इतिहास बदल कर ट्रॉफी जीतेंगे: रोहित


बेंगलुरु: कोलकाता नाइटराइडर्स को हराकर फाइनल में पहुंची मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि फाइनल में वह राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स के खिलाफ न सिर्फ अपना इतिहास बदलेंगे बल्कि खिताब भी जीतेंगे।

दो बार चैंपियन रही मुंबई ने शुक्रवार रात कोलकाता नाइटराइडर्स को दूसरे क्वालिफायर में छह विकेट से हरा कर आईपीएल 10 के खिताबी मुकाबले में प्रवेश कर लिया जहां खिताब के लिए अब उसका सामना पहली बार फाइनल में पहुंचे राइजिंग पुणे सुपरजाइंट्स से होगा। रोहित ने कहा, पिछले मैच में मिली हार के बाद हमने काफी मेहनत की है। आज का दिन हमारे लिए बेहद शानदार रहा। इस जीत से हमें काफी आत्मविश्वास मिला है और अब हम फाइनल में भी इसी प्रदर्शन को बरकरार रखना चाहते हैं।

पुणे के खिलाफ हमारा रिकॉर्ड थोड़ा अलग है। लेकिन इस बार हम इतिहास बदलेंगे और ट्रॉफी अपने नाम करेंगे। 2013 और 2015 में दो बार जीत चुकी मुम्बई की टीम चौथी बार फाइनल में पहुंची है। मुम्बई 2010 में उपविजेता रही थी। लेकिन आंकड़े बताते हैं मुंबई और पुणे आईपीएल इतिहास में अब तक चार बार आमने सामने हो चुके हैं जिसमें से पुणे ने तीन बार मुंबई को हराया है।

रोहित ने कहा, गेंदबाजों ने नियमित अंतराल पर विकेट निकाले जिससे हम विपक्षी टीम के स्कोर पर अंकुश लगाने में सफल रहे। यह पूरी टीम की एकजुटता का प्रदर्शन है। हम किसी एक खिलाड़ी पर निर्भर नहीं रहते बल्कि पूरी टीम एक जुट होकर खेलती है। हमें पता है कि हम फाइनल ऐसी टीम के खिलाफ खेलेंगे जिसके खिलाफ हमारा इतिहास ठीक नहीं रहा है। लेकिन मुझे उम्मीद है कि हम इस बार अपने इतिहास को भी बदलेंगे और खिताब भी जीतेंगे। मुंबई के लेग स्पिनर कर्ण शर्मा ने 16 रन पर चार विकेट झटके और उन्हें मैन आफ द मैच के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

कर्ण ने कहा, मैंने सही समय पर शानदार गेंदबाजी की। पिछले वर्ष मेरा प्रदर्शन सही नहीं रहा था लेकिन इस बार मैंने काफी मेहनत की है। यह हमारे लिए काफी अहम मैच था और मेरी कोशिश थी कि मैं अपनी टीम के लिए जल्द से जल्द विकेट निकालूं। मुझे खुशी है कि मैंने टीम की जीत में अपना योगदान दिया।

(वार्ता)