अंशु ने विश्व कैडेट कुश्ती में भारत को दिलाया स्वर्ण पदक


भारत की महिला पहलवानों ने दूसरे दिन भी यहां विश्व कैडेट कुश्ती प्रतियोगिता में अपने जबरदस्त प्रदर्शन का सिलसिला जारी रखा और सोनम के बाद अंशु ने अपने 60 किग्रा वजन वर्ग में एक और स्वर्ण पदक हासिल किया। सोनम के 56 किग्रा वजन वर्ग में स्वर्ण जीतने के एक दिन बाद अंशु ने महिलाओं के 60 किग्रा वर्ग के फाइनल मुकाबले में जापान की नाओमी रूइके को को शुरुआती राउंड में छकाते हुए पहले एक अंक झटका और फिर पूरी तरह हावी होकर 2-0 से जीत अपने नाम करते हुए भारत की झोली में प्रतियोगिता का दूसरा स्वर्ण पदक डाल दिया।

एथेंस के एनो लाइयोसिया ओलंपिक हॉल में चल रही विश्व कैडेट चैंपियनशिप के पाचवें दिन भी भारतीय पहलवानों ने पदक प्रदर्शन करते हुये स्वर्ण के साथ तीन कांस्य भी हासिल किये। अभी तक प्रतियोगिता में कोई दिन ऐसा नहीं रहा जिसमें भारत ने पदक ना जीता हो। यह पहला मौका है जब भारत ने कैडेट विश्व स्तर पर इतनी बड़ी कामयाबी हासिल की है।

अंशु ने पिछले वर्ष जॉर्जिया में हुई कैडेट चैंम्पियनशिप में कांस्य पदक जीता था। जबरदस्त फार्म में खेल रही अंशु ने स्वर्ण पदक के सफर में रोमानिया की अमीना रोक्साना केपेजान को पहले दौर में मात्र 39 सेकंड में चित किया था। दूसरे मुकाबले में उन्होंने रूसी पहलवान अनास्तासिया पारोखिना को 6-2 से पराजित किया। सेमीफाइनल के अहम मुकाबले में उन्होंने शानदार कुश्ती खेलते हुए हंगरी की एरिका बोंगर को 8-0 के बड़े अंतर से हराकर फाइनल में जगह बनाई।