BREAKING NEWS

UP : सोनभद्र में जमीनी विवाद को लेकर हुई हिंसक झड़प में 9 की मौत, CM योगी ने जांच के दिए निर्देश ◾उत्तराखंड से बीजेपी विधायक प्रणव सिंह चैम्पियन 6 साल के लिए पार्टी से निष्कासित ◾व्हिप को निष्प्रभावी करने वाले SC के फैसले ने खराब न्यायिक मिसाल पेश की : कांग्रेस◾इंच-इंच जमीन से अवैध प्रवासियों को करेंगे बाहर : अमित शाह◾चीन-भारत सीमा पर दोनों देशों के सुरक्षा बलों द्वारा बरता जा रहा है संयम : राजनाथ◾पीछे हटने का सवाल नहीं, विधानसभा की कार्यवाही में नहीं लेंगे हिस्सा : कर्नाटक के बागी विधायक◾मुंबई आतंकवादी हमलों का मास्टरमाइंड हाफिज सईद लाहौर से गिरफ्तार◾सुप्रीम कोर्ट का फैसला असंतुष्ट विधायकों के लिए नैतिक जीत : येदियुरप्पा◾कर्नाटक संकट : विधानसभा अध्यक्ष बोले- संवैधानिक सिद्धांतों का करुंगा पालन◾कर्नाटक संकट : SC ने कहा-बागी विधायकों के इस्तीफों पर स्पीकर ही करेंगे फैसला◾जम्मू एवं कश्मीर : सोपोर में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़◾पूर्व सपा सांसद अतीक अहमद के घर और दफ्तर पर CBI की छापेमारी◾समाजवादी पार्टी को सता रही है मुस्लिम वोट बैंक संजोने की चिंता◾मुंबई में इमारत गिरने से अभी तक 14 लोगों की मौत, सर्च ऑपरेशन जारी ◾असम, बिहार में बाढ़ से 55 लोगों की मौत, उत्तर प्रदेश में वर्षा जनित हादसों में 14 की मौत ◾अनुसुइया उइके छत्तीसगढ़ की, हरिचंदन आंध्र के राज्यपाल नियुक्त◾देश के कई हिस्सों में दिखेगा चंद्र ग्रहण, करीब एक बजकर 31 मिनट शुरू और चार बजकर 20 मिनट पर होगा खत्म◾बनगांव में भाजपा, TMC के बीच संघर्ष, निषेधाज्ञा लागू ◾चंद्रग्रहण : सूतक काल के दौरान बंद रहेंगे मंदिर के कपाट ◾राष्ट्रपति उच्चतम न्यायालय की नई सौध इमारत का करेंगे उद्घाटन◾

खेल

धोनी को नंबर सात पर क्यों भेजा

लंदन : पूर्व भारतीय कप्तान और अब कमेंटेटर सुनील गावस्कर ने न्यूजीलैंड के खिलाफ सेमीफाइनल मुकाबले में महेंद्र सिंह धोनी जैसे अनुभवी खिलाड़ी को बल्लेबाजी क्रम में नीचे भेजने पर टीम प्रबंधन को लताड़ा है। गावस्कर ने धोनी को बल्लेबाजी क्रम में सातवें नंबर पर भेजने पर असंतोष जताते हुए टीम प्रबंधन के फैसले को घातक बताया है। भारत को इस मुकाबले में 18 रन से हार का सामना करना पड़ा और टीम विश्व कप से बाहर हो गई। भारत 240 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए अपने तीन विकेट मात्र पांच रन पर गंवा चुका था। 

इन हालात में उम्मीद थी कि पारी को संभालने के लिए धोनी को ऊपर भेजा जाएगा लेकिन टीम प्रबंधन ने उन्हें रिषभ पंत, दिनेश कार्तिक और हार्दिक पांड्या के बाद सातवें नंबर पर भेजा। टीम प्रबंधन के इस फैसले की हर जगह कड़ी आलोचना हो रही है और गावस्कर जैसे दिग्गज खिलाड़ी ने भी कहा है कि धोनी को ऊपर भेजा जाना चाहिए था। गावस्कर ने कहा कि चौथा विकेट गिरने के बाद पंत का साथ देने धोनी को मैदान पर आना चाहिए था क्योंकि उन जैसा अनुभवी खिलाड़ी एक युवा खिलाड़ी को दबाव की परिस्थितियों में संयम से खेलने के लिए प्रेरित कर सकता है। 

उन्होंने कहा, 24 रन पर चार विकेट के स्कोर के समय आप दो ऐसे खिलाड़यों को नहीं उतार सकते जो आक्रामक अंदाज से खेलते हैं। पंत और पांड्या दोनों ही आक्रामक खिलाड़ी हैं और यदि पंत का साथ देने धोनी उतरते तो वह इस युवा खिलाड़ी को समझा सकते थे। 

पूर्व कप्तान ने कहा कि पंत अपना धैर्य खो रहे थे और उन्हें समझाने के लिए नॉन स्ट्राइकर छोर पर कोई अनुभवी खिलाड़ी होना चाहिए था। लेकिन प्रबंधन ने पांड्या जैसे आक्रामक खिलाड़ी को भेज दिया और नतीजा सबसे सामने है। इसका जवाब किसी के पास नहीं है कि इस समय धोनी को क्यों नहीं भेजा गया। भारतीय जनता को यह जानने का अधिकार है कि यह फैसला कैसे किया गया। यह चयन समीति का फैसला नहीं था बल्कि टीम प्रबंधन का फैसला था।