BREAKING NEWS

CM नीतीश कुमार ने पटना में भारी बारिश से हुये जलजमाव की उच्चस्तरीय समीक्षा की ◾मोबाइल वैन के जरिए प्याज बेचने की दिल्ली सरकार की योजना बेहद सफल रही : केजरीवाल ◾रविशंकर प्रसाद बोले- अफवाह फैलाने वाले संदेशों के स्रोत तक हो एजेंसियों की पहुंच◾भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी को मिला अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार, PM ने ट्वीट कर दी बधाई◾TOP 20 NEWS 14 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾ PM नरेंद्र मोदी ने नीदरलैंड के राजा-रानी से वार्ता की ◾हरियाणा विधानसभा चुनाव : PM मोदी बोले- विपक्ष में दम तो कहे कि 370 वापस लाएंगे◾हरियाणा: राहुल का PM पर वार, बोले- अडानी और अंबानी के लाउडस्पीकर हैं मोदी◾अयोध्या विवाद : मुस्लिम पक्षकारों का आरोप-हिन्दु पक्ष से नहीं सिर्फ हमसे ही किए जा रहे है सवाल◾हुड्डा बोले- हरियाणा में कांग्रेस के पास है जबरदस्त समर्थन, बनाएंगे अगली सरकार◾उत्तर प्रदेश: मऊ में सिलेंडर ब्लास्ट से मरने वालो की संख्या हुई 12 ◾जम्मू-कश्मीर में पोस्टपेड मोबाइल फोन सेवा हुई बहाल, 72 दिन से ठप थी सेवा ◾ अजीत डोभाल बोले- FATF का पाकिस्तान पर गहरा दबाव◾NIA का बड़ा खुलासा, कहा-देश के 4 राज्यों में सक्रिय है बांग्लादेश का खूंखार आतंकी संगठन JMB ◾होशंगाबाद: कार हादसे में राष्ट्रीय स्तर के 4 हॉकी खिलाड़ियों की मौत, कमलनाथ और शिवराज ने जताया शोक◾हरियाणा में आज PM मोदी, शाह और राहुल गांधी भरेंगे हुंकार, इन जगहों पर करेंगे रैली◾राम जन्मभूमि विवाद : आज से सुप्रीम कोर्ट करेगा अयोध्या मामले की अंतिम दौर की सुनवाई ◾महाराष्ट्र में राहुल गांधी की मौजूदगी का मतलब है भाजपा की जीत : योगी आदित्यनाथ◾भारत-सियेरा लियोन के बीच छह समझौतों पर हस्ताक्षर◾प्रदूषण को लेकर केजरीवाल सरकार के खिलाफ मनोज तिवारी ने बांटे ‘मास्क’◾

खेल

पंघाल ने रचा इतिहास, कौशिक को कांस्य

एकातेरिनबर्ग : एशियाई चैम्पियन अमित पंघाल (52 किग्रा) शुक्रवार को यहां कजाखस्तान के साकेन बिबोसिनोव को हराकर विश्व पुरूष मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाले पहले भारतीय मुक्केबाज बन गये जबकि मनीष कौशिक (63 किग्रा) को सेमीफाइनल में हारकर कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा। दूसरे वरीय पंघाल ने इस चुनौतीपूर्ण मुकाबले में 3-2 से जीत हासिल की। 

अब फाइनल में उनका सामना शनिवार को उज्बेकिस्तान के शाखोबिदिन जोइरोव से होगा जिन्होंने फ्रांस के बिलाल बेनामा को दूसरे सेमीफाइनल में शिकस्त दी। लेकिन राष्ट्रमंडल खेलों के रजत पदक विजेता कौशिक ने अपनी पहली विश्व चैम्पियनशिप में खेलते हुए कांस्य पदक हासिल किया। उन्हें क्यूबा के शीर्ष वरीय और पिछले चरण के स्वर्ण पदकधारी व मौजूदा पैन अमेरिकी खेलों के चैम्पियन गोमेज क्रूज से 0-5 से हार मिली। 

पंघाल ने जीत के बाद कहा कि मुकाबला मेरे लिये अच्छा रहा, हालांकि मैंने जितना सोचा था मुझे उससे ज्यादा जोर लगाना पड़ा। यह भारतीय मुक्केबाजी के लिये बड़ी उपलब्धि है और मुझे जो समर्थन मिल रहा है, उसका शुक्रगुजार हूं। भारत ने कभी भी विश्व चैम्पियनशिप के एक चरण में एक से ज्यादा कांस्य पदक हासिल नहीं किये हैं लेकिन पंघाल और मनीष कौशिक (63 किग्रा) ने सेमीफाइनल में पहुंचकर इसे बदल दिया। 

इससे पहले विजेंदर सिंह (2009), विकास कृष्ण (2011), शिव थापा (2015) और गौरव बिधुड़ी (2017) ने विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य पदक हासिल किये थे। पंघाल ने कहा कि मैं स्वर्ण पदक जीतने की पूरी कोशिश करूंगा। पंघाल ने अपनी तेजी और परिस्थितियों के मुताबिक प्रदर्शन की काबिलियत की बदौलत अपने से लंबे कजाखस्तानी मुक्केबाज को पस्त किया जो क्वार्टरफाइनल में अर्मेनिया के मौजूदा यूरोपीय स्वर्ण पदकधारी आर्टर होवहानिस्यान को हराकर यहां तक पहुंचा था। रोहतक का यह मुक्केबाज काफी सटीक था, उसके मुक्कों में काफी दम था और कजाखस्तान के मुक्केबाज के खिलाफ डिफेंस भी शानदार रहा।