रोहित का चयनकर्ताओं को करारा जवाब


नयी दिल्ली : धुरंधर ओपनर रोहित शर्मा ने बंगलादेश के खिलाफ आईसीसी चैंपियंस ट्राफी के सेमीफाइनल में गुरुवार को शानदार शतक जड़कर राष्ट्रीय चयनकर्ताओं को करारा जवाब दे दिया जिन्होंने उन्हें वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम इंडिया से बाहर कर दिया है। भारत का इंग्लैंड के बर्मिंघम में बंगलादेश के खिलाफ चैंपियंस ट्राफी सेमीफाइनल शुरु होने के समय मीडिया को जारी भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) की विज्ञप्ति में वेस्टइंडीज के दौरे के लिए भारतीय टीम की जानकारी दी गई। विंडीज दौरे के लिए चुनी गई 15 सदस्यीय भारतीय टीम में ओपनर रोहित और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को नहीं रखा गया है जो इस समय इंग्लैंड में खेल रही भारतीय टीम का हिस्सा है।

बीसीसीआई की राष्ट्रीय चयन समिति ने टीम का चयन किया है। लेकिन चयन समिति ने इस विज्ञप्ति में रोहित और बुमराह को बाहर किये जाने का कोई कारण नहीं बताया। विज्ञप्ति में यह नहीं बताया गया कि इन दोनों खिलाड़यिों को किस आधार पर बाहर किया गया। चयनकर्ताओं के इस फैसले के कुछ ही घंटे बाद रोहित ने नाबाद 123 रन ठोककर भारत को चैंपियंस ट्राफी के फाइनल में पहुंचा दिया है। रोहित ने इस टूर्नामेंट में अब तक चार मैचों में 91, 78, 12 और नाबाद 123 रन की शानदार पारियां खेली हैं। रोहित ने चार मैचों में तीन शतकीय साझेदारियां भी निभाई है जिनमें से दो साथी ओपनर शिखर धवन के साथ और आज एक कप्तान विराट कोहली के साथ है। रोहित के इस शतक के बाद अब यह सवाल उठ रहा है कि रोहित को हटाए जाने के पीछे कारण क्या है। यदि रोहित ने विश्राम मांगा है तो उसे बीसीसीआई की विज्ञप्ति में स्पष्ट किया जाना चाहिए और यदि चयनकर्ता रोहित को विश्राम देकर किसी और को आजमाना चाहते हैं तो उन्हें यह भी स्पष्ट करना चाहिए।