BREAKING NEWS

विदेश मंत्री जयशंकर ने फिनलैंड के शीर्ष नेतृत्व से मुलाकात की◾सुरक्षा बल और वैज्ञानिक हर चुनौती से निपटने में सक्षम : राजनाथ ◾पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंड़ल से कोई बातचीत नहीं होगी : अकबरुद्दीन◾भारत, अमेरिका अधिक शांतिपूर्ण व स्थिर दुनिया के निर्माण में दे सकते हैं योगदान : PM मोदी◾कॉरपोरेट कर दर में कटौती : मोदी-भाजपा ने किया स्वागत, कांग्रेस ने समय पर सवाल उठाया ◾चांद को रात लेगी आगोश में, ‘विक्रम’ से संपर्क की संभावना लगभग खत्म ◾J&K : महबूबा मुफ्ती ने पांच अगस्त से हिरासत में लिए गए लोगों का ब्यौरा मांगा◾अनुभवहीनता और गलत नीतियों के कारण देश में आर्थिक मंदी - कमलनाथ◾वायुसेना प्रमुख ने अभिनंदन की शीघ्र रिहाई का श्रेय राष्ट्रीय नेतृत्व को दिया ◾न तो कोई भाषा थोपिए और न ही किसी भाषा का विरोध कीजिए : उपराष्ट्रपति का लोगों से अनुरोध◾अनुच्छेद 370 फैसला : केंद्र के कदम से श्रीनगर में आम आदमी दिल से खुश - केंद्रीय मंत्री◾TOP 20 NEWS 20 September : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾राहुल का प्रधानमंत्री पर तंज, कहा- ‘हाउडी मोदी’ कार्यक्रम ‘आर्थिक बदहाली’ को नहीं छिपा सकता◾रेप के अलावा चिन्मयानंद ने कबूले सभी आरोप, कहा-किए पर हूं शर्मिंदा◾डराने की सियासत का जरिया है NRC, यूपी में कार्रवाई की गई तो सबसे पहले योगी को छोड़ना पड़ेगा प्रदेश : अखिलेश यादव◾नीतीश कुमार ने विधानसभा चुनाव में NDA की बड़ी जीत का किया दावा, कहा- गठबंधन में दरार पैदा करने वालों का होगा बुरा हाल◾कॉरपोरेट कर में कटौती ‘ऐतिहासिक कदम’, मेक इन इंडिया में आयेगा उछाल, बढ़ेगा निवेश : PM मोदी◾PM मोदी और मंगोलियाई राष्ट्रपति ने उलनबटोर स्थित भगवान बुद्ध की मूर्ति का किया अनावरण◾कांग्रेस नेता ने कारपोरेट कर में कटौती का किया स्वागत, निवेश की स्थिति बेहतर होने पर जताया संदेह◾वित्त मंत्री की घोषणा से झूमा शेयर बाजार, सेंसेक्स 1900 अंक उछला◾

खेल

अफगान लड़ाकों को हल्के में लेना पड़ सकता है भारी

नई दिल्ली : विश्व कप में 2015 में पदार्पण के बाद से क्रिकेट में बड़ी छलांग लगाने वाली टीम अफगानिस्तान अगले सप्ताह शुरू हो रहे विश्व कप में अगर एक-दो बड़ी टीमों को पटखनी देने में सफल रहे तो किसी को आश्चर्य नहीं होगा। विश्व कप में सभी टीम को एक दूसरे से भिड़ना है और ऐसे में कोई भी टीम उसे हल्के में नहीं लेना चाहेगी। 2015 में अफगानिस्तान सिर्फ एक मैच में जीत दर्ज कर सका था लेकिन उस समय राशिद खान जैसे मैच विजेता टीम में नहीं थे। 

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने भी माना की अफगानिस्तान की टीम ने पिछले चार साल में काफी प्रगति की है। उन्होंने कहा कि अगर आप 2015 की अफगानिस्तान की टीम को देखेंगे तो अब टीम पूरी तरह से बदल गयी है। कोई भी टीम किसी को भी हरा सकती है। टीम के पास अब अनुभव है और आईसीसी विश्व कप क्वालीफायर में उसने वेस्टइंडीज को फाइनल सहित दो बार हराया था। 

विश्व कप की तैयारियों के तहत अफगानिस्तान ने दक्षिण अफ्रीका में अभ्यास किया और फिर ब्रिटेन में स्कॉटलैंड और आयरलैंड के खिलाफ एकदिवसीय मैच खेले। टीम की तैयारियों को उस समय झटका लगा जब लंबे समय से तीनों प्रारूप में कप्तानी कर रहे असगर अफगान को अचानक इस जिम्मेदारी से मुक्त कर दिया गया। 

वह हालांकि एकदिवसीय टीम में शामिल हैं। मोहम्मद नबी और राशिद खान जैसे अनुभवी खिलाड़ियों ने भी विश्व कप से दो महीने पहले कप्तान बदलने पर सवाल उठाया था। बाद में चयनकर्ताओं ने उन्हें मना लिया। गुलबदिन नैब को एकदिवसीय टीम का कप्तान बनाने से पहले कोच फिल सिमंस को भी भरोसे में नहीं लिया गया।

नैब ने हालांकि आयरलैंड के खिलाफ 43 रन पर छह विकेट लेकर करियर का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए टीम को 126 रन से जीत दिलायी। टी20 प्रारूप में अफगानिस्तान को सबसे खतरनाक टीमों में से एक माना जाता है और टीम ने 50 ओवर के प्रारूप में भी जूझारूपन दिखाया है।