भुवनेश्वर : गत दो बार के चैंपियन और विश्व की नंबर एक टीम ऑस्ट्रेलिया ने तूफानी प्रदर्शन करते हुए चीन को पूल बी के मुकाबले में शुक्रवार को 11-0 से रौंद कर हॉकी विश्व कप टूर्नामेंट के क्वार्टरफाइनल में जगह बना ली जबकि इंग्लैंड ने आयरलैंड को 4-2 से हराकर क्रॉस ओवर मैच में पहुंचकर अपनी उम्मीदें कायम रखीं।

ऑस्ट्रेलिया की जबरदस्त जीत में ब्लेक गोवर्स ने शानदार हैट्रिक जमाई। ऑस्ट्रेलिया की पूल बी में यह लगातार तीसरी जीत है और उसने नौ अंकों के साथ शीर्ष पर रहते हुए सीधे क्वार्टरफाइनल में स्थान बना लिया है। चीन की तीन मैचों में पहली हार है और उसके दो ड्रा से दो अंक हैं।

इंग्लैंड ने आयरलैंड को 4-2 से पराजित किया और पूल में चार अंकों के साथ दूसरे स्थान पर पहुंच गया। चीन दो अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रहा। आयरलैंड एक अंक के साथ चौथे स्थान पर रहकर होड़ से बाहर हो गया। हर पूल से शीर्ष टीम सीधे क्वार्टरफाइनल में पहुंच गयी जबकि दूसरे और तीसरे स्थान पर रहने वाली टीमें क्रॉस ओवर मैच खेलेंगी और जीतने वाली टीम क्वार्टरफाइनल में पहुंचेगी।

खिताबी हैट्रिक के लिए टूर्नामेंट में उतरे ऑस्ट्रेलिया ने ओ​डिशा हॉकी विश्व कप में अब तक सबसे बड़ी जीत दर्ज की। इस टूर्नामेंट में यह पहली बार है कि किसी टीम ने एक मैच में 10 गोल दागे हैं। चीन ने पहले 10 मिनट तक ऑस्ट्रेलिया को रोका लेकिन जैसे ही यह गतिरोध टूटा, ऑस्ट्रेलियाई आंधी ने चीन को उड़ दिया।

गोवर्स ने 10वें मिनट में पेनल्टी कार्नर पर पहला गोल किया। गोवर्स ने फिर 19वें और 34वें मिनट में गोल दागे। एरन जालेवस्की ने 15वें, टॉम क्रैग ने 16वें, जेरेमी हेवर्ड ने 22वें, जेक वेटन ने 29वें, टिम ब्रांड ने 33वें और 55वें, डायलन वोदरस्पून ने 38वें तथा फ्लिन ओगिल्वी ने 49वें मिनट में गोल कर चीन को हॉकी का अच्छा पाठ पढ़ दिया।

ऑस्ट्रेलिया को मैच में छह पेनल्टी कार्नर मिले जबकि चीन के हिस्से एक भी पेनल्टी कार्नर नहीं आया। इंग्लैंड ने शानदार प्रदर्शन किया और आयरलैंड पर बेहतरीन जीत हासिल की।