वीनस को हराकर स्टीफेंस फाइनल में


तीन महीने पहले गंभीर चोटों से जूझ रही अमेरिका की स्लोएने स्टीफेंस और मेडिसन कीस ने अमेरिकी ओपन महिला एकल फाइनल में जगह बना ली है और दोनों का यह पहला फाइनल होगा। बायें पैर में चोट के कारण् करीब 11 महीने कोर्ट से दूर रही स्टीफेंस ने सात बार की चैम्पियन वीनस विलियम्स को 6-1, 0-6, 7-5 से हराया। वहीं अमेरिका की ही 15वीं वरीयता प्राप्त कीस कलाई के आपरेशन के 10 महीने बाद कोर्ट पर लौटी है। उसने अमेरिका की ही 20वीं वरीयता प्राप्त कोको वांडेवेगे को 6-1, 6-2 से मात दी।

यह 15 साल बाद हुआ है जब अमेरिकी ओपन फाइनल में दोनों अमेरिका की ही खिलाड़ी है। इससे पहले 2002 में फाइनल में सेरेना विलियम्स ने वीनस को हराया था। स्टीफेंस और कीस दोनों करीबी दोस्त हैं और फेडरेशन कप टीम में साथ खेलती हैं। स्टीफेंस ने कहा, ‘ ‘ मैं उसे लंबे समय से जानती हूं।

टूर पर वह मेरे सबसे करीबी दोस्तों में से है। एक दोस्त के खिलाफ खेलना आसान नहीं होता। दोनों के बीच एकमात्र मुकाबला मियामी में 2015 में हुआ था जिसमें स्टीफेंस विजयी रही थी। कीस ने कहा, ‘ ‘वह इस समय अलग ही रंग में है।कोर्ट पर वापसी को लेकर काफी उत्साहित है।मुझे बहुत खुशी है कि हम फाइनल में एक दूसरे से खेलेंगे। ‘ ‘ फिलहाल स्टीफेंस विश्व रैंकिंग में 83वें स्थान पर है लेकिन अगले सप्ताह 25वीं रैंकिंग पर पहुंच सकती है।