है। मेसी ने ब्राजील की मेजबानी में हुये कोपा अमेरिका फुटबाल टूर्नामेंट में अपनी टीम के हारने के बाद कॉनमीबॉल पर ब्राजील को जीत दिलाने और संस्था में भ्रष्टाचार होने जैसे गंभीर आरोप लगाये थे। 32 साल के मेसी ने कोपा अमेरिका में चिली के खिलाफ तीसरे प्लेऑफ मैच के दौरान बाहर किये जाने के बाद कॉनमीबॉल के भ्रष्ट होने की बात कही थी। 

उन्होंने टूर्नामेंट के दौरान दो मामलों का हवाला दिया था और नाराजगी जताई थी। अर्जेंटीना को सेमीफाइनल में ब्राजील के हाथों 0-2 की हार झेलनी पड़ी थी, इस मैच में अर्जेंटीना को दो बार पेनल्टी देने से इंकार कर दिया गया था। मेसी ने कहा था कि इन दोनों कॉनमीबॉल में ब्राजील का अधिक हस्तक्षेप है। इसके बाद अगले मैच में भी वह बाहर कर दिये गये थे, जिस मैच को अर्जेंटीना ने 2-1से जीता था। मेसी ने कहा था,‘‘भ्रष्टाचार और रेफरी इन दिनों लोगों को फुटबाल का मजा नहीं लेने दे रहे हैं और इस खेल को खराब कर रहे हैं।’ 

कॉनमीबॉल ने अपनी वेबसाइट पर जारी बयान में हालांकि यह स्पष्ट नहीं किया है कि मेसी को किस आरोप के लिये दंडित किया गया है लेकिन उसमें बताया गया है कि उन्हें अनुशासनात्मक नियमों के 7.1 और 7.2 नियम का उल्लंघन करने का दोषी पाया गया है। इनमें से एक नियम आक्रामक, अपमानजनक व्यवहार या मानहानि को परिभाषित करता है जबकि दूसरा नियम न्यायिक संस्था के निर्दश या निर्णय का उल्लंघन करने से संबंधित है। ऐसे में उन पर तीन महीने के निलंबन का काफी असर नहीं होगा क्योंकि अब 2022 कतर फीफा विश्वकप के लिये दक्षिण अमेरिकी क्वालिफायर मार्च में शुरू होंगे। 

वहीं मेसी को कोपा अमेरिका में चिली के खिलाफ रेड कार्ड दिखाया गया था जिससे वह पहले ही एक मैच के लिये निलंबित हैं। अर्जेंटीना को सितंबर में अमेरिका में चिली और मैक्सिको तथा अक्टूबर में जर्मनी के मैदान पर दोस्ताना मैच खेलने हैं। मेसी इन तीनों ही मैचों में हिस्सा नहीं ले सकेंगे और निलंबन के हिसाब से नवंबर में ही अपनी टीम के लिये मैदान पर वापसी कर सकेंगे।