क्रिकेट में ज्योतिष की मदद से अपनी सटीक भविष्यवाणी के लिये सुर्खियां बटोरने वाले नरेद्र बुंदे के मुताबिक विराट कोहली के नेतृत्व में भारतीय टीम को विदेशी दौरे पर सफलता मिलेगी। उनके साथ ही कहा कि कोहली को भी भारतीय खेल इतिहास का सबसे बड़ एंडोर्समेंट करार मिलने वाला है।

नागपुर के बुंदे इससे पहले सचिन तेंदुलकर की टेनिस एल्बो चोट के बाद वापसी और भारत रत्न मिलने की सही भविष्यवाणी कर चुके हैं। उन्होंने सौरव गांगुली की वापसी और भारतीय टीम के 2011 में विश्व कप जीतने की भविष्यवाणी भी की थी जो सही साबित हुई। उन्होंने कुछ समय पहले कहा था कि 36 वर्षीय पूर्व कप्तान महेद्र सिंह धोनी इंग्लैंड में 2019 में होने वाले विश्व कप में टीम का हिस्सा होंगे।

Mahendra Singh Dhoni

बुंदे ने कहा, जब लोग धोनी के खिलाफ बात कर रहे थे तब मेरी भविष्यवाणी थी कि धोनी 2019 विश्व कप की टीम में होंगे और पिछले चार महीने के उनके प्रदर्शन से ऐसा ही लग रहा है। उन्होंने कोहली के बारे में कहा, कोहली को जल्द ही ऐसा करार मिलने वाला है जैसा मार्क मास्करेनहास ने सचिन तेंदुलकर के साथ किया था। आज के इस दौर में यह करार उससे भी बड़ होने वाला है। कोहली का शुक्र ग्रह काफी मजबूत है इसलिये वह विदेश में अच्छा करेंगे।

भारतीय टीम फिलहाल दक्षिण अफ्रीका के दौरे पर है। इस साल टीम को इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया का भी दौरा करना है। बुंदे ने कहा, मेरा मतलब यह है कि अब टीम को उतने बुरे नतीजे नहीं मिलेगे जैसा कि पहले होता था जब विरोधी टीम हमारा सफाया कर देती थी। कोहली के सितारे और ग्रहों की चाल के मुताबिक भारत को न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया में सकारात्मक नतीजे मिलने की संभावना है।

 

तेंदुलकर 1990 के दशक में जब शानदार प्रदर्शन कर रहे थे तब मास्करेनहास ने सेलीब्रिटी मैनेजमेंट के मायने बदलते हुये इस क्रिकेट सितारे के साथ करोड़ रुपये का करार किया था। बुंदे ने 2006 से भविष्यवाणी करना शुरू किया। इसके बाद गांगुली, मुरली कार्तिक, एस। श्रीसंत, जहीर खान, गौतम गंभीर और सुरेश रैना जैसे क्रिकेटर उनसे सलाह ले चुके हैं। आईसीसी महिला विश्व कप से पहले भारतीय टीम की कप्तान मिताली राज ने भी उनसे सलाह ली थी।

mitali raj

इस साल रणजी चैम्पियन बने विदर्भ के कप्तान फैज फजल भी उनसे सलाह ले चुके हैं। बुंदे ने कहा, मैंने फजल से बात कर उन्हें घरेलू एकदिवसीय मैचों में 24 नंबर लिखी जर्सी पहनने को कहा, जैसा उन्होंने किया। मिताली को भी मैंने 33 नंबर लिखी जर्सी पहनने की सलाह दी जो उनके लिये भाज्ञशाली रहा। बुंदे ने कहा कि उनकी भविष्यवाणी सिर्फ एक बार गलत साबित हुई है जब 2007 में वेस्टइंडीज में हुये विश्व कप के पहले दौर से भारतीय टीम बाहर हो गयी थी।

24X7  नई खबरों से अवगत रहने के लिए क्लिक करे