बीते कुछ मुकाबलों में पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी बल्ले से उतना बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाए है जितना उनसे उम्मीद की जाती है। आईपीएल के मुकाबलों को छोड़ दिया जाए तो महेंद्र सिंह धोनी ने काफी समय से अंतर्राष्ट्रीय मैचों में कोई मैच विनिंग पारी नहीं खेली है।

महेंद्र सिंह धोनी

इस मुद्दे पर कई बार धोनी की आलोचना भी हुई की वो अब घरेलु मुकाबले नहीं खेलते है जिससे उनका बल्लेबाजी प्रदर्शन लगातार गिर रहा है और उनका खेल धीमा होता जा रहा है। लेकिन अब शायद महेंद्र सिंह धोनी ने आलोचकों का मुंह बंद करने के लिए बड़ा फैसला लिया है।

महेंद्र सिंह धोनी

जी हाँ इस समय जारी विजय हजारे ट्रॉफी में भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी झारखंड की टीम की तरफ से क आउट मुकाबलों में खेल सकते हैं। झारखंड की टीम ने अब तक इस टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करते हुए आठ में से छह मैच जीतकर क्वार्टर फाइनल में जगह पक्की की है।

महेंद्र सिंह धोनी

अब अगर महेंद्र सिंह धोनी जैसे दिग्गज के टीम में खेलने से बेशक झारखंड की टीम को और भी ज्यादा मजबूती मिलेगी। एशिया कप से वापस लौटने के बाद महेंद्र सिंह धोनी ट्रेनिंग में झारखंड की टीम के साथ रहे हैं लेकिन उन्होंने कोई भी ग्रुप मैच नहीं खेला।

महेंद्र सिंह धोनी

इस वजह से वो कई पूर्व खिलाडियों और खेल विशेषज्ञों के निशाने पर थे। झारखंड टीम के अन्य सदस्य भी धोनी के खेलने की सम्भावना से बेहद उत्साहित है।

महेंद्र सिंह धोनी

आपको बता दें की टीम के कई खिलाड़ी बेहतर प्रदर्शन कर रहे है जिनमे इशान किशन ने टीम की तरफ से सबसे ज्यादा 356 रन बनाए हैं. इशान अब तक वो एक शतक और तीन अर्धशकीय पारी खेल चुके हैं। इशान किशन ने झारखंड टीम की तरफ से सबसे ज्यादा 356 रन बनाए हैं।

महेंद्र सिंह धोनी

इशान अब तक वो एक शतक और तीन अर्धशकीय पारी खेल चुके हैं। अब देखन होगा की धोनी झारखंड की टीम की तरफ से क्या कमाल दिखा पाते है।

महेंद्र सिंह धोनी

बीते कुछ समय से धोनी ने मुकाबले भी काफी काम खेले है और इस साल की बात की जाए तो टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके धोनी ने भारतीय टीम की तरफ से 15 वनडे और 7 टी 20 मुकाबले ही खेले हैं।

महेंद्र सिंह धोनी

इस वजह से पाकिस्‍तानी क्रिकेटर Ahmed Shehzad पर हुई चार महीने का बैन, पढ़े पूरा मामला