नायर चमके, अपने घर पर जीती दिल्ली


नई दिल्ली : आखिरकार दिल्ली की गाड़ी पटरी पर लौट ही आई लेकिन सबकुछ लुटाने के बाद। आज डेयरडेविल्स ने पुणे को 7 रन से हराकर एक जोर का झटका दिया। सलामी बल्लेबाज करुण नायर की परिस्थितियों के अनुरूप खेली गई अर्धशतकीय पारी से दिल्ली डेयरडेविल्स ने आईपीएल दस के मैच में आज यहां राइजिंग पुणे सुपरजाइंट के खिलाफ शुरुआती झटकों से उबरकर आठ विकेट पर 168 रन का सम्मानजनक स्कोर बनाया था। पुणे की टीम 7 विकेट पर 171 रन ही बना पाई। दिल्ली ने इस तरह 13 मैचों में अपनी छठी जीत दर्ज की है और उसके अंक 12 हैं जबकि पुणे को 13वें मैच में पराजय से करारा झटका लगा है। दिल्ली की शुरुआत अच्छी नहीं रही लेकिन नायर (45 गेंदों पर 64) ने रिषभ पंत (22 गेंदों पर 36 रन) के साथ तीसरे विकेट के लिये 40 गेंदों पर 74 रन जोड़कर टीम को शुरुआती झटकों से उभारा।

पुणे की तरफ से बेन स्टोक्स और जयदेव उनादकट ने दो-दो विकेट लिये। पुणे का क्षेत्ररक्षण भी अच्छा रहा। दिल्ली तीन विदेशी खिलाडिय़ों के साथ उतरी और उसने टास जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया लेकिन दर्शक अभी सीट संभाल पाते कि उसके दो विकेट निकल गये। संजू सैमसन (तीन) को पहले ओवर में ही बेन स्टोक्स ने सीधे थ्रो पर रन आउट किया। जयदेव उनादकट ने नये बल्लेबाज  अय्यर (तीन) विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के हाथों कैच कराकर स्कोर दो विकेट पर नौ रन कर दिया। पहले तीन ओवरों में एक बार भी गेंद सीमा रेखा तक नहीं गई लेकिन उसके बाद गेंद को बाउंड्री ही पसंद आने लगी। अभी पावरप्ले जारी था लेकिन स्टीवन स्मिथ को इमरान ताहिर की कमी खल रही थी और ऐसे में उन्होंने आफ स्पिनर वाशिंगटन सुंदर को गेंद थमाकर जुआ खेला। उनके इस फैसले से दिल्ली को दबाव से बाहर निकलने में मदद मिली। सुंदर के पहले ओवर में ही 15 रन बने। ताहिर की जगह टीम में लिये लेग स्पिनर एडम जंपा ने हालांकि अच्छी गेंदबाजी की और चार ओवर में 29 रन देकर एक विकेट लिया। नये गेंदबाज स्टोक्स का स्वागत नायर ने तीन चौकों से किया। पंत कहां पीछे रहने वाले थे उन्होंने ठाकुर पर तीन चौके लगाकर दिल्ली का स्कोर पहले छह ओवर में 54 रन तक पहुंचाया। पंत ने सुंदर पर स्क्वायर लेग पर सीधा छक्का लगाया था लेकिन जंपा पर मिडविकेट पर लगाया गया उनका छक्का दर्शनीय था। इसके तुरंत बाद क्षेत्ररक्षण में बदलाव किया गया।

इससे बेपरवाह पंत ने लांग आन पर शाट जमाया लेकिन वह सीधे डेनियल क्रिस्टियन के सुरक्षित हाथों में चला गया। पंत ने चार चौके और दो छक्के लगाये।  इसके बाद अगले दो ओवरों में केवल छह रन गये। सैमुअल्स पर दबाव था लेकिन वह ठाकुर की लगातार गेंदों पर स्क्वायर लेग और साइटस्क्रीन के पास छक्के जडऩे में सफल रहे जिससे 12 ओवर में दिल्ली का स्कोर तिहरे अंक में पहुंचा। धोनी ने हालांकि उछलकर एक हाथ से सैमुअल्स का कैच लेकर स्टेडियम में बैठे हर क्रिकेट प्रेमी को ‘वाह’ कहने के लिये मजबूर कर दिया। धोनी ने इसके बाद विकेट के पीछे अपनी चपलता का शानदार नजारा पेश करके कोरे एंडरसन (तीन) को स्टंप आउट किया। स्टोक्स ने खूबसूरत यार्कर पर पैट कमिन्स के विकेट थर्राकर उन्हें छक्का जडऩे की सजा दी। इस बीच नायर ने 37 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया लेकिन स्टोक्स की गेंद पर उन्होंने हवा में लहराता कैच थमा दिया। नायर ने नौ चौके लगाये। स्टोक्स ने इसके बाद मोहम्मद शमी का सीमा रेखा पर दर्शनीय कैच लिया। दिल्ली में हुए इस मुकाबले को देखने के लिए मानो पूरी दिल्ली उमड़ पड़ी। पुणे की टीम कई मामले में भाग्यशाली रही क्योंकि उसके खिलाडिय़ों के आसान कैच भी छूटे लेकिन मैच देखने के लिए आए दिल्ली वालों के पैसे जरूर पूरे हो गए क्योंकि उनकी घरेलू टीम  जीत गई।