धवन ने पहुंचाया भारत को ‘शिखर’ पर


लंदन : ओपनर शिखर धवन (125) के लाजवाब शतक और रोहित शर्मा (78) तथा महेन्द सिंह धोनी (63) के शानदार अर्धशतकों के दम पर गत चैंपियन भारत ने श्रीलंका के खिलाफ आईसीसी चैंपियंस ट्राफी के ग्रुप बी मुकाबले में गुरुवार को छह विकेट पर 321 रन का मजबूत स्कोर बना लिया।

शिखर ने अपने करियर का 10 वां वनडे शतक ठोका और रोहित के साथ पहले विकेट के लिये 24.5 ओवर में 138 रन की साझेदारी की। शिखर और रोहित ने लगातार दूसरे मैच में शतकीय साझेदारी की। उन्होंने पिछले मैच में पाकिस्तान के खिलाफ ओपनिंग में 136 रन जोड़े थे।

बांये हाथ के बल्लेबाज शिखर ने 128 गेंदों पर 125 रन में 15 चौके और एक छक्का लगाया। वह चैंपियंस ट्राफी में सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर बनाने में चौथे भारतीय बल्लेबाज बन गये हैं। शिखर ने लगभग डेढ़ साल बाद जाकर शतक बनाया। उनका पिछला शतक 20 जनवरी 2016 को आस्ट्रेलिया के खिलाफ कैनबरा में बना था। रोहित ने एक और बेहतरीन पारी खेली और 79 गेंदों पर 78 रन में छह चौके और तीन छक्के लगाये। वह एक बार फिर शतक से दूर रह गये। उन्होंने पिछले मैच में 91 रन बनाये थे। पूर्व कप्तान धोनी ने 52 गेंदों पर सात चौकों और दो छक्कों की मदद से 63 रन की चमकदार पारी खेली। केदार जाधव ने 13 गेंदों पर नाबाद 25 रन में तीन चौके और एक छक्का ठोका।

विराट का वनडे में 181 मैचों में यह 11 वां शून्य था। विराट वनडे में लगभग तीन साल बाद जाकर शून्य पर आउट हुए। पाकिस्तान के खिलाफ मैन आफ द मैच रहे युवराज सिंह भी इस बार सस्ते में निपट गये। युवराज ने सात रन बनाये और उन्हें असेला गुणारत्ने ने बोल्ड किया। भारत का तीसरा विकेट 179 के स्कोर पर गिरा। शिखर ने इसके बाद धोनी के साथ चौथे विकेट के लिये 10.4 ओवर में 82 रन की साझेदारी की जिसने भारत को मजबूत स्थिति में पहुंचा दिया। धोनी हालांकि शुरुआत में धीमे रहे लेकिन इसके बाद उन्होंने हाथ खोलते हुए सात चौके और दो छक्के लगाये। शिखर ने अपना शतक 112 गेंदों में 13 चौकों की मदद से पूरा किया।

शिखर का विकेट मलिंगा  ने लिया। भारत ने अपना चौथा विकेट 261 के स्कोर पर गंवाया। हार्दिंक पांड्या नौ रन बनाकर सुरंगा लकमल का शिकार बने। धोनी आखिरी ओवर में परेरा की दूसरी गेंद पर आउट हुए। जाधव ने तीसरी गेंद पर छक्का और अंतिम दो गेंदों पर चौके उड़ाते हुए भारत को 321 तक पहुंचा दिया। भारत ने अंतिम 10 ओवर में 103 रन जोड़े। मलिंगा ने 70 रन पर दो विकेट ,लकमल ने 72 रन पर एक विकेट , प्रदीप ने 73 रन पर एक विकेट ,परेरा ने 54 रन पर एक विकेट और गुणारत्ने ने सात रन पर एक विकेट लिया।