आईपीएल 11 के प्ले ऑफ की सीमारेखा पर खड़ कोलकाता नाईट राइडर्स को चोटी की टीम सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ शनिवार को यहां होने वाले मुकाबले में हर हाल में जीत हासिल करने की जरूरत है। कोलकाता 13 मैचों में सात जीत और 14 अंकों के साथ तालिका में तीसरे स्थान पर है और उसे प्लेऑफ में अपनी जगह सुनिश्चित करने के लिए हर हाल में जीत अपने नाम करनी है ताकि वह बाद में किसी तरह के अगर- मगर के चक्कर में न फंसे। हैदराबाद पहले ही प्ले ऑफ में जगह बना चुकी है और उसे सिर्फ अपना शीर्ष स्थान सुनिश्चित करना है। हैदराबाद का यह आखिरी लीग मैच है जबकि शीर्ष स्थान के उसके नजदीकी प्रतिद्वंद्वी चेन्नई सुपरकिंग्स के पास दो मैच बचे हुए हैं।कोलकाता यदि यह मैच जीत जाता है तो वह 16 अंकों के साथ प्ले ऑफ में पहुंच जाएगा लेकिन हारने की स्थिति में उसे दूसरी टीमों के परिणाम और नेट रन रेट का इन्तजार करना होगा।

कोलकाता ने राजस्थान के खिलाफ पिछले मुकाबले में जैसा प्रदर्शन किया उससे निश्चित रूप से उसका मनोबल काफी मजबूत हो गया होगा। कोलकाता की जीत में युवा चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव की महत्वपूर्ण भूमिका रही थी जिन्होंने मात्र 20 रन पर चार विकेट झटके थे।  कोलकाता ने राजस्थान को 19 ओवर में 142 रन पर ढेर करने के बाद 18 ओवर में चार विकेट पर 144 रन बनाकर जीत हासिल कर ली और कप्तान दिनेश कार्तिक ने विजयी छक्का मारने सहित 31 गेंदों में पांच चौकों और एक छक्के की मदद से नाबाद 41 रन की मैच विजयी पारी खेली थी। कार्तिक चाहेंगे कि टीम के प्ले ऑफ में जाने का फैसला इसी मैच में हो जाए ताकि उन्हें बाद में अन्य टीमों का मुंह न देखना पड़।  हैदराबाद की टीम प्ले ऑफ में अपनी जगह सुनिश्चित करने के बाद चेन्नई और बेंगलुरु से लगातार दो मैच हार चुकी है और उसे जीत की लय में लौटने की सख्त जरूरत है ताकि प्ले ऑफ में वह दमदार प्रदर्शन कर सके। बेंगलुरु के छह विकेट पर 218 रन के विशाल स्कोर का पीछा करते हुए हैदराबाद तीन विकेट पर 204 रन बनाये थे और उसे 14 रन से हार का सामना करना पड़ था। इससे पहले चेन्नई ने उसे छह गेंद शेष रहते आठ विकेट से हराया था। केन विलियम्सन की टीम को उसी लय में लौटना होगा जो उसने पिछली दो पराजय से पहले दिखाई थी वरना प्ले ऑफ में उसके लिए समीकरण बिगड़ सकते हैं।

24X7  नई खबरों से अवगत रहने के लिए क्लिक करे।