क्रिकेट खेल में आए दिन नए रिकॉर्ड बनते रहते हैं और पुराने रिकॉर्ड टूटते रहते हैं। क्रिकेट खेल के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर का 100 शतकों का रिकॉर्ड भी अब खतरे में आ गया है।

सचिन तेंदुलकर के कई ऐसे बड़े रिकॉर्ड हैं जिसे विराट कोहली तोड़ सकते हैं। इसी तरह से कर्ई ऐसे रिकॉर्ड हैं जो एक के एक बाद एक करके टूट रहे हैं। इसके बाद भी क्रिकेट के कई ऐसे रिकॉर्ड हैं जिसका टूटना लगभग नामुमकिन लगता है।

आज हम आपको क्रिकेट के ऐसे ही 5 रिकॉर्ड के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका टूटना नामुमकिन है।

5.19 विकेट के टेस्ट मैच में

इंग्लैंड के गेंदबाज जिमी लेकर ने साल 1956 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मैच में 19 बल्लेबाजों को आउट किया था। जिमी लेकर के पारी में 10 विकेट के रिकॉर्ड की बराबरी अनिल कुंबले ने कर दी लेकिन मैच में 19 विकेट लेने के आसपास भी कोई नहीं पहुंचा है। आज के समय में क्रिकेट को देखते हुए एक गेंदबाज का मैच में 19 या 20 विकेट लेना नामुमकिन ही है।

4. 99.94 का औसत टेस्ट मैच में

टेस्ट क्रिकेट में किसी भी बल्लेबाज का अगर औसत 50 का होता है तो वह बहुत ही अच्छा बल्लेबाज माना जाता है। ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम के पूर्व बल्लेबाज सर डॉन ब्रैडमैन ने टेस्ट में 99.94 की औसत से रन बनाए हैं। अगर वह अपने अंतिम टेस्ट पारी में 4 रन बना लेते तो उनका औसत 100 का होता, लेकिन वह बिना खाता खोले आउट हो गए। इस रिकॉर्ड टूटना लगभग नामुमकिन है।

3. टेस्ट क्रिकेट में 800 विकेट

 

श्रीलंका क्रिकेट टीम के महान स्पिन गेंदबाज मुथैया मुरलीधरन ने टेस्ट क्रिकेट में 800 विकेट लिए हैं। इस लिस्ट में उनके बाद शेन वार्न का नाम है। वार्न ने टेस्ट क्रिकेट में 708 विकेट लिए हैं। आजकल के क्रिकेट में जिस तरह से बल्लेबाजों की तरफ खेल झुकता जा रहा है ऐसे में 800 विकेट लेना नामुमकिन ही है।

2. टेस्ट क्रिकेट में सबसे ज्यादा टेस्ट मैच खिलने का रिकॉर्ड

भारतीय टीम के पूर्व बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अपने करियर में 200 टेस्ट मैच खेले हैं। उन्होंने अपना पहला टेस्ट 1989 में पाकिस्तान के खिलाफ खेला था। वहीं अंतिम टेस्ट 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ। आज की क्रिकेट में किसी खिलाड़ी को 24 साल अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में टिकना लगभग नामुमकिन ही है ।

1. टेस्ट क्रिकेट में नंबर 10 बल्लेबाज का सबसे बड़ा स्कोर

इंग्लैंड के खिलाड़ी वाल्टर रीड ने 1884 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 117 रन बनाये थे। आज इस रिकॉर्ड के बनने के 134 साल बाद भी यह नहीं टूट पाया है। तीन अन्य खिलाड़ियों ने नंबर 10 पर बल्लेबाजी करते हुए शतक बनाया है लेकिन वह रीड का रिकॉर्ड नहीं तोड़ पाए।