BREAKING NEWS

LIVE : श्रीहरिकोटा से लॉन्‍च हुआ चंद्रयान- 2 , ISRO ने फिर रच दिया इतिहास◾कर्नाटक संकट : विधानसभा में बोले शिवकुमार- BJP क्यों स्वीकार नहीं कर रही कि वह कुर्सी चाहती है◾कर्नाटक : सुप्रीम कोर्ट का फ्लोर टेस्ट पर तत्काल सुनवाई से इंकार ◾विवादित बयान पर राज्यपाल मलिक ने दी सफाई, बोले-मुझे ऐसा नहीं कहना चाहिए था◾शंकर सिंह वाघेला ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा- कश्मीर में धर्म के आधार पर लोगों को बांट रही है◾ISRO फिर रचने जा रहा इतिहास, चंद्रयान-2 का काउंटडाउन शुरू, आज दोपहर 2 बजकर 43 मिनट पर लॉन्चिंग◾केरल में NDA सहयोगी का दावा, कई कांग्रेस सांसद, विधायक BJP के संपर्क में ◾अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण अगले साल हर हाल में हो जाएगा शुरू : वेदांती◾मैं नाली, शौचालय साफ करने के लिए नहीं बनी हूं सांसद : प्रज्ञा सिंह ठाकुर ◾'कालेधन' को लेकर भाजपा के खिलाफ प्रदर्शन करें कार्यकर्ता : ममता ◾जम्मू-कश्मीर राज्यपाल का विवादित बयान- पुलिसवालों की नहीं, भ्रष्ट नेताओं की हत्या करें आतंकी◾तृणमूल नेताओं को धमकाने वाले सीबीआई अधिकारियों का नाम बताए ममता : भाजपा ◾हिमा की 400 मीटर में वापसी, जुलाई में जीता पांचवां स्वर्ण पदक , PM मोदी ने दी बधाई !◾Top 20 News 21 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾इजराइल प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू 9 सितंबर को करेंगे भारत की यात्रा, PM मोदी से मिलेंगे◾सिद्धू ने चंडीगढ़ में आवंटित सरकारी बंगला खाली किया ◾सोनभद्र की घटना के लिए कांग्रेस और सपा नेता जिम्मेदार : CM योगी ◾मोदी सरकार ने देश को बदला, अच्छे दिन लाई : जेपी नड्डा ◾पंचतत्व में विलीन हुई शीला दीक्षित, राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार◾मुंबई : ताज होटल के पास की इमारत में लगी आग, एक की मौत ◾

खेल

स्मृति मंधाना की रिकॉर्ड पारी भी भारत को नहीं दिला पाई जीत

हैमिल्टन : सोफी डिवाइन ने अर्धशतक जड़ने के बाद गेंदबाजी में भी कमाल दिखाया जिससे न्यूजीलैंड की महिला क्रिकेट टीम ने तीसरे और अंतिम टी20 क्रिकेट मैच में भारतीय महिला टीम को दो रन से हराकर सीरीज में 3-0 से क्लीन स्वीप किया। सलामी बल्लेबाज डिवाइन ने 52 गेंद में आठ चौकों और दो छक्कों की मदद से 72 रन की पारी खेली जिससे न्यूजीलैंड ने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए सात विकेट पर 161 रन बनाए।

कप्तान ऐमी सेटरथवेट ने 31 जबकि अनुभवी सलामी बल्लेबाज सूजी बेट्स ने 24 रन का योगदान दिया। भारत की ओर से दीप्ति शर्मा ने 28 रन देकर दो विकेट चटकाए जबकि मानसी जोशी, राधा यादव, अरुंधति रेड्डी और पूनम यादव को एक-एक विकेट मिला। इसके जवाब में सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना के करियर की सर्वश्रेष्ठ 86 रन की पारी के बावजूद भारतीय महिला टीम चार विकेट पर 159 रन ही बना सकी।

