कोच बनते ही द्रविड़ की फीस में 100 फीसदी की वृद्धि, अब मिलेंगे सालाना 5 करोड़ !


नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने घोषणा की है कि दिग्गज क्रिकेट खिलाड़ी और पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ अगले दो साल तक इंडिया-ए और अंडर-19 टीम के कोच बने रहेंगे। हालांकि, उन्हें अब इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की टीम दिल्ली डेयरडेविल्स के मेंटॉर के रूप में नहीं देखा जाएगा। द्रविड़ ने शुक्रवार को डेयरडेविल्स के मेंटॉर पद से इस्तीफा दे दिया। फ्रेंचाइजी ने इसकी पुष्टि की है।

अगले दो साल तक भारत ए और अंडर 19 के कोच बने रहेंगे
बीसीसीआई ने भारत ए और अंडर 19 के कोच व पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ की फीस में सौ फीसदी की वृद्धि कर दी है। शुक्रवार को राहुल द्रविड़ ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि वह अगले दो साल तक भारत ए और अंडर 19 के कोच बने रहेंगे। अप्रैल 2016 में, बोर्ड की ऑफिशियल वेबसाइट पर जारी से पता चलता है कि पूर्व भारतीय कप्तान की फीस 2.62 करोड़ रुपए थी, जिसकी दूसरी किश्त-1.3 करोड़ उन्हें दो अप्रैल को दी गई।

Source

द्रविड़ को आईपीएल और भारत में से एक को चुनना था
एक अखबार में छपी एक खबर के मुताबिक, द्रविड़ और बीसीसीआई की दो सप्ताह चली बैठकों के बाद यह तय किया गया कि राहुल की फीस 5 करोड़ रुपए होगी, लेकिन सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित कमेटी ऑफ एडमिनिस्टेर (सीओए) की नियुक्ति के बाद यह तय किया गया कि सभी कोचों और सपोर्ट स्टाफ के लिए 12 माह का अनुबंध होगा, लेकिन कोच को आईपीएल और भारत में से एक को चुनना होगा। ताकि किसी भी तरह के विवाद से बचा जा सके।

अब द्रविड़ मीडिया हाउस से या किसी भी कमेंटरी के लिए उपलब्ध नहीं होंगे
इससे पहले बीसीसीआई सभी कोचों के साथ दस माह का अनुबंध करता था और वे आईपीएल का भी हिस्सा हो सकते थे। द्रविड़ ने कोच के रूप में लगातार काम करने की अपनी इच्छा पहले ही प्रकट कर दी थी। अब बीसीसीआई के नए प्रस्ताव को मंजूर करने का अर्थ होगा कि राहुल मीडिया हाउस से या किसी भी कमेंटरी के लिए उपलब्ध नहीं होंगे।

Source

पिछले दो साल से युवाओं के खेल को निखारने में लगे हैं द्रविड़
बीसीसीआई के महासचिव अमिताभ चौधरी ने एक बयान में कहा, राहुल द्रविड़ अपनी अनुशासनप्रियता और प्रतिबद्धता के लिए जाने जाते हैं। वह पिछले दो साल से युवाओं के खेल को निखारने में लगे हैं। मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं, अगले दो साल दो टीमों की कोचिंग के नए अनुबंध के लिए।

बता दें कि साल 2015 में द्रविड़ को पहली बार इंडिया-ए और अंडर-19 टीम के कोच पद की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। उनके मागदर्शन में टीम ने कई उपलब्धियां हासिल की थीं, लेकिन उनकी छत्रछाया में रहकर डेयरडेविल्स आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करने में असफल रही।

Source

द्रविड़ के मार्गदर्शन में इंडिया-ए ने जीती थी ऑस्ट्रेलिया में त्रिकोणीय सीरीज
कोच के तौर पर द्रविड़ के मार्गदर्शन में इंडिया-ए ने ऑस्ट्रेलिया में त्रिकोणीय सीरीज जीती थी। उनकी ही छत्रछाया में अंडर-19 टीम पिछले साल आयोजित हुए विश्व कप टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची थी।

इस घोषणा पर बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सी.के. खन्ना ने कहा, “पिछले दो साल में द्रविड़ ने कई युवा प्रतिभाओं की खोज की। हम अगले दो साल तक कोच को तौर पर उनकी सेवा लेने पर खुश हैं और आश्वस्त हैं कि यह भारतीय क्रिकेट के लिए सुनहरा पल है। इससे भविष्य में भारतीय क्रिकेट जगत को कई नई युवा प्रतिभाएं मिलेंगी।”

डेयरडेविल्स ने अपने बयान में कहा, “पिछले दो साल में राहुल द्रविड़ के साथ काम करना बेहद सम्मान और गर्व की बात है। हमने उनके साथ का पूरा लुत्फ उठाया और साथ में मिलकर कुछ युवा प्रतिभावान खिलाड़ियों को सामने लेकर आए।”