BREAKING NEWS

श्रीहरिकोटा से लॉन्‍च हुआ चंद्रयान- 2 , ISRO ने फिर रचा इतिहास◾कर्नाटक संकट : विधानसभा में बोले शिवकुमार- BJP क्यों स्वीकार नहीं कर रही कि वह कुर्सी चाहती है◾कर्नाटक : सुप्रीम कोर्ट का फ्लोर टेस्ट पर तत्काल सुनवाई से इंकार ◾विवादित बयान पर राज्यपाल मलिक ने दी सफाई, बोले-मुझे ऐसा नहीं कहना चाहिए था◾शंकर सिंह वाघेला ने मोदी सरकार पर साधा निशाना, कहा- कश्मीर में धर्म के आधार पर लोगों को बांट रही है◾ISRO फिर रचने जा रहा इतिहास, चंद्रयान-2 का काउंटडाउन शुरू, आज दोपहर 2 बजकर 43 मिनट पर लॉन्चिंग◾केरल में NDA सहयोगी का दावा, कई कांग्रेस सांसद, विधायक BJP के संपर्क में ◾अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण अगले साल हर हाल में हो जाएगा शुरू : वेदांती◾मैं नाली, शौचालय साफ करने के लिए नहीं बनी हूं सांसद : प्रज्ञा सिंह ठाकुर ◾'कालेधन' को लेकर भाजपा के खिलाफ प्रदर्शन करें कार्यकर्ता : ममता ◾जम्मू-कश्मीर राज्यपाल का विवादित बयान- पुलिसवालों की नहीं, भ्रष्ट नेताओं की हत्या करें आतंकी◾तृणमूल नेताओं को धमकाने वाले सीबीआई अधिकारियों का नाम बताए ममता : भाजपा ◾हिमा की 400 मीटर में वापसी, जुलाई में जीता पांचवां स्वर्ण पदक , PM मोदी ने दी बधाई !◾Top 20 News 21 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾इजराइल प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू 9 सितंबर को करेंगे भारत की यात्रा, PM मोदी से मिलेंगे◾सिद्धू ने चंडीगढ़ में आवंटित सरकारी बंगला खाली किया ◾सोनभद्र की घटना के लिए कांग्रेस और सपा नेता जिम्मेदार : CM योगी ◾मोदी सरकार ने देश को बदला, अच्छे दिन लाई : जेपी नड्डा ◾पंचतत्व में विलीन हुई शीला दीक्षित, राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार◾मुंबई : ताज होटल के पास की इमारत में लगी आग, एक की मौत ◾

खेल

सम्मान की लड़ाई लड़ेंगी महिलाएं

हेमिल्टन : भारत ने मिताली राज की कप्तानी में न्यूजीलैंड से महिला वनडे सीरीज 2-1 से जीत ली थी लेकिन हरमनप्रीत कौर की कप्तानी में भारतीय टीम ट्वंटी-20 मैचों की सीरीज में 0-2 से पिछड़ चुकी है। भारतीय टीम को रविवार को न्यूजीलैंड से हेमिल्टन में होने वाले तीसरे और अंतिम ट्वंटी-20 मुकाबले में सम्मान की लड़ाई लड़नी होगी और दौरे का समापन जीत के साथ करना होगा।

हरमनप्रीत की कप्तानी वाली ट्वंटी-20 टीम से अनुभवी बल्लेबाज मिताली राज को पहले दोनों ट्वंटी-20 मैचों से यह कहते हुए बाहर रखा गया है कि उनका स्ट्राइक रेट धीमा है। यही बात पिछले साल नवम्बर में वेस्ट इंडीज में हुए ट्वंटी-20 विश्व कप के सेमीफाइनल में मिताली को बाहर रखते हुए कही गयी थी और उस मुकाबले भारतीय पारी का पतन हो गया था।

वैसे ही हालत इस ट्वंटी-20 सीरीज में भी दिखाई दे रहे हैं और कप्तान हरमनप्रीत का भी कहना है कि मिताली को एकादश से बाहर रखने का कारण उनकी धीमी बल्लेबाजी है। हरमनप्रीत शायद अपने प्रदर्शन पर गौर नहीं कर पा रहीं हैं कि उनका अपना प्रदर्शन कितना फ्लॉप चल रहा है और पहले दो मैचों में भारत की हार का सबसे बड़ा कारण हरमनप्रीत की बल्ले से नाकामी है।

हरमनप्रीत को वनडे सीरीज के पहले दो मैचों में मैदान में उतरने का मौका नहीं मिल पाया था और जब तीसरे वनडे में वह उतरीं तो मात्र 24 रन ही बना सकीं। दो ट्वंटी-20 मैचों में उनका योगदान 17 और 5 रन रहा है। हरमनप्रीत का इससे पहले महिला बिग बैश लीग में भी प्रदर्शन काफी निराशाजनक रहा था।

भारतीय टीम में केवल स्मृति मंधाना और जेमिमा रोड्रिग्स ही दो बल्लेबाज ऐसी हैं जो भरोसे के साथ बल्लेबाजी कर रही हैं लेकिन दो बल्लेबाजों के भरोसे मैच नहीं जीता जा सकता। टीम को मिताली जैसी अनुभवी बल्लेबाज की कमी खल रही है और कप्तान हरमनप्रीत अपनी प्रतिभा के साथ न्याय नहीं कर पा रही हैं। मिताली जैसी बल्लेबाज को टीम में शामिल होने के बावजूद एकादश से बाहर रखना किसी भी तरह से उचित फैसला नहीं कहा जा सकता।