अंतिम ओवरों में अनुभवी मिताली राज (20 गेंद में नाबाद 24) और दीप्ति शर्मा (16 गेंद में नाबाद 21) भारत को जीत दिलाने में नाकाम रहीं। डिवाइन न्यूजीलैंड की सबसे सफल गेंदबाज रही जिन्होंने चार ओवर में 21 रन देकर दो विकेट चटकाए। इससे पहले स्मृति के करियर का सर्वश्रेष्ठ स्कोर 83 रन था जो उन्होंने 17 नवंबर 2018 को आस्ट्रेलिया के खिलाफ बनाया था। लक्ष्य का पीछा करने उतरे भारत को स्मृति ने एक बार फिर तूफानी शुरुआत दिलाई।

स्मृति ने लिया ताहुहु पर चौके के साथ खाता खोला और फिर अन्ना पीटरसन की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का जड़ा। स्मृति ने तीसरे ओवर में आफ स्पिनर लेग कास्पेरेक (37 रन पर एक विकेट) पर भी लगातार दो चौके मारे। सलामी बल्लेबाज प्रिया पूनिया लगातार तीसरी पारी में नाकाम रही और सिर्फ एक रन बनाने के बाद कास्पेरेक की गेंद को आगे बढ़कर खेलने की कोशिश में चूक गई और विकेकीपर केटी मार्टिन ने उन्हें स्टंप करने में कोई गलती नहीं की।

मौजूदा श्रृंखला में वह 04, 04 और 01 रन की पारियों से नौ रन ही जुटा पाई। स्मृति को इसके बाद जेमिमा रोड्रिगेज (21) के रूप में उम्दा जोड़ीदार मिला। स्मृति ने पीटरसन पर लगातार दो चौकों के साथ छठे ओवर में टीम का स्कोर 50 रन के पार पहुंचाया। स्मृति ने सोफी डिवाइन की गेंद पर एक रन के साथ 33 गेंद में श्रृंखला का अपना दूसरा अर्धशतक पूरा किया। जेमिता हालांकि इसी ओवर में मिडआन पर कप्तान ऐमी सेटरथवेट को कैच देकर पवेलियन लौट गई जिससे स्मृति के साथ उनकी 47 रन की साझेदारी का अंत हुआ। स्मृति ने हालांकि दूसरे छोर पर आक्रामक तेवर जारी रखे।

उन्होंने 10वें ओवर में लेग स्पिनर एमेलिया केर (26 रन पर एक विकेट) पर तीन चौकों से 15 रन बटोरे। भारत के रनों का शतक 12वें ओवर में पूरा हुआ लेकिन केर के इसी ओवर में कप्तान हरमनप्रीत तीन गेंद में दो रन बनाने के बाद पीटरसन को कैच दे बैठी।स्मृति को इसके बाद सीरीज में अपना पहला मैच खेल रही एकदिवसीय टीम की कप्तान अनुभवी मिताली राज का साथ मिला। भारत को अंतिम पांच ओवर में जीत के लिए 39 रन की दरकार थी।

भारत की उम्मीदों को उस समय झटका लगा जब स्मृति ने डिवाइन की गेंद को बड़ा शाट खेलने की कोशिश में गेंद में हवा में लहरा दिया और ताहुहु ने इसे लपकने में कोई गलती नहीं की। दीप्ति ने केर पर छक्के के साथ गेंद और रनों के बीच के बढ़ते अंतर को कुछ कम किया। कास्पेरेक के पारी 18वें ओवर में सिर्फ पांच रन बने जिससे भारत को अंतिम दो ओवर में जीत के लिए 23 रन की दरकार थी।

डिवाइन के अगले ओवर में मिताली ने चौका जड़ा लेकिन इसके बावजूद इस ओवर में सिर्फ सात रन बने। भारत को अंतिम छह गेंदों पर 16 रन की जरूरत थी। मिताली और दीप्ति ने कास्पेरेक के ओवर में एक-एक चौका जड़ा लेकिन इसके बावजूद 13 रन ही बना सकीं।