-साल 2011 में भारत विश्व कप चैंपियन बना था। बता दें कि भारतीय टीम के Cricketer ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया है। हम बात कर रहे हैं मुनाफ पटेल की जो 2011 विश्व कप चैंपियन भारतीय टीम के हिस्सा थे।

भारतीय टीम के इस Cricketer ने लिया संन्यास

खबरों के अनुसार दाएं हाथ के तेज गेंदबाज ने इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा बोल दिया है। लेकिन Cricketer मुनाफ पटेल आने वाली टी10 लीग का हिस्सा होंगे। उसमें वह राजपूत्स का प्रतिनिधित्व करते हुए नजर आएंगे।

सचिन तेंदुलकर इस Cricketer के गेंदबाजी के थे दीवाने

बता दें कि Cricketer मुनाफ पटेल ने घरेलू क्रिकेट में शानदान प्रदर्शन के दम पर भारतीय टीम में एंट्री ली थी। मुनाफ पटेल को भारतीय क्रिकेट की अगली बड़ी चीज बोला जाता था। मुनाफ ने अपनी गेंदबाजी से महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को प्रभावित किया था।

मुनाफ पटेल ने भारत ए की तरफ से न्यूजीलैंड के खिलाफ प्रथम श्रेणी में डेब्यू साल 2003 में राजकोट में किया था। इसके बाद उन्हें साल 2006 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ डरबन में टेस्ट पदार्पण करने का मौका मिला था।

संन्यास लेने का गम नहीं है Cricketer मुनाफ पटेल को

उसके बाद मुनाफ ने एक महीने बाद वनडे क्रिकेट में डेब्यू किया था। Cricketer मुनाफ पटेल का क्रिकेट कैरियर चोटों से खासा प्रभावित रहा है जिसकी वजह से वह 13 टेस्ट और 70 वनडे ही खेल पाए हैं। मुनाफ पटेल ने अपना आखिरी इंटरनेशनल मैच साल 2011 में खेला था। मुनाफ पटेल ने कहा, ‘मुझे कोई मलाल नहीं है क्योंकि जिन क्रिकेटरों के साथ मैंने खेला, वो सभी संन्यास ले चुके हैं। सिर्फ धोनी खेल रहा है, बाकी सब डन हो चुके हैं। इसलिए कोई गम नहीं है।’

मुनाफ पटेल ने आगे कहा, ‘सभी का समय खत्म हो चुका है। गम होता जब सारे खेल रहे होते और मैं रिटायर कर रहा होता। संन्यास का कोई विशेष कारण नहीं है। उम्र हो चुकी है, फिटनेस पहली जैसी नहीं। युवा अपने मौकों का इंतजार कर रहे हैं और ऐसे में मेरा खेलना अच्छा नहीं रहेगा। प्रमुख बात यह है कि कोई प्रोत्साहन नहीं बचा है। मैं 2011 विश्व कप विजेता टीम का सदस्य हूं और इससे बड़ी उपलब्धि कुछ और नहीं हो सकती।’

इस मैच के लिए हमेशा याद किया जाएगा मुनाफ पटेल को

 

मुनाफ पटेल को साल 2011 के विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ टाई मैच का आखिरी ओवर करने के लिए याद किया जाएगा। एंड्रयू स्ट्रॉस की नेतृत्व वाली इंग्लैंड की टीम को 14 रनों की दरकार थी। इंग्लैंड ने पहली तीन गेंदों पर 9 रन बना लिए थे और वह जीत की तरफ बढ़ रही थी। अंतिम गेंद पर इंग्लैंड को दो रन की जरूरत थी और मुनाफ ने केवल एक रन देकर मैच टाई करा दिया था।

अपने करियर के दौरान मुनाफ ने बड़ौदा, गुजरात और महाराष्ट्र के लिए खेला। आईपीएल में उन्होंने राजस्थान रॉयल्स, मुंबई इंडियंस और गुजरात लायंस का प्रतिनिधित्व किया। मुनाफ पटेल 69 प्रथम श्रेणी, 140 लिस्ट ए और 97 टी20 मैच के अनुभव के साथ रिटायर हुए।