मेलबर्न : रोजर फेडरर ने पांच सेट तक चले फाइनल में क्रोएशिया के छठे वरीय सिलिच को हराकर छठी आस्ट्रेलियाई ओपन ट्राफी और 20वां ग्रैंडस्लैम खिताब अपने नाम किया। स्विट्जरलैंड के गत चैम्पियन फेडरर ने राड लावेर एरीना में तीन घंटे तीन मिनट तक चले फाइनल में 6-2, 6-7, 6-3, 3-6, 6-1 से जीत दर्ज की। उन्होंने इस दौरान टूर्नामेंट का अपना एकमात्र सेट गंवाया। अपना 30वां ग्रैंडस्लैम फाइनल खेलने वाले फेडरर इस तरह नोवाक जोकोविच और आस्ट्रेलिया के महान रॉय इमर्सन के साथ सबसे ज्यादा आस्ट्रेलियाई ओपन पुरूष खिताब जीतने वाले खिलाड़ियों की सूची में शामिल हो गये। इस तरह उनका मेलबर्न में जीत-हार का रिकार्ड 94-13 हो गया है। उनका ग्रैंडस्लैम में यह रिकार्ड 332-52 है।

टूर्नामेंट की ‘हीट पालिसी (तापमान संबंधित नीति)’ के अंतर्गत छत को ढक दिया गया क्योंकि शाम का तापमान 38 डिग्री सेल्सियस था।
फेडरर ने छह महीने चोटिल होने के बाद पिछले साल वापसी शुरू की जिसके बाद उनका सफर शानदार चल रहा है। चार वर्षों तक वह कोई मेजर खिताब अपनी झोली में नहीं डाल सके थे लेकिन अब उन्होंने पिछले पांच ग्रैंडस्लैम से तीन में जीत दर्ज की। छत्तीस वर्षीय फेडरर ने इस तेजी और स्फूर्ति से शुरूआत की कि सिलिच भी हैरान रह गये। उन्होंने पहले और तीसरे गेम में सर्विस ब्रेक की और अपने प्रतिद्वंद्वी को महज 12 अंक के बाद नया रैकेट लेने पर बाध्य कर दिया। फेडरर ने शुरूआती सेट में केवल दो अंक गंवाये जो सिर्फ 24 मिनटतक चला। लेकिन सिलिच ने अपने बड़े फोरहैंड की बदौलत दूसरे सेट में वापसी की। हालांकि 10वें गेम में फेडरर की सर्विस पर सेट प्वाइंट गंवाने के बाद उन्होंने टाईब्रेकर में बराबरी हासिल कर मैच को 1-1 से बराबर कर लिया।

4X7 नई खबरों से अवगत रहने के लिए क्लिक करे।