गौतम का यह सवाल आपको सोचने पर मजबूर कर देगा की आजादी के 70 साल बाद भी भूख जरूरी या मंदिर-मस्जिद?


भारत इस साल अपनी स्वतंत्रता दिवस की 70वीं सालगिरह मना रहा है। भारतीय खिलाड़ी गौतम गंभीर ने इस अवसर पर मंगलवार को एक ट्वीट किया जो काफी सवालों को पैदा कर रहा है। बता दें कि इस तस्वीर में एक भूखा बच्चा दिख रहा है और इस फोटो पर कैप्शन है कि हम तेरे लिए कुछ नहीं कर सकते दोस्त। हमें अभी मंदिर और मस्जिद बनाने हैं। गंभीर ने लिखा कि अभी भी मैं इस सवाल का जवाब तलाश रहा हूं।

आपको बता दें कि यह पहली बार नहीं है कि गौतम ने इस प्रकार का ट्वीट किया हो। इससे पहले गंभीर छत्तीसगढ़ के सुकमा में हुए नक्सली हमले में शहीद जवानों के बच्चों की पढ़ाई का खर्चा उठाने की भी बात कही थी। इसके अलावा आईपीएल के दौरान उन्हें मैन ऑफ द मैच की राशि भी उनके सहयोग के लिए दी थी।

मीरवाइज को दी थी सलाह

लंदन के ओवल में खेले गए चैंपियंस ट्रॉफी के फाइनल मुकाबले में भारत की हार पर जश्न मनाने वाले अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक को क्रिकेटर गौतम गंभीर ने एक सलाह दी थी। भारत की हार पर कश्मीर घाटी में हुई आतिशबाजी में मीरवाइज के शामिल होने की तस्वीर सामने आने और पाकिस्तान को बधाई वाले ट्वीट के बाद क्रिकेटर गौतम गंभीर ने ट्वीट कर मीरवाइज पर निशाना साधा. गंभीर ने लिखा, ‘एक सलाह है मीरवाइज, तुम बॉर्डर क्यों नहीं पार कर जाते? वहां तुम्हें बढ़िया पटाखे (चाइनीज) मिलते। वहीं ईद मनाते। सामान बांधने में मैं तुम्हारी मदद कर सकता हूं।’