अय्यर ने दिलायी दिल्ली को गुजरात पर जीत


कानपुर  : श्रेयस अय्यर केवल चार रन से शतक से चूक गये लेकिन उनकी विषम परिस्थितियों में खेली लाजवाब पारी से दिल्ली डेयरडेविल्स ने आईपीएल दस के आखिर ओवर तक खिंचे रोमांचक मैच में आज यहां गुजरात लायन्स को दो विकेट से हराया। अय्यर ने दूसरे ओवर में क्रीज पर कदम रखा और 57 गेंदों पर 96 रन बनाये जो उनके करियर का सर्वाेच्च स्कोर है। उन्होंने अपनी पारी में 15 चौके और दो छक्के लगाये। इस 22 वर्षीय बल्लेबाज ने करूण नायर (30) के साथ तीसरे विकेट के लिये 57 और पैट कमिन्स (13 गेंदों पर 24) के साथ सातवें विकेट के लिये 61 रन की दो अर्धशतकीय साझेदारियां की। अमित मिश्रा ने आखिरी ओवर में लगातार दो चौके जड़कर टीम का स्कोर 19 . 4 ओवर में आठ विकेट पर 197 रन पर पहुंचाया। इससे पहले आरोन फिंच ने 39 गेंदों पर छह चौकों और चार छक्कों की मदद से 69 रन बनाये। उन्होंने कार्तिक (28 गेंदों पर 40 रन)  के साथ चौथे विकेट के लिये 92 रन की साझेदारी करके टीम को शुरूआती झटकों से उबारा।

सलामी बल्लेबाज इशान किशन 25 गेंदों पर 34 रन का योगदान दिया। इससे टास गंवाने के बाद पहले बल्लेबाजी के लिये उतरे लायन्स ने पांच विकेट पर 195 रन का दमदार स्कोर बनाया। लायन्स और डेयरडेविल्स दोनों प्लेआफ की दौड़ से पहले ही बाहर हो चुके हैं और वे प्रतिष्ठा की खातिर ग्रीन पार्क मैदान पर उतरी थी। डेयरडेविल्स ने इस जीत से अंकतालिका में अपनी स्थिति कुछ हद तक सुधार ली है। उसकी यह 12 मैचों में पांचवीं जीत है और वह दस अंक लेकर छठे स्थान पर आ गया है। लायन्स की यह नौवीं हार है और आठ अंक के साथ वह सातवें स्थान पर खिसक गया है। डेयरडेविल्स ने अपने दो युवा धुरंधरों के विकेट दूसरे ओवर में ही गंवा दिये। संजू सैमसन (दस) ने प्रदीप सांगवान की गेंद पुल करने के प्रयास में अपने विकेटों पर खेल दी जबकि सुरेश रैना ने अपनी चपलता से रिषभ पंत (चार) को रन आउट करके उन्हें समय पर अपना बल्ला क्रीज के अंदर नहीं रखने की सजा दी।

ऐसे मौके पर अय्यर और नायर ने जिम्मेदारीी संभाली। अय्यर ने पहले हाथ खोले और बाद में नायर ने गेंदबाजों पर हावी होने की कोशिश की। भारत की तरफ से टेस्ट क्रिकेट में तिहरा शतक जडऩे वाले दूसरे बल्लेबाज नायर ने बासिल थम्पी पर छक्का और फिर ड्वेन स्मिथ पर लगातार तीन चौके लगाये जिससे पावरप्ले की समाप्ति पर स्कोर दो विकेट पर 64 रन पहुंच गया। जेम्स फाकनर ने हालांकि इसके बाद नायर के तेवरों को जल्द ही ठंडा कर दिया जिन्होंने धीमी गेंद पर कवर पर कैच थमाया। अय्यर ने दूसरे छोर से रन बनाने जारी रखे। उन्होंने 33 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया लेकिन मर्लोन सैमुअल्स (एक) ओर कोरे एंडरसन (छह) के रन आउट होने से टीम की लक्ष्य तक पहुंचने की उम्मीदों को झटका लगा। एक छोर से विकेट गिरने के बावजूद अय्यर ने हिम्मत नहीं हारी। सांगवान पर दो और कुलकर्णी पर लगातार लगाये गये तीन चौके इसके सबूत हैं। ऐसे में पैट कमिन्स के रूप में उन्हें अच्छा साथी मिला। अय्यर और कमिन्स ने 17वें ओवर में जेम्स फाकनर पर छक्के जड़कर रन और गेंदों के बीच का अंतर कम किया। कमिन्स के आउट होने से लायन्स की उम्मीदें बंधी। दिल्ली को आखिरी ओवर में नौ रन की दरकार थी। ऐसे में थम्पी ने खूबसूरत यार्कर पर अय्यर का विकेट उखाड़ दिया। नये बल्लेबाज मिश्रा (नाबाद आठ) ने हालांकि लगातार दो चौके जड़कर अपनी टीम को जीत दिलायी। इससे पहले लायन्स की शुरूआत अच्छी नहीं रही। पिछले मैच में 74 रन की धमाकेदार पारी खेलने वाले ड्वेन स्मिथ  (74) जल्द ही रन आउट हो गये। पैट कमिन्स ने अच्छी फार्म में चल रहे कप्तान सुरेश रैना (छह) की गिल्लियां बिखेरी और युवा इशान किशन ने कुछ अच्छे शाट खेलने के बाद अमित मिश्रा की गेंद पर आसान कैच दे दिया। इससे स्कोर तीन विकेट पर 56 रन हो गया।

लायन्स अगर पावरप्ले के छह ओवरों मेें 50 रन बना पाया तो इसका श्रेय इशान को जाता है जिन्होंने अपनी पारी में पांच चौके और मोहम्मद शमी की गेंद पर स्क्वायर लेग क्षेत्र में छक्का लगाया। बाद में फिंच ने मिश्रा की लगातार गेंदों पर मिडविकेट और लांग आफ पर छक्के जड़कर तेजी दिखायी। दूसरे छोर पर कार्तिक ने भी स्कोर की गति तेज करने में उनका पूरा साथ दिया। इससे 16वें ओवर की समाप्ति तक स्कोर तीन विकेट पर 148 रन पहुंच गया। कार्तिक इसके तुरंत बाद आसान कैच देकर पवेलियन लौट गये लेकिन फिंच ने जिम्मेदारी संभाले रखी। इस आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज ने शमी की फुललेंथ गेंद पर बोल्ड होने से पहले कार्लोस बे्रथवेट और हमवतन पैट कमिन्स पर कुछ करारे शाट जमाये। उन्होंने अपनी पारी में छह चौके और चार छक्के लगाये। जेम्स फाकनर 14 और रविंद, जडेजा 13 रन बनाकर नाबाद रहे।

(भाषा)