रांची : महेंद्र सिंह धोनी ने गुरुवार को वनडे टीम की कप्तानी छोड़ने का कारण बता ही दिया। धोनी ने कहा कि मैनें विराट कोहली को टीम तैयार करने में पर्याप्त समय देने के लिये कप्तानी छोड़ने का फैसला किया था। विराट उस समय मेरे उपकप्तान थे और टीम के निर्णयों में उनकी भूमिका रहती थी। मुझे लगा ​कि विराट को 2019 विश्वकप की टीम तैयार करने और अनुभव देने के लिये समय देने की जरूरत है। इसी कारण से मैने कप्तानी छोड़ने का फैसला किया। विराट को अब कप्तानी का अच्छा अनुभव हो गया है और टीम विश्वकप में अच्छा प्रदर्शन करेगी।

सही समय पर छोड़ी कप्तानी : 37 साल के विकेटकीपर बल्लेबाज ने कहा कि नए कप्तान को जब तक पर्याप्त समय नहीं मिलेगा वह मजबूत टीम का चयन नहीं कर पाएगा। मेरा मानना है कि मैंने बिल्कुल सही समय पर कप्तानी छोड़ी। इंग्लैंड में टीम इंडिया के प्रदर्शन पर धोनी ने कहा कि सीरीज से पहले भारतीय टीम अभ्यास मैच खेलने का अवसर खोया। यही वजह रही है कि बल्लेबाजों को वहां की स्थितियों से तालमेल बैठाने में मुश्किल हुई। हालांकि, उन्होंने कहा कि यह खेल का एक हिस्सा है। हमें यह नहीं भूलना चाहिए कि भारतीय टीम मौजूदा समय में भी रैंकिंग में नंबर वन पर है। अभ्यास मैच नहीं खेलने पर सुनील गावस्कर ने भी टीम इंडिया की आलोचना की थी।

इस अभिनेत्री ने कभी किया था धोनी की गर्लफ्रेंड बनने से इंकार, आज भी है इन्‍हें इसका पछतावा