BREAKING NEWS

लालू प्रसाद की बिगड़ी तबीयत पर बोले मुख्यमंत्री नीतीश- वे जल्द ठीक हों, मेरी शुभकामना उनके साथ◾असम में गरजे अमित शाह- कांग्रेस बताए इतने सालों तक रक्तरंजित क्यों रहा राज्य◾कृषि कानून को लेकर 60वें दिन आंदोलन जारी, 26 जनवरी पर ट्रैक्टर रैली की तैयारी में जुटे किसान ◾LAC विवाद : भारत और चीन के बीच कॉर्प्स कमांडर स्तर की बैठक मोल्डो में जारी ◾दिल्ली में आधी रात को लगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे, छह लोगों को पूछताछ के बाद छोड़ा◾गणतंत्र दिवस पर 2 बजे के बाद खुलेगी कनॉट प्लेस मार्केट, बंद रहेंगे ये 4 मेट्रो स्टेशन◾उत्तर भारत में सर्दी का सितम जारी, शीतलहर से फिर कांपेगी राजधानी दिल्ली ◾राहुल गांधी का तंज- जनता महंगाई से त्रस्त, मोदी सरकार टैक्स वसूली में मस्त◾CM उद्धव ठाकरे की साइन की हुई फाइल से छेड़छाड़, PWD इंजीनियर के खिलाफ जांच के दिए थे आदेश◾BJP सांसद साक्षी महाराज का आरोप-कांग्रेस ने कराई थी नेताजी की हत्या◾देश में कोरोना के 14849 नए मामलों की पुष्टि, पॉजिटिव केस 1 करोड़ 65 लाख के पार ◾TOP 5 NEWS 24 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 9.86 करोड़ तक पहुंचा◾ममता बनर्जी के लिये ‘जय श्री राम’ का नारा सांड को लाल कपड़ा दिखाने के समान है : अनिल विज◾ सात और राज्य अगले सप्ताह से स्वदेशी तौर पर विकसित ‘कोवैक्सीन’ टीका लगाएंगे : स्वास्थ्य मंत्रालय ◾ वायुसेना प्रमुख भदौरिया बोले- भारत पांचवीं पीढ़ी के लड़ाकू विमानों पर काम कर रहा है◾आज का राशिफल (24 जनवरी 2021)◾गुजरात में फरवरी में होंगे स्थानीय निकाय चुनाव ◾लालू प्रसाद यादव को दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया ◾जय श्रीराम के नारों की नुसरत जहां ने की निंदा, कहा-राम का नाम गले लगाकर बोलें, गला दबाकर नहीं◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

हीरो से ज़ीरो बन सकते हैं पटेल

नई दिल्ली : इधर वर्ल्ड कप अंडर 17 का शानदार समापन हुआ और उधर अखिल भारतीय फुटबॉल फेडरेशन के अध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल पर गाज गिरी। एक तरफ फीफा ने अध्यक्ष महोदय को सफल आयोजन की बधाई दी तो दिल्ली उच्च न्यायालय ने प्रफुल्ल पटेल के पिछले साल हुए चुनाव को खारिज कर दिया। माननीय कोर्ट के अनुसार प्रफुल्ल पटेल के चयन मे खेल संहिता का पालन नहीं किया गया। पिछले साल दिसंबर मे पटेल को एआईएफएफ कार्यसमिति ने लगातार तीसरी बार अध्यक्ष चुना था और उनका कार्यकाल 2017 से 2020 तक था। अभी कुछ कहना जल्दबाज़ी होगी लेकिन यदि प्रफुल्ल पटेल दोषी पाए जाते हैं तो दुनियाभर मे गलत संदेश जाएगा। सरकार के पूर्ण समर्थन और सहयोग से वर्ल्ड कप का शानदार आयोजन किया गया।

फुटबॉल का कारोबार देखने वाली फेडरेशन ने खूब वाहवाही लूटी लेकिन यदि अब उसके अध्यक्ष को धोखाधड़ी करने और छल छदम से चुनाव जीतने का दोषी पाया जाता है तो किरकिरी होनी तय है। वाहवाही लूटने वाले पटेल साहब को घर पर अपमान जनक स्थिति का सामना करना पड़ सकता है द्य यह मामना कुछ कुछ कलमाडी जैसा हो सकता है द्यनई दिल्ली, (राजेंद्र सजवान): इधर वर्ल्ड कप अंडर 17 का शानदार समापन हुआ और उधर अखिल भारतीय फुटबॉल फेडरेशन के अध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल पर गाज गिरी। एक तरफ फीफा ने अध्यक्ष महोदय को सफल आयोजन की बधाई दी तो दूसरी तरफ दिल्ली उच्च न्यायालय ने प्रफुल्ल पटेल के पिछले साल हुए चुनाव को खारिज कर दिया।

माननीय कोर्ट के अनुसार प्रफुल्ल पटेल के चयन मे खेल संहिता का पालन नहीं किया गया। यह मामला कुछ-कुछ ऐसा ही है जैसा 2010 के कामनवेल्थ खेलों के सफल आयोजन के बाद सुरेश कलमाडी के लिए लगभग सभी रास्ते बंद हो गये थे। इसमे दो राय नहीं कि कामनवेल्थ खेलों का आयोजन देश का अब तक का सबसे बड़ा और सफलतम खेल महोत्सव था। सरकार, दिल्ली सरकार और तमाम इकाइयों के प्रयासों से कामनवेल्थ खेल यादगार छाप छोड़ गये। लेकिन भारतीय ओलंपिक कमेटी, दिल्ली सरकार, खेल प्राधिकरण और अन्य का भ्रष्टाचार कलमाडी को महंगा पड़ा और एक हीरो को रातों रात ज़ीरो बना दिया गया।

पिछले साल दिसंबर मे पटेल को एआईएफएफ कार्यसमिति ने लगातार तीसरी बार अध्यक्ष चुना था और उनका कार्यकाल 2017 से 2020 तक था। हालांकि अभी कुछ भी कहना जल्दबाज़ी होगी लेकिन यदि प्रफुल्ल पटेल दोषी पाए जाते हैं तो दुनियाभर मे गलत संदेश जाएगा । सरकार के पूर्ण समर्थन और सहयोग से वर्ल्ड कप का शानदार आयोजन किया गया। देश की फुटबॉल का कारोबार देखने वाली फेडरेशन ने खूब वाहवाही लूटी लेकिन यदि अब उसके अध्यक्ष को धोखाधड़ी करने और छल छदम से चुनाव जीतने का दोषी पाया जाता है तो किरकिरी होनी तय है। वाहवाही लूटने वाले पटेल साहब को घर पर अपमान जनक स्थिति का सामना करना पड़ सकता है द्य यह मामना कुछ कुछ कलमाडी जैसा हो सकता है द्य