जीत की हैट्रिक से पुणे फाइनल में


मुंबई  : बल्लेबाजों के उम्दा प्रदर्शन के बाद आफ स्पिनर वाशिंगटन सुंदर की अगुआई में गेंदबाजों के जोरदार प्रदर्शन से राइजिंग पुणे सुपरजाइंट ने इंडियन प्रीमियर लीग के पहले क्वालीफायर में आज यहां मुंबई इंडियन्स को 20 रन से हराकर मौजूदा सत्र में इस टीम पर लगातार तीसरी जीत के साथ फाइनल में जगह बनाई। पुणे के 163 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए मुंबई के मध्यक्रम को सुंदर (16 रन पर तीन विकेट) ने ध्वस्त किया जिससे टीम नौ विकेट पर 142 रन ही बना सकी। सुंदर के करियर का यह सर्वश्रेष्ठ  प्रदर्शन है। शारदुल ठाकुर ने 37 रन देकर तीन विकेट चटकाए जबकि जयदेव उनादकट और लाकी फज्र्ञूसन ने भी एक-एक विकेट हासिल किया। मुंबई की ओर से पार्थिव पटेल ने सर्वाधिक 52 रन बनाए जबकि उनके अलावा कोई बल्लेबाज 20 रन के आंकड़े को भी नहीं छू पाया। पुणे ने इससे पहले मनोज तिवारी (58) और अजिंक्य रहाणे (56) के अर्धशतकों के अलावा महेंद सिंह धोनी (26 गेंद में नाबाद 40, पांच छक्के) की तूफानी पारी से चार विकेट पर 162 रन बनाए। तिवारी ने रहाणे के साथ दूसरे विकेट के लिए 80 और धोनी के साथ तीसरे विकेट के लिए 73 रन की साझेदारी की।
मुंबई की टीम अब 19 मई को होने वाले दूसरे क्वालीफायर में कल सनराइजर्स हैदराबाद और कोलकाता नाइट राइडर्स के बीच होने वाले एलिमिनेटर की विजेता से भिड़ेगी जिससे फाइनल में पहुंचने वाली दूसरी टीम का फैसला होगा।लक्ष्य का पीछा करने उतरे मुंबई की शुरूआत अच्छी नहीं रही।

पार्थिव ने सुंदर, जयदेव उनादकट और लाकी फज्र्ञुसन के लगातार ओवरों में छक्के मारे। लेंडस सिमंस (05) हालांकि दुर्भाज्ञपूर्ण तरीके से रन आउट हो गए जब पार्थिव ने शाट खेला और गेंदबाज शारदुल ठाकुर के हाथ से छूने के बाद गेंद विकेटों से टकरा गई जबकि वेस्टइंडीज का यह बल्लेबाज क्रीज से बाहर खड़ा था। कप्तान रोहित शर्मा (01) इसके बाद सुंदर कीी गेंद पर पगबाधा हो गए जबकि इस आफ स्पिनर के इसी ओवर में अंबाती रायुडू (00) ने भी शार्ट मिड विकेट पर पुणे के कप्तान स्टीव स्मिथ को कैच थमाया जिससे टीम का स्कोर तीन विकेट पर 41 रन हो गया। सुंदर ने अपने अगले ओवर में कीरोन पोलार्ड (07) को भी स्मिथ के हाथों कैच करायाv जबकि हार्दिक पंड्या भी 10 गेंद में 14 रन बनाने के बाद फज्र्ञूसन की गेंद पर लांग आन पर डेनियल क्रिस्टियन को कैच दे बैठे। पार्थिव ने एक छोर संभाले रखा। उन्होंने ठाकुर की गेंद पर दो रन के साथ 37 गेंद में अर्धशतक पूरा किया और 15वें ओवर में टीम के रनों का शतक पूरा किया। कृणाल पंड्या भी 11 गेंद में 15 रन बनाने के बाद ठाकुर की गेंद पर लांग आफ पर क्रिस्टियन को कैच दे बैठे। पार्थिव ने भी इसी ओवर में कृणाल के शाट को दोहराते हुए क्रिस्टयन को कैच थमाया जिससे मुंबई की जीत की रही सही उम्मीद भी टूट गई। पार्थिव ने 40 गेंद की अपनी पारी में तीन छक्के और इतने ही चौके मारे। मुंबई को अंतिम पांच ओवर में जीत के लिए 60 रन की दरकार थी जो उसकी पहुंच से दूर साबित हुआ। इससे पहले तिवारी और धोनी की पारी की बदौलत पुणे की टीम अंतिम दो ओवर में 4। रन जोडऩे में सफल रही जिसमें धोनी के बल्ले से चार छक्के निकले। मुंबई के कप्तान रोहित शर्मा ने टास जीतकर पुणे को बल्लेबाजी का न्यौता दिया जिसके बाद उनके गेंदबाजों ने कप्तान के फैसले को सही साबित करने की कोशिश की। मिशेल मैकलेनाघन ने अच्छी फार्म में चल रहे राहुल त्रिपाठी (00) को पहले ओवर की अंतिम गेंद पर बोल्ड किया। लसिथ मलिंगा ने अगले ओवर में पुणे के कप्तान स्टीव स्मिथ (01) को भी हार्दिक पंड्या के हाथों कैच कराके टीम का स्कोर दो विकेट पर नौ रन कर दिया।

सलामी बल्लेबाज रहाणे और तिवारी ने इसकेे बाद पारी को संभाला। रहाणे शुरूआत से ही लय में दिखे। उन्होंने मैकलेनाघन पर लगातार दो चौके जडऩे के बाद लेग स्पिनर कर्ण शर्मा का स्वागत चौके के साथ किया। टीम पावरप्ले में दो विकेट पर 33 रन ही बना सकी। तिवारी ने कर्ण की गेंद पर पारी का पहला छक्का जड़ा। रहाणे ने हार्दिक पंड्या पर छक्के और फिर एक रन के साथ नौवें ओवर में टीम के 50 रन पूरे किए। रहाणे ने पारी के दौरान आईपीएल में 3000 रन पूरे किए। वह यह उपलब्धि हासिल करने वाले आठवें भारतीय और कुल 11वें बल्लेबाज हैं।
रहाणे ने कृणाल पंड्या पर चौके और फिर एक रन के साथ 39 गेंद में मौजूदा सत्र का दूसरा अर्धशतक पूरा किया लेकिन इसके तुरंत बाद कर्ण की गेंद पर पगबाधा हो गए। उन्होंने 43 गेंद की अपनी पारी में पांच चौके और एक छक्का मारा। धोनी ने कर्ण पर छक्के के साथ 15वें ओवर में टीम के रनों का सैकड़ा पूरा किया। तिवारी ने मैकलेनाघन की नोबाल पर चौके के साथ 45 गेंद में अर्धशतक पूरा किया और फिर अगली गेंद पर छक्का भी मारा। धोनी ने भी मैकलेनाघन पर दो छक्के जड़े जिससे इस ओवर में 26 रन बने। धोनी ने अंतिम ओवर की दूसरी गेंद पर बुमराह पर छक्के के साथ टीम का स्कोर 150 रन के पार पहुंचाया और फिर चौथी गेंद पर भी छक्का मारा। अंतिम गेंद पर हालांकि तिवारी रन आउट हुए। उन्होंने 48 गेंद की अपनी पारी में दो छक्के और चार चौके मारे। मुंबई की ओर से मलिंगा ने तीन ओवर में 14 रन देकर एक विकेट चटकाया। कर्ण ने 30 जबकि मैकलेनाघन ने 46 रन देकर एक-एक विकेट हासिल किया।