BREAKING NEWS

आगामी दिल्ली विधानसभा चुनावों को एक और 'स्वतंत्रता संग्राम' मानें : केजरीवाल ◾अयोध्या मामला : मध्यस्थता समिति ने न्यायालय में सीलबंद लिफाफे में रिपोर्ट सौंपी ◾राहुल गांधी ने कहा- भूख सूचकांक में भारत का लुढ़कना मोदी सरकार की घोर विफलता◾श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जानी जाएगी जम्मू-कश्मीर की चेनानी-नासरी सुरंग : नितिन गडकरी ◾वोट की खातिर लोकलुभावन वादों से बचें राजनीतिक दल : वेंकैया नायडू ◾गृह मंत्री अमित शाह बोले- 5 साल में घुसपैठियों को देश से बाहर करेंगे◾देवेन्द्र और नरेन्द्र महाराष्ट्र में विकास के दोहरा इंजन हैं : PM मोदी◾TOP 20 NEWS 16 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अयोध्या विवाद मामले पर सुनवाई पूरी, SC ने फैसला रखा सुरक्षित ◾PM मोदी का कांग्रेस पर वार, बोले-परिवार भक्ति में ही राष्ट्र भक्ति आती है नजर ◾अर्थव्यवस्था को लेकर प्रियंका का केंद्र पर तंज, कहा-विश्व बैंक के बाद IMF ने भी दिखाया सरकार को आईना◾साक्षी महाराज बोले- 6 दिसंबर से शुरू होगा राम मंदिर का निर्माण◾महाराष्ट्र रैली में PM मोदी ने कहा-राष्ट्र निर्माण का आधार हैं सावरकर के संस्कार◾कपिल सिब्बल का PM पर तंज, बोले- मोदी जी, राजनीति पर कम और बच्चों पर ज्यादा ध्यान दीजिए◾आईएनएक्स मीडिया मामला: तिहाड़ जेल में पूछताछ के बाद ED ने पी चिदंबरम को किया गिरफ्तार◾अयोध्या विवाद : CJI गोगोई ने मामले की सुनवाई को आज शाम 5 बजे पूरी करने का दिया निर्देश◾होमगार्ड मामले में मायावती का यूपी सरकार पर वार, बेरोजगारी बढ़ाने का लगाया आरोप◾जम्मू-कश्मीर : अनंतनाग में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए 3 आतंकवादी◾होमगार्ड मामले पर प्रियंका का सवाल- योगी सरकार पर कौन सा फितूर है सवार ◾आईएनएक्स मीडिया: चिदंबरम से पूछताछ करने तिहाड़ पहुंची ED टीम, कार्ति और नलिनी भी मौजूद◾

खेल

धोनी को नंबर सात पर क्यों भेजा

लंदन : पूर्व भारतीय कप्तान और अब कमेंटेटर सुनील गावस्कर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में महेंद्र सिंह धोनी जैसे अनुभवी खिलाड़ी को बल्लेबाजी क्रम में नीचे भेजने पर टीम प्रबंधन को लताड़ा है। गावस्कर ने धोनी को बल्लेबाजी क्रम में सातवें नंबर पर भेजने पर असंतोष जताते हुए टीम प्रबंधन के फैसले को घातक बताया है। भारत को इस मुकाबले में 18 रन से हार का सामना करना पड़ा और टीम विश्व कप से बाहर हो गई। भारत 240 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए अपने तीन विकेट मात्र पांच रन पर गंवा चुका था। 

इन हालात में उम्मीद थी कि पारी को संभालने के लिए धोनी को ऊपर भेजा जाएगा लेकिन टीम प्रबंधन ने उन्हें रिषभ पंत, दिनेश कार्तिक और हार्दिक पांड्या के बाद सातवें नंबर पर भेजा। टीम प्रबंधन के इस फैसले की हर जगह कड़ी आलोचना हो रही है और गावस्कर जैसे दिग्गज खिलाड़ी ने भी कहा है कि धोनी को ऊपर भेजा जाना चाहिए था। गावस्कर ने कहा कि चौथा विकेट गिरने के बाद पंत का साथ देने धोनी को मैदान पर आना चाहिए था क्योंकि उन जैसा अनुभवी खिलाड़ी एक युवा खिलाड़ी को दबाव की परिस्थितियों में संयम से खेलने के लिए प्रेरित कर सकता है। 

उन्होंने कहा, 24 रन पर चार विकेट के स्कोर के समय आप दो ऐसे खिलाड़यों को नहीं उतार सकते जो आक्रामक अंदाज से खेलते हैं। पंत और पांड्या दोनों ही आक्रामक खिलाड़ी हैं और यदि पंत का साथ देने धोनी उतरते तो वह इस युवा खिलाड़ी को समझा सकते थे। 

पूर्व कप्तान ने कहा कि पंत अपना धैर्य खो रहे थे और उन्हें समझाने के लिए नॉन स्ट्राइकर छोर पर कोई अनुभवी खिलाड़ी होना चाहिए था। लेकिन प्रबंधन ने पांड्या जैसे आक्रामक खिलाड़ी को भेज दिया और नतीजा सबसे सामने है। इसका जवाब किसी के पास नहीं है कि इस समय धोनी को क्यों नहीं भेजा गया। भारतीय जनता को यह जानने का अधिकार है कि यह फैसला कैसे किया गया। यह चयन समीति का फैसला नहीं था बल्कि टीम प्रबंधन का फैसला था